नगर परिषद सिरसा की मतदाता सूची का हुआ प्रकाशन

ऑल इंडिया काउंसिल फोर टैक्निकल एजुकेशन के चेयरमैन बोले- हमारे स्टूडेंटस हर समस्या को महज 36 घंटों में उसका समाधान देंगे

मोहाली:

ऑल इंडिया काउंसिल फोर टैक्निकल एजुकेशन के चेयरमैन अनिल सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि मैं सारी इंडस्ट्री को खुली चुनौती देता हूँ कि वे अपनी समस्याओं को सामने लेकर आएं, हमारे स्टूडेंट्स महज 36 घंटों में उसका समाधान देंगे।

चंडीगढ़ ग्रुप ऑफ काॅलेज लांडरा में नेशन वाईड स्मार्ट हैकाथाॅन 2019 के फीडबेक सेशन के दौरान संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि अब हमें किसी भी समाधान के लिए जर्मनी, यूएसए या जापान का इंतजार करने की नहीं है। सीजीसी लांडरा को फीडबैक सेशन के लिए चुने गए 8 पेन सेंटर में से एक के रूप में चुना गया।

 टेक्नोलोजी से जुड़ी स्पीच के दौरान एजुकेशन और इंडस्ट्री के बीच के गेप के बारे में बात करते हुए अनिल ने कहा कि अब एआईसीटीई और एमएचआरडी इनोवेशन सेल यूनिवर्सिटी और संस्थानों में हो रही इनोवेशन में तरक्की को देखते हुए उन्हें रैंकिंग दी जाएगी।

उन्होंने यह भी कहा कि जो स्टूडेंट्स सोसाईटी के सामने आ रही प्रोब्ल्मस का सही सोल्यूशन देते हैं उन्हें संस्थान और यूनिवर्सिटी के द्वारा ज्यादा क्रेडिट देना चाहिए।

एमएचआरडी इनोवेशन सेल और एआईसीटीई के द्वारा इस फीडबैक सेशन का आयोजन करने के पीछे कारण पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ के 600 से ज्यादा इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स से सुझाव, मुश्किलें और जरूरी जानकारी को प्राप्त करना था।

कार्यक्रम में स्टूडेंट्स ने 15 प्रोजेक्ट्स का भी प्रदर्शन किया।

सीजीसी लांडरा के चेयरमैन सतनाम सिंह संधू तथा प्रेसीडेंट रशपाल सिंह धालीवाल ने कहा कि अंतर अनुशासनात्मक दृष्टिकोण, कम्यूनिकेशन स्किल्स, टीम वर्क, समस्या का समाधान ढूंढने की क्षमता और लीडरशिप क्वालिटीज विकसित करके शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाना, स्मार्ट इंडिया हैकाथाॅन एक बेहतरीन प्लेटफार्म है जो रिसर्च और इनोवेशन में आपको आगे बढ़ाने का अवसर प्रदान करता है।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply