*MCC organizes special workshop for students on World Paper Bag Day*

महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बरवाला के मदनपुर गाँव में पोषण एवं बेटी बचाओ बेटी पढाओ के लिए लगाया गया जागरूकता कैंप

शिविर में महिलाओं को मुख्यमंत्री मातृत्व सहायता योजना के बारे में दी गई जानकारी

महिलाओ को अनिमिया व पोषण के बारे किया गया जागरूक

For Detailed

पंचकूला, 23 फरवरी- महिला एवं बाल विकास विभाग पंचकूला द्वारा बरवाला के मदनपुर गाँव में पोषण एवं बेटी बचाओ बेटी पढाओ का जागरूकता कैंप लगाया गया। इस अवसर पर जिला संयोजक पोषण मीनू व  जिला सयोजक किरण भाटिया भी उपस्थित थी।

  जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ सविता नेहरा ने बताया कि हरियाणा सरकार ने गर्भवती महिलाओं के लिए एक नई योजना शुरू की है। इस योजना के तहत राज्य की गर्भवती महिलाओं को 5000 की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी। केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना की तर्ज पर सरकार द्वारा मुख्यमंत्री मातृत्व सहायता योजना शुरू की गई है। केंद्र सरकार की योजना के तहत 5000 और राज्य सरकार की योजना के तहत 6000 की सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

    उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री मातृत्व सहायता योजना की खास बात यह है कि दूसरा बच्चा यदि लड़का है तब भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा। इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य की गर्भवती महिलाओं को 5000 की आर्थिक सहायता प्रदान करना है ताकि महिलाएं गर्भावस्था मैं अपने खान-पान का अच्छे से ध्यान रख पाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री मातृत्व सहायता योजना का लाभ पाने के लिए 8 मार्च 2022 या उसके बाद जन्मे लड़के पर महिलाएं इस योजना के लिए आवेदन कर सकती हैं।

     उन्होंने बताया कि हरियाणा के मूल निवासी महिलाएं ही इस योजना का लाभ ले सकती है। अनुसूचित जाति एवं जनजाति की महिलाएं लाभ ले सकती है। आंशिक रूप से 40 प्रतिशत या पूर्ण रूप से दिव्यांग महिला इस योजना का लाभ ले सकती है। बीपीएल राशन कार्ड धारक महिला इस योजना का लाभ ले सकती है। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री योजना की लाभार्थी महिला, ई-श्रम कार्ड धारक महिला व वार्षिक 8 लाख रुपये से कम आय वाली महिलए इस योजना का लाभ ले सकती है। उन्होंने बताया कि इसके लिए परिवार पहचान पत्र, महिला का आधार कार्ड, बैंक खाता संख्या, एमसीपी कार्ड, बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने होंगे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री मातृत्व सहायता योजना के तहत आवेदन कर लाभ प्राप्त करने के लिए जल्द से जल्द अपने निकटतम आगंवाडी कार्यकर्ता से संपर्क करें।  

   कार्यक्रम के अंतर्गत आंगनवाडी केंद्र में महिलाओ को अधिकारी द्वारा  अनिमिया व  पोषण के बारे में पूर्ण जानकारी दी गयी। उन्हें बताया गया की खून की कमी से शरीर में सांस फूलना, थकान होना, दिल की धड़कन तेज आदि दुषप्रभाव का सामना करना पड़ता है। उन्हे समय-समय पर एचबी टेस्ट करवाने व आयरन से भरपूर भोजन लेने के बारे में कहा गया जोकि चकुंदर, पपीता अमरुद आदि फल खाने से मिल सकता  है तथा लोहे की कडाई में खाना बनाने से भी आयरन भरपूर मात्रा में मिलता है। खाने के साथ विटामिन सी का कोई ना कोई स्रोत जरुर लें ।

https://propertyliquid.com