जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा हर घर तिरंगा अभियान के तहत निकाली गई साइकिल रैली

गरीबों को कांग्रेस सरकार ने दिए थे 100-100 गज के प्लाट, भाजपा ने तो 100 स्मार्टसिटी बनाने का वायदा कर लोगों को ठगा, सैलजा ने फिर मोदी सरकार पर किया हमला

कहा सांसद बनी तो सूत के साथ उतारुंगी कर्ज, बाबा साहेब ने दिया था वोट का अधिकार, इस अधिकार के साथ उखाड़ फेंका मोदी सरकार  

अम्बाला। अम्बाला लोकसभा से कांग्रेस प्रत्याशी कुमारी सैलजा ने सोमवार को मुलाना व नारायणगढ़ विधानसभा में आयोजित नौ जनसभाओं में बुनियादी सुविधाओं को लेकर केंद्र व राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला। सैलजा ने कहा कि लोग बुनियादी सुविधाओं को तरस रहे हैं मगर सरकार विकास का ढिंढौरा पीट रही है। इसके लिए उन्होंने सीधेतौर पर भाजपा सांसद रतनलाल कटारिया को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि अगर वह पांच साल में संसदीय क्षेत्र के लिए संजीदगी से काम करते तो शायद विकास के मामले में यह क्षेत्र न पिछड़ता।

कांग्रेस ने दिए 100-100 गज के प्लाट

सोमवार को सैलजा का प्रचार अभियान केसरी के रामलीला ग्राउंड से शुरु हुआ। यहां सैलजा ने जमकर सरकार पर हमला बोला। सैलजा ने कहा कि पीएम मोदी ने पांच साल में 100 स्मार्टसिटी बनाने की घोषणा की थी। मगर अब तक कोई भी सिटी स्मार्ट नहीं बन पाया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने झूठे वायदों से जनता को ठगने का काम किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र व राज्य में दस साल तक कांग्रेस सरकार रही। हर नागरिक का बुनियादी विकास हुआ। गरीब परिवारों को 100-100 गज के प्लाट केवल कांग्रेस सरकार ने ही दिए थे। मगर सत्ता में आने के बाद भाजपा ने गरीब लोगों का दमन शुरु कर दिया। सैलजा ने कहा कि विकास के मामले में गांव पिछड़े हुए हैं। न यहां पेयजल की सुविधा  है न ही चिकित्सा की। सड़कें भी जर्जर हैं।

बाबा साहेब ने दिया वोट का अधिकार

सैलजा ने ग्रामीणों से कहा कि बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेड़कर ही वोट का अधिकार दिया था। उन्होंने कहा कि अब इस अधिकार के इस्तेमाल करने का सही समय आ गया है। उन्होंने कहा कि अपने इस अधिकार से भाजपा सरकार को जड़ से उखाड़ दो। उन्होंने कहा कि इस बार काम की बजाय खुद पीएम मोदी राष्ट्रवाद व सेना के नाम पर वोट मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी देश के पहले ऐसे पीएम हैं  जोकि सेना के नाम पर अपनी कुर्सी बचाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस बार जनता उनकी जुमलेबाजी में फंसने वाली नहीं है। उन्होंने कहा कि संसदीय क्षेत्र से गायब रहने वाले भाजपा सांसद रतनलाल कटारिया को लोग सबक सिखाने का मन बना चुके हैं।

काम किया होता तो ऐसे विरोध न होता

अम्बाला संसदीय सीट से तीसरी बार मैदान में उतरी सैलजा ने कहा कि उन्होंने दस साल तक केंद्रीय मंत्री रहते हुए लोकसभा के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी। हजारों करोड़ की बड़ी योजनाएं वे केंद्र सरकार से लेकर आई थी। पर यूपीए सरकार के जाते ही भाजपा ने सभी योजनाओं पर ब्रेक लगवा दी। जो योजनाएं पूरी हुई उनका श्रेय भी भाजपा सांसद खुद ले रहे हैं। सैलजा ने कहा कि अगर भाजपा व उसके सांसद ने क्षेत्र के लिए काम किया होता तो शायद उन्हें हर जगह तीखे विरोध का सामना न करना पड़ता। सैलजा ने कहा कि खुद भाजपा कार्यकर्ताओं को ही अपने सांसद की तलाश के लिए गुमशुदगी के पोस्टर लगाने पड़े थे।

न्याय योजना बदलेगी 25 करोड़ लोगों की तकदीर

हर जनसभा में पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राज्यसभा सांसद कुमारी सैलजा लोगों का न्याय योजना की खूबियों का जोरदार प्रचार कर रही हैं। उन्होंने कहा कि यह वह योजना है जोकि देश के पांच करोड़ परिवार के 25 करोड़ लोगों की तकदीर बदलेगी। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के लिए तो खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने हर नागरिक को 15-15 लाख रुपए देने की बात कही थी। युवाओं से भी हर साल दो करोड़ नौकरियां देने व किसानों का कर्ज माफ करने का वायदा किया था। मगर ये सभी वायदे झूठे निकले। पर कांग्रेस ऐसा कोई वायदा नहीं करेगी जोकि पूरा न हो सके। सत्ता में आते ही पांच करोड़ परिवारों की महिलाओं के खाते में सालाना 72 हजार रुपए जमा करवाएं जाएंगे। खाली पड़े 22 लाख पद भरे जाएंगे। साथ ही किसानों का कर्ज भी माफ किया जाएगा।

हर जगह हुआ भव्य स्वागत

केसरी के रामलीला ग्राउंड से शुरु हुआ सैलजा का प्रचार संभालखा से होता हुआ खान अहमदपुर, बराड़ा, थम्बड़, कसेरला खुर्द, उगाला, तंदवाल होते हुए नारायणगढ़ के रविदास मंदिर तक पहुंचा। हर जगह सैलजा का जोरदार स्वागत किया गया। फूलमालाओं के साथ ढोल की थाप पर ग्रामीणों ने सैलजा को पुरजोर समर्थन देने की बात कही। सैलजा ने भी कहा कि अगर जनता ने उसे सांसद बनाया तो उनका कर्ज सूत के साथ उतारा जाएगा। सोमबार को उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने भी कुमारी सैलजा के लिए जमकर परचार किया।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply