*MCC organizes special workshop for students on World Paper Bag Day*

राजकीय महाविद्यालय कालका में नशा मुक्ति जागरूकता सेमिनार का सफल आयोजन

विद्यार्थियों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से दिया नशे से दूर रहने का संदेश

For Detailed

पंचकूला मार्च 10: राजकीय महाविद्यालय कालका की प्राचार्या प्रोमिला मलिक के कुशल नेतृत्व में महाविद्यालय की युवा रेड क्रॉस सोसायटी और जिला रेड क्रॉस शाखा, पंचकूला के सहयोग से एक दिवसीय नशा मुक्ति जागरूकता सेमिनार का सफल आयोजन किया गया।
प्रस्तुत सेमिनार भारतीय रेड क्रॉस समिति, हरियाणा राज्य शाखा, चंडीगढ़ के सौजन्य से आयोजित किया गया। वरिष्ठ प्रोफेसर डॉक्टर गुलशन ने जिला रेड क्रॉस सोसायटी की सेक्रेटरी श्रीमती सविता अग्रवाल और हरियाणा रेड क्रॉस सोसाइटी, चंडीगढ़, स्टेट प्रशिक्षण सुपरवाइजर हरियाणा श्री रमेश चौधरी का हार्दिक स्वागत किया।


प्रोफेसर डॉक्टर गुलशन ने कहा कि नशा समाज को विनाश की तरफ ले जा रहा है युवा वर्ग को जागरूक होने की आवश्यकता है। स्टेट ट्रेनिंग सुपरवाइजर रमेश चौधरी ने नशा मुक्ति विषय पर युवाओं से अपनी जानकारी साझा की और कहा कि युवा वर्ग को विद्यार्थी स्तर पर ही नशे के दुरुपयोग की जानकारी दी जाए ताकि इस भयंकर बीमारी से बचा जा सके। नशे की वजह से ही नशे का आदि युवा स्वयं परिवार व समाज को नरक की तरफ धकेल रहा है। उन्होंने सभी से आह्वान किया कि भारत को नशा मुक्त बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें। हमें अपने समाज में अपने से जुड़े नशे के लोगों को नशा न करने के लिए प्रेरित करना चाहिए।
मुख्य वक्ता डॉक्टर सरनीत चोपड़ा, मनोवैज्ञानिक ने विद्यार्थियों को बड़े दिलचस्प तरीके से नशे से दूर रहने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने बताया कि नशा करने वाले व्यक्ति के साथ इसका दुष्प्रभाव पूरे समाज पर पड़ता है। युवाओं को मानसिक और शारीरिक रूप से अपने आप को सशक्त बनाना चाहिए। नशा मुक्त समाज की स्थापना के लिए हम सभी को मिलकर कदम उठाने चाहिए तभी यह मुहिम सार्थक होगी। उन्होंने नशे के विभिन्न प्रकारों की भी जानकारी दी और उसे दूर रहने को कहा।


जिला प्रशिक्षण अधिकारी, पंचकूला श्री गंभीर ने कार्यक्रम को सफल बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। प्रस्तुत कार्यक्रम युवा रेड क्रॉस सोसाइटी की प्रभारी प्रोफेसर नीतू चौधरी और सदस्य प्रोफेसर स्वाति, डॉ गीता, असिस्टेंट प्रोफेसर सविता के मार्गदर्शन और दिशा निर्देशन में किया गया।
सेमिनार के अंतर्गत विद्यार्थियों ने नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत करके नशे से दूर रहने का संदेश दिया। कार्यक्रम में पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया जिस में प्रथम पुरस्कार बीकॉम फाइनल की जसप्रीत ने हासिल किया । द्वितीय पुरस्कार बीए प्रथम वर्ष की शबाना और तृतीय पुरस्कार बी ए प्रथम वर्ष की लक्ष्मी ने हासिल किया।


निर्णायक मंडल के सदस्य प्रोफेसर डॉक्टर बिंदु और लेफ्टिनेंट यशवीर रहे। कार्यक्रम में युवा रेड क्रॉस स्वयंसेवकों, राष्ट्रीय सेवा योजना स्वयंसेवकों और एनसीसी कैडेट्स ने भाग लिया। एनसीसी अधिकारी लेफ्टिनेंट यशवीर ,लेफ्टिनेंट गुरप्रीत एनएसएस अधिकारी डॉ सरिता और प्रोफेसर सोनू ने विद्यार्थियों को कैंप में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित और प्रेरित किया। कार्यक्रम में विद्यार्थियों ने नशा मुक्ति जागरूकता पर अपनी कविता भी प्रस्तुत की। कार्यक्रम के अंत में सभी ने संकल्प लिया कि हम अपने देश को नशा मुक्त करने के लिए अपनी क्षमता अनुसार हर संभव प्रयास करेंगे।

https://propertyliquid.com