शिक्षा सप्ताह के प्रथम दिन विद्यालयों में दिखा भारी उत्साह

सांसद दुग्गल ने की कुरुक्षेत्र अंतर्राष्टï्रीय गीता जयंती महोत्सव में शिरकत

सिरसा, 8 दिसंबर।

सांसद दुग्गल ने की कुरुक्षेत्र अंतर्राष्टï्रीय गीता जयंती महोत्सव में शिरकत


           सांसद सुनीता दुग्गल ने कुरुक्षेत्र में अंतराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव में शिरकत की और आरती में भाग लिया। इस अवसर पर सांसद ने कहा कि गीता ज्ञान का भंडार है और हर व्यक्ति को गीता का ज्ञान प्राप्त करना चाहिए। गीता का ज्ञान जन-जन तक पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा अंतर्राष्टï्रीय स्तर, राज्य स्तर तथा जिला स्तर पर गीता जयंती महोत्सव मनाया जा रहा है। सांसद ने कहा कि जीवन में कामयाबी के लिए मानव को निस्वार्थ भाव से कार्य करना चाहिए। निस्वार्थ भाव से कार्य करने से ही मनुष्य को आत्मिक संतुष्टिï मिलती है।

सांसद दुग्गल ने की कुरुक्षेत्र अंतर्राष्टï्रीय गीता जयंती महोत्सव में शिरकत


               उन्होंने कहा कि गीता में सभी समस्याओं का समाधान है, आज की युवा पीढी को अपने सुखद भविष्य के लिए गीता ज्ञान को समझते हुए समाज को नई दिशा देने में अपनी ऊर्जा लगानी चाहिए। जब-जब इस धरती पर अधर्म बढ़ा है, तब-तब इस धरती पर भगवान ने किसी न किसी रूप में अवतार लिया है। गीता एक धार्मिक ग्रंथ होने के साथ-साथ एक जीवन दर्शन है, जिसको अपनाकर कोई भी राष्ट्र अपना विकास कर सकता है। उन्होंने कहा कि संसार की सभी समस्याओं का हल इसी अदभुत ग्रंथ में है। गीता महोत्सव से सभी युवा पीढ़ी को प्रेरणा लेकर संस्कारमयी शिक्षा लेनी चाहिए ताकि भविष्य में सभी सत्य के मार्ग पर चलते हुए सभ्य समाज की स्थापना कर सके। सभी को गीता के सिद्घांतों को अपने जीवन में अपनाना चाहिए। गीता जीवन के लिए एक पे्ररणा स्त्रोत है, जिसका अनुसरण करके इंसान भली प्रकार से अपना जीवन यापन कर सकता है। गीता का सार है कि कर्म करो, फल की इच्छा मत रखो। भगवान श्रीकृष्ण ने गीता का अमर संदेश देकर समस्त मानव जाति को जीवन जीने की राह दी है।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!