*MCC organizes special workshop for students on World Paper Bag Day*

कृषि विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव और सीएम के प्रधान सचिव ने वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना की करी समीक्षा

आगामी 15 मार्च तक फसल सत्यापन और गिरदावरी के कार्य को पूरा करने के दिए निर्देश

पंचकूला में 58 हजार एकड़ रकबा में फसल, 27350 एकड़ रकबा में फसल पंजीकरण का कार्य पूरा – उपायुक्त

For Detailed

पंचकूला, 29 फरवरी – हरियाणा कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री सुधीर राजपाल मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी उमाशंकर ने चंडीगढ़ से वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना की समीक्षा की।
    बैठक में कृषि निदेशक राजनारायण कौशिक ने आंकड़ों के साथ प्रदेश की जिलावार रिपोर्ट प्रस्तुत की। उन्होंने फसल सत्यापन और गिरदावरी को लेकर 15 मार्च तक सभी उपायुक्तों व कृषि विभाग के अधिकारियों को तय समय सीमा में प्राथमिकता के आधार पर कार्य को पूरा करने के निर्देश दिए।
    उपायुक्त श्री सुशील सारवान ने बताया कि जिला पंचकूला में 58 हजार एकड़ रकबा पर फसल उगाई जाती है। इस रकबा में से 27350 एकड़ रकबा में फसल पंजीकरण का कार्य किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि सत्यापन में 30 एकड़ से ज्यादा रकबा एक किसान के नाम होना, रिकाॅर्ड में मालिक का नाम मिसमैच होना, रजिस्ट्रेशन दूसरी जिले से होना, रकबा व फसल एरिया में मिसमैच होना की कमियां का सत्यापन किया जा रहा हैं।      
      उन्होंने कहा कि इसको तय समय पर निपटाने के लिए कृषि उपनिदेशक को अतिरिक्त स्टाफ रखने के लिए निर्देेश दे दिए गए हैं। इसके अलावा गिरदावरी के कार्य के लिए भी टीमों का गठन करके काम को समय पर पूरा किया जाएगा।


    उन्होंने बताया कि मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना के तहत किसानों को अपनी संपूर्ण फसल का डाटा मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना होता है। रजिस्ट्रेशन करने वाले किसानों को सरकार की योजनाओं का लाभ मिलता है। फसल का ब्योरा पोर्टल पर हो तो किसी भी आपदा में उनके नुकसान की भरपाई भी पहले क्षतिपूर्ति पोर्टल के माध्यम से हुई है और आगे भी ऐसी ही होनी संभावित है।
   उपायुक्त ने बताया कि फसल को अनाज मंडी में खरीदने के लिए पहले पोर्टल पर फसल का रजिस्ट्रेशन देखा जाता है। इसीलिए सभी फसलों का रजिस्ट्रेशन मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर होना सुनिश्चित करें। उन्होंने कृषि उपनिदेशक को निर्देश दिए कि वो फसल सत्यापन व गिरदावरी के कार्य को निर्धारित समय सीमा पर पूरा किया जाए।
   इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त हरीश वशिष्ठ, उप कृषि निदेशक सुरेन्द्र सिंह, जिला राजस्व अधिकारी कुलदीप मलिक समेत अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

https://propertyliquid.com