राजकीय बहुतकनीकी नानकपुर में दाखिले  की तिथियों को किया संशोधित

दो से अधिक बूथों पर बनेगा हैल्प डेस्क: उपायुक्त

सिरसा, 25 अप्रैल।

लोकसभा आम चुनाव में मतदाताओं को किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होनी चाहिए, ताकि बिना किसी बाधा के मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सके। बूथ पर शौचालय, पानी व रैंप की सुविधा प्राथमिकता के आधार पर सुनिश्चित हों। 

हर विधानसभा क्षेत्र में पिंक व मॉडल बूथ भी बनाए जाएंगे

ये निर्देश उपायुक्त प्रभजोत सिंह ने आज लघुसचिवालय स्थित वीसी रूम में उपस्थित पीओ व एपीओ की प्रथम रेन्डाइजेशन के अवसर पर उपस्थित सहायक निर्वाचन अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर एसडीएम सिरसा वीरेंद्र चौधरी, एसडीएम ऐलनाबाद अमित कुमार, एसडीएम डबवाली औमप्रकाश, डीआरओ राजेंद्र जांगड़ा, डीडीपीओ कूलभूषण बंसल व चुनाव तहसीलदार रामनिवास जांगड़ा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

उपायुक्त प्रभजोत सिंह ने सहायक निर्वाचन अधिकारियों को बूथों पर सभी सुविधाएं पुख्ता करने के दिए दिशा-निर्देश

जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जिन स्थानों पर एक – दो से अधिक मतदान केन्द्र है ऐसे स्थानों पर मतदाताओं की मदद के लिए हैल्प डेस्क बनाए जाए और संबंधित बीएलओ को लगाया जाए ताकि वह मतदान के लिए आने वाले नागरिकों को उनके बूथ के बारे में जानकारी  दे सके। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग शतप्रतिशत मतदान के लिए गंभीरतापूर्वक प्रयास कर रहा है और इसके लिए अनेकों प्रकार से मतदाता को मतदान के प्रति जागरूक भी किया जा रहा है। इसी कड़ी में बूथों पर सभी आवश्यक सुविधाएं भी शतप्रतिशत मतदान में अहम भूमिका निभाएंगी। इसलिए सभी सहायक निर्वाचन अधिकारी यह सुनिश्चित कर लें कि उनके संबंधित विधानसभा क्षेत्र में बूथों पर चुनाव आयोग की हिदायतोनुरूप सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध रहें, ताकि मतदाता को किसी प्रकार की शिकायत का मौका ना मिले। 

उन्होंने कहा कि बूथ पर शौचालय की सुविधा को प्राथमिकता के आधार लेते हुए इस दिशा में गंभीरतापूर्वक कार्य करें। जिस बूथ पर शौचालय खराब हालत में हैं, उन्हें समय रहते दुरूस्त करवा लें। जहां पर शौचालय नहीं बना हुआ है, वहां पर अस्थाई शौचालय की व्यवस्था इस प्रकार की हो कि महिलाओं को किसी प्रकार की असहजता महसूस ना होने पाए। चुनाव आयोग का प्रयास है कि अबकी बार हर सीनियर सिटीजन व दिव्यांग मतदाता बिना बाधा के अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें। इसलिए सभी सहायक निर्वाचन अधिकारी ये सुनिश्चित करें कि बूथों पर रैंप की व्यवस्था इस प्रकार से हो कि दिव्यांग मतदाता को चढने व उतरने में कोई दिक्कत ना हो। उन्होंने कहा चुनाव पर्यवेक्षक बूथों का निरीक्षण कर सकते हैं, इसलिए सभी सहायक निर्वाचन अधिकारी ये सभी सुविधाओं का बूथों पर होना सुनिश्चित कर लें। 

जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जहां पर भी दो से अधिक बूथ हैं, वहां पर हैल्प डेस्क बनाया जाएगा। हैल्प डेस्क से मतदाता अपने बूथ के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेगा। इसके लिए उन्होंने सहायक निर्वाचन अधिकारियों को ऐसी बूथ लोकेशन को चिन्हित कर इस दिशा मेंं कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मतदान के प्रति लोगों को प्रोत्साहित करने के उद्ेश्य से प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में पिंक व मॉडल बूथ भी बनाए जाएंगे। इसके लिए सभी सहायक निर्वाचन अधिकारी सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण कर लें। उन्होंने कहा कि पिंक बूथ पर सभी कार्य महिला अधिकारी व कर्मचारी करेंगे। पिंक बूथ पर मतदान प्रक्रिया संपन्न कराने से लेकर सुरक्षा तक का जिम्मा महिलाओं पर होगा। उन्होंने पिंक बूथों महिला कर्मचारियों की ड्यूटी इस प्रकार से लगानी हैं, ताकि उन्हें किसी प्रकार की असुविधा ना हो और वो अपने आपको असहज महसूस ना करें।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply