मतदाता पहचान पत्र के साथ आधार नंबर जोड़ने की कार्यवाही शुरू, मतदाता सूचियों के नए फार्म भी हुए लागू

शनिवार का कारक शनि है, विशेष रूप से इस दिन ऐसे कामों से बचना चाहिए

ज्योतिष में शनि को न्यायाधीश माना गया है।

ये ग्रह हमारे कर्मों का फल प्रदान करता है।

शनि की पूजा करने से आपके सभी कष्ट दूर होंगे।

जिन लोगों के कर्म गलत होते हैं, उनके लिए शनि अशुभ हो जाता है।

शनि के अशुभ होने से किसी भी काम में आसानी से सफलता नहीं मिल पाती है, साथ ही घर-परिवार में परेशानियां बढ़ सकती हैं।

शनिवार का कारक शनि है और विशेष रूप से इस दिन ऐसे कामों से बचना चाहिए, जिनसे कुंडली में शनि अशुभ हो सकता है।

हनुमान के मंदिर में सरसों के तेल का दीपक जलाएं।

अगर आप पर शनि की अशुभ दशा चल रही है तो मांस और मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए।

शनिदेव गरीबों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इस कारण जो लोग गरीबों का अपमान करते हैं, गरीबों को परेशान करते हैं, शनि उनके जीवन में परेशानियां बढ़ा देता है।

शनिवार को घर में लोहा या लोहे से बनी चीज लेकर नहीं आना चाहिए। इस दिन लोहे की चीजों का दान करना चाहिए।

शनिदेव के लिए काले तिल का दान करें।

शनिवार को पीपल की पूजा करनी चाहिए।

पूजा के बाद सात परिक्रमा करें।

शनिवार को जूते-चप्पल का दान किसी गरीब को करेंगे तो शनि के दोष दूर हो सकते हैं।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply