मतदाता पहचान पत्र के साथ आधार नंबर जोड़ने की कार्यवाही शुरू, मतदाता सूचियों के नए फार्म भी हुए लागू

अंडरपास को लेकर किया रेलवे एडीआरएम ने लितानी रोड फाटक का किया दौरा

जींद:

 उचाना में गत पांच फरवरी से बंद लितानी रोड रेलवे फाटक के 20 मार्च को खुलने के बाद रेलवे के एडीआरएम राजीव धनखड़, डीसी जींद डॉ. आदित्य दहिया ने शुक्रवार को लितानी रोड फाटक का दौरा किया।

इस दौरान एसडीएम प्रद्युमन, बीएंडआर एक्सईएन कमलदीप राणा, नपा सचिव महाबीर सिंह भी मौजूद रहे। यहां पर अंडर पास किस जगह से बने इसको लेकर दोनों अधिकारियों ने दुकानदारों की राय जानी।

एडीआरएम, डीसी ने पहले फाटक के दोनों तरफ जाकर निरीक्षण किया जहां रेलवे द्वारा अंडर पास निर्माण का नक्शा बनाया हुआ था।

फाटक से नरवाना की तरफ रेलवे की जमीन को भी देखा जहां दुकानदारों द्वारा यू आकार का अंडर पास निर्माण करने की मांग की जा रही है।

यहां पर बीएंडआर से पैमाइश करवाने के साथ उनके अधिकारियों की राय को भी जाना। एडीआरएम राजीव धनखड़, डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने कहा कि उनकी कोशिश रहेंगी कि किसी दुकानदार को कोई नुकसान अंडर पास के निर्माण से न हो।

जो दुकानदारों यू आकार का अंडर निर्माण की मांग की है उसको लेकर वो अधिकारियों की राय जानेंगे।

जो भी जानकारी मिलेंगी उस बारे में वो खुद यहां आकर दुकानदारों को बताएंगे उसके बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी।

प्रशासन की कोशिश होगी कि किसी को किसी तरह का कोई नुकसान न हो। 

रामफल श्योकंद, डॉ. जिले सिंह राणा, राजबीर मोर, ओपी गुप्ता, विक्रम चहल, शुगन चंद, अमित थलौड़ ने कहा कि पांच फरवरी से बंद फाटक खुलने के बाद दुकानदारों को उम्मीद हो गई है कि अब उनका रोजगार बच जाएगा।

केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह, विधायक प्रेमलता के प्रयासों से दुकानदार बेघर, बेरोजगार होने से बच गए।

लितानी रोड पर अगर रेलवे के नक्शे के अनुसार अंडर पास बनता तो 500 परिवार बेरोजगार, बेघर हो जाते।

केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह के निर्देश के बाद रेलवे अधिकारियों ने जहां पांच फरवरी से बंद रेलवे फाटक को खोलने का काम किया तो यहां पर नए सिरे से नक्शा बना कर कैसे दुकानदारों को बेरोजगार, बेघर होने से बचाया जा सकें इसको लेकर छह मार्च को निर्देश दिए थे।

रेलवे के पास फाटक की दोनों तरफ पर्याप्त मात्रा में जमीन है जहां पर रेलवे अंडर पास बना सकता है। यहां यू आकार का अंडर पास बनने से किसी को किसी तरह का नुकसान नहीं होगा।

केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह, विधायक प्रेमलता ने उनको बेरोजगार, बेघर होने से बचाने का जो काम किया है उसके लिए फाटक के पास के दुकानदार उनके सदा आभारी रहेंगे। 

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply