विकास के मामले में रानियां बन रहा अग्रणी हलका : रणजीत सिंह

शस्त्र विक्रेता रात को भी रखें दुकान की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता : एसडीएम

सिरसा, 11 अप्रैल।

– अपने नजदीकी थाना व शस्त्र विक्रेता के पास जमा करवाएं शस्त्र

– लोकसभा चुनाव को लेकर एसडीएम वीरेंद्र चौधरी ने ली शस्त्र विक्रेताओं की बैठक

लोकसभा आम चुनाव 2019 को शांतिपूर्वक, निष्पक्ष रूप से सम्पन्न करवाने के मदद्ïेनजर चुनाव आचार संहिता की अनुपालना को सुनिश्चित करने के लिए आज उपमंडल अधिकारी ना. वीरेंद्र चौधरी ने अपने कार्यालय कक्ष में सिरसा विधानसभा क्षेत्र के अस्त्र-शस्त्र विक्रेताओं की बैठक ली। बैठक में शस्त्र विक्रेताओं को दुकानों में सीसीटीवी कैमरे व अन्य सुरक्षा के दृष्टिïगत व्यवस्थाओं को पुख्ता करने के निर्देश दिए गए।

उपमंडलाधीश ने कहा कि लोकसभा आम चुनाव की घोषणा के साथ ही चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है। उन्होंने सभी अस्त्र-शस्त्र विक्रेताओं से कहा कि वे अपनी दुकानों में सीसीटीवी कैमरा लगाना सुनिश्चित करें, ताकि हर प्रकार की गतिविधि पर कड़ी निगरानी रखी जा सके। इसके अलावा कैमरों में रिकॉर्डिंग को सहज कर रखें, जिसे आवश्यकता पडऩे पर उपलब्ध करवाया जा सके। उन्होंने कहा कि दुकान की सुरक्षा पुख्ता हो इसके लिए रात्रि को भी गार्द की व्यवस्था करें। 

उन्होंने कहा कि जिन्होंने अभी तक अपने शस्त्र जमा नहीं करवाए हैं, वो अपने अस्त्र-शस्त्र अपने नजदीकी थाना या शस्त्र विक्रेता के पास जमा करवा दें। इसके लिए उन्होंने बीडीपीओ से कहा कि गांवों में शस्त्र जमा करवाने के लिए मुनादी करवाएं। उन्होंने कहा कि शस्त्र विक्रेता उनके पास जमा होने वाले शस्त्रों की सूची बनाएं और इसकी एक प्रति पुलिस अधीक्षक कार्यालय में भी भिजवाते रहें। 

उन्होंने कहा कि लोकसभा आम चुनाव 2019 को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न करवाने के लिए आदर्श आचार संहिता लागू की गई है। चुनाव के दौरान किसी प्रकार की कोई घटना न हो इसलिए सभी नागरिकों का यह कर्तव्य बनता है कि वे आचार संहिता की पालना करना सुनिश्चित करें। उन्होंने आमजन से अपील करते हुए कहा कि जिन शस्त्र लाईसैंस धारकों ने अभी भी अपने शस्त्र जमा नहीं करवाए हैं वे जल्द से जल्द अपने शस्त्र नजदीकी थाना या मंजूरशुदा आर्म डिलर के पास जमा करवाएं।

इस बैठक में डीएसपी हैडक्वार्टर आर्यन सहित सिरसा विधानसभा क्षेत्र के सिरसा गन हाउस, किसान गन हाउस, भारत गन हाउस, अमित गन हाउस, सुभाष गन हाउस, सेठी गन हाउस, बालाजी गन हाउस, महक गन हाउस, राजीव गन हाउस, रवि गन हाउस, चंदन गन हाउस, हरभजन गन हाउस से अस्त्र-शस्त्र विक्रेता, लेखाकार मक्खन सिंह, आईसीए कृष्ण कुमार, डीसी ऑफिस से राकेश मौजूद थे।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply