Water Supply Shut Down on 2nd December

मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजीव रंजन ने वीडियो कॉफ्रेंस से की सभी जिला के चुनाव संबंधी प्रबंधों की समीक्षा, अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

सिरसा, 9 अप्रैल।


  • किसी भी पात्र व्यक्ति का नाम मतदाता सूची में दर्ज होने से वंचित ना रहे : सीईओ
  • शस्त्र विक्रेताओं व डीलरों के पास उपलब्ध हथियारों के स्टॉक की करें निगरानी
  • सी-विजिल एप पर आई शिकायतों के निपटान में जिला सिरसा प्रशासन का काम रहा अच्छा, सीईओ ने इसमें और सुधार के दिए निर्देश

नये वोट बनाने से संबंधित आए सभी आवेदनों को डिजिटाईज कर उनका जल्दी से निपटान करें। यह सुनिश्चित करें कि किसी भी पात्र व्यक्ति का नाम मतदाता सूची में दर्ज होने से वंचित ना रहे। 

ये निर्देश मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजीव रंजन ने वीडियो कॉन्फ्रेंस से सभी जिलों में चुनाव प्रबंधन की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को संबोधित करते हुए दिए। इस दौरान उन्होंने सी-विजिल एप पर आई शिकायतों के निपटान में सिरसा जिला प्रशासन की सराहना भी की।

सीईओ राजीव रंजन ने कहा कि लोकसभा आम चुनाव-2019 में शतप्रतिशत मतदान का लक्ष्य रखा गया है। किसी भी पात्र व्यक्ति का नाम मतदाता सूची में दर्ज होने से ना छूटे। नये वोट से संबंधित आवेदनों की जितनी भी पैंडिसी है, उसे जल्द से जल्द पूरा करे। उन्होंने कहा कि सभी मतदाता ऑनलाइन चेक करके यह सुनिश्चित कर लें कि उनका नाम उनके विधानसभा क्षेत्र की मतदाता सूची में शामिल है। यदि किसी का नाम शामिल नहीं है तो वह अभी भी 12 अप्रैल तक वोट बनवाने के लिए आवेदन कर सकता है।

चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न करवाने के लिए सभी जिलों में उचित प्रबंध किए जाएं। यह सुनिश्चित किया जाए कि चुनाव संपन्न होने तक कोई भी व्यक्ति हथियार लेकर पब्लिक के बीच न जाए। इसी प्रकार जारी किए गए हथियारों को भी निर्धारित समयावधि में जमा करवा लिया जाए। अब तक पूरे प्रदेश में 73 हजार हथियार जमा हो चुके हैं। आपराधिक पृष्ठïभूमि, पिछले चुनाव में दंगा-फसाद करने वाले तथा हिस्ट्रीशिटरों के शस्त्र लाइसेंसों की समीक्षा करें। पेंडिंग वारंट व चालान भी पुलिस के माध्यम से सर्व करवा जाएं। पुलिस की मदद से पिछले लोकसभा चुनाव में चिह्निïत किए गए शरारती तत्वों की सूची बनाकर उनकी गतिविधियों पर नजर रखें। इसी प्रकार सभी जिलों में शस्त्र विक्रेताओं व डीलरों के पास उपलब्ध हथियारों के स्टॉक आदि की भी समीक्षा की जाए।

उन्होंने बताया कि चुनाव कार्य में लगे प्रत्येक व्यक्ति का पहचान पत्र जारी किया जाएगा। बिना पहचान पत्र कोई व्यक्ति इधर से उधर नहीं जा सकेगा। उन्होंने कहा कि सभी कर्मचारियों-अधिकारियों के साथ-साथ चुनाव में लगाए जाने वाले फोटोग्राफरों व वीडियोग्राफरों के भी पहचान पत्र समय पर बनवा लिए जाएं। सीईओ ने यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि चुनाव प्रचार के लिए रैली व जनसभा करने के उपरांत संबंधित राजनीतिक दल व प्रत्याशी द्वारा मैदान की समुचित सफाई करवाकर इसे पूर्व की स्थिति में लाकर छोड़ा जाए। रैली स्थल से झंडे व अन्य बिखरे सामान को उठाने की शर्त प्रत्याशी के अनुमति पत्र में भी शामिल की जाए। उन्होंने कहा कि किसी भी सरकारी भवन में किसी राजनीतिक व्यक्ति का पोस्टर बैनर न लगा हो, सभी जिलों के अधिकारी यह सुनिश्चित कर लें। 

उन्होंने कहा कि प्रत्येक वोटर स्लिप के पीछे मतदान केंद्र की स्थिति को दर्शाता गूगल मैप प्रिंट होगा जिसकी मदद से मतदाता अपने बूथ तक आसानी से पहुंच सके। उन्होंने कहा कि शहरों में प्रत्येक बूथ पर अधिकतम 1400 जबकि ग्रामीण क्षेत्र में 1200 मतदाता ही होंगे ताकि मतदान प्रक्रिया आसानी से संपन्न हो सके। मतदान केंद्र पर महिलाओं व पुरुषों की अलग-अलग लाइन लगवाई जाएं और प्रति एक पुरुष के बाद दो महिलाओं को वोट डालने के लिए मतदान केंद्र के भीतर भेजा जाए। दिव्यांग मतदाताओं की मतदान प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए एनसीसी व एनएसएस के वोलेंटियर्स को लगाया जाए।
 सीईओ राजीव रंजन ने कहा कि सभी जिलों में अधिकारी समाचार पत्रों में प्रकाशित होने वाले प्रतिकूल समाचारों पर नजर रखें और यदि कहीं आचार संहिता के उल्लंघन अथवा पेड न्यूज जैसे मामले सामने आते हैं तो तुरंत प्रभाव से नोटिस जारी किए जाएं। उन्होंने कहा कि सभी सेक्टर ऑफिसर्स व प्रीजाइडिंग ऑफिसर्स को ईवीएम व वीवीपैट मशीनों का समुचित प्रशिक्षण प्रदान किया जाए और उनसे इसके संबंध में प्रमाण पत्र भी लिया जाए। उन्होंने सी विजिल, नियंत्रण कक्ष, टोल फ्री नंबर 1950, ई-मेल तथा अन्य सभी माध्यमों पर आने वाली शिकायतों का तय समय में समाधान करने, नए वोट बनवाने के लिए आने वाले फार्म का निटान करने, वाहन व अन्य सभी प्रकार की अनुमति देने, बसों का प्रबंध करने, कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने, चुनाव चिह्नï प्रदान करने के क्रम, अवैध शराब पर रोक लगाने सहित चुनाव प्रबंधन के विभिन्न पहलुओं पर अधिकारियों को व्यापक दिशा-निर्देश दिए।
 वीडियो कॉन्फ्रेंस में उपायुक्त व जिला निर्वाचन अधिकारी प्रभजोत सिंह, अतिरिक्त उपायुक्त मनदीप कौर, एसडीएम डबवाली ओम प्रकाश, एसडीएम सिरसा वीरेंद्र चौधरी, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी कुलभूषण बंसल, जिला राजस्व अधिकारी राजेंद्र कुमार, डीईटीसी (बिक्रीकर) सत्यबाला, उप निदेशक कृषि बाबूलाल, डीआईओ एनआईसी सुषमा, तहसीलदार चुनाव राम निवास सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply