Posts

Seminar on Academic writings concluded at PU

जिला स्तरीय यूथ रैडक्रॉस प्रशिक्षण शिविर में 16 महाविद्यालयों के 120 छात्र-छात्राओं व काउंसलर ने लिया भाग

सिरसा, 22 नवंबर।

जिला स्तरीय यूथ रैडक्रॉस प्रशिक्षण शिविर में 16 महाविद्यालयों के 120 छात्र-छात्राओं व काउंसलर ने लिया भाग


              भारतीय रैडक्रॉस सोसायटी की जिला शाखा द्वारा आयोजित किए जा रहे जिला स्तरीय यूथ रैडक्रॉस प्रशिक्षण शिविर के दूसरे दिन राजकीय महिला महाविद्यालय के प्राचार्य डा. तेजा सिंह ने बतौर मुख्य वक्ता शिरकत की।

जिला स्तरीय यूथ रैडक्रॉस प्रशिक्षण शिविर में 16 महाविद्यालयों के 120 छात्र-छात्राओं व काउंसलर ने लिया भाग


                  प्राचार्य डा. तेजा सिंह ने प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित करते हुए रैडक्रॉस के चिन्ह, पर्यावरण, स्वास्थ्य के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि दुनियाभर में रैडक्रॉस चिन्ह जरूरतमंद लोगों के प्रति एक निष्पक्ष और गैर पक्षपातपूर्ण सेवा का प्रतीक रहा है। इस चिन्ह का इस्तेमाल किसी भी दशा में किसी भी तरह के फायदे के उद्देश्य से नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि इस चिन्ह का प्रयोग केवल युद्ध के दौरान घायल सैनिकों को सहायता प्रदान करने के लिए रैडक्रॉस के स्वयंसेवियों द्वारा किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त उन्होंने पर्यावरण को शुद्ध करने के लिए अधिक से अधिक पेड़-पौधे लगाने पर बल दिया तथा युवाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि स्वस्थ्य रहने के लिए फास्ट-फूड का त्याग कर अपने भोजन में हरी सब्जियों का उपयोग अत्यधिक करें।


                  जिला रैडक्रॉस सोसायटी के सचिव लाल बहादुर बैनीवाल ने बताया कि इस शिविर में जिला के 16 महाविद्यालयों से आए हुए 120 छात्र/छात्राएं व काउंसलर भाग ले रहे हैं। जिला रैडक्रॉस सोसायटी सिरसा के जिला प्रशिक्षण अधिकारी  गुरमीत सिंह सैनी द्वारा प्रशिक्षणार्थियों को प्राथमिक सहायता का प्रशिक्षण देकर डैमो के माध्यम से दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति की जान बचाने हेतु एक कुशल प्राथमिक सहायक की समाज में अहम भूमिका पर प्रकाश डालते हुए कहा कि केवल एक प्रशिक्षित कुशल प्राथमिक सहायक ही मौका पडऩे पर आपातकालीन स्थितियों में किसी रोगी/घायल व्यक्ति का जीवन बचाकर पुण्य का भागी बन सकता है जो कि अपने आप में बहुत ही बड़ी उपलब्धि है।

Watch This Video Till End….

Seminar on Academic writings concluded at PU

हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पोर्ट फोलियो के हिसाब से आगामी मंत्री मंडल विस्तार के दौरान जननायक जनता पार्टी से भी एक मंत्री बनाया जाएगा।

सिरसा, 22 नवंबर।

हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पोर्ट फोलियो के हिसाब से आगामी मंत्री मंडल विस्तार के दौरान जननायक जनता पार्टी से भी एक मंत्री बनाया जाएगा।


           हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पोर्ट फोलियो के हिसाब से आगामी मंत्री मंडल विस्तार के दौरान जननायक जनता पार्टी से भी एक मंत्री बनाया जाएगा। इसके अलावा पार्टी के अन्य विधायकों को भी को भी अलग-अलग जिम्मेवारी सौंपी जाएगी, ताकि विकास कार्यों में ओर तेजी लाई जा सके।

हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पोर्ट फोलियो के हिसाब से आगामी मंत्री मंडल विस्तार के दौरान जननायक जनता पार्टी से भी एक मंत्री बनाया जाएगा।


               उप मुख्यमंत्री शुक्रवार को अपने सिरसा निवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अगले दस दिनों के अंदर-अंदर गांव से शराब के ठेके बाहर करने की दिशा में उठाए गए कदमों के परिणाम दिखाई देंगे। उन्होंने कहा कि वायदेे के मुताबिक हमने 50 किलोमीटर के दायरे में एचटैट की परीक्षा का सफल आयोजन करवाया। यह तो महज एक शुरूआतभर है, प्रदेश को विकास के पथ पर ले जाने की दिशा में निरंतर काम किया जाएगा।


               पत्रकारों द्वारा कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बारे पूछे सवाल के जवाब में कहा कि सरकार द्वारा कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत विकासात्मक घोषणाओं को पूरा किया जाएगा। इसके लिए एक कमेटी गठित की गई है जिसमें मंत्री अनिल विज, राज्य मंत्री अनूप धानक व पूर्व तीन विधायक शामिल हैं। कमेटी घोषणाओं के क्रियान्वयन पर विचार करने के साथ-साथ विभिन्न विभागों के साथ बातचीत करके आगे का रोडमैप तैयार करेगी।


उप मुख्यमंत्री ने धान की खरीद पर विपक्षियों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सरकार द्वारा लक्ष्य से अधिक धान की खरीद की गई है। धान खरीद का लक्ष्य 50 लाख टन था, जबकि सरकार द्वारा 63 लाख टन से अधिक की खरीद की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि विपक्षियों को बताना चाहिए वे आखिर वो प्रदेश के बारे में क्या सोच रखते हैं और प्रदेश को कहां ले जाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि कर्ज माफी की योजना बनाई गई है और बहुत से किसानों ने अपना मूल भरकार इसका लाभ भी उठाया है। इसलिए किसानों को चाहिए कि वे अपना मूल भरकर अपने कर्ज माफी करवाएं।


उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के आग्रह पर संविधान दिवस के उपलक्ष्य में हरियाणा विधानसभा में एक विशेष सत्र बुलाया गया है, जिसमें संवैधानिक चीजों पर चर्चा की जाएगी। यह एक सकारात्मक चर्चा होगी और सभी विधायक संवैधानिक पार्टस पर अपने विचार रखेंगे। उप मुख्यमंत्री ने इस दौरान लोगों की समस्याएं भी सुनी और उनके समाधान के लिए मौके पर मौजूद अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए।

Watch This Video Till End….

Seminar on Academic writings concluded at PU

आलू, प्याज, टमाटर व गोभी उगाने वाले किसान ले सकते हैं भावांतर भरपाई योजना का लाभ

सिरसा, 22 नवंबर।


                  प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के हित के लिए भावांतर भरपाई योजना में किन्नू व अमरूद फल तथा सब्जियों में गाजर, मटर, शिमला मिर्च व बैंगन फसलों को नई ओर शामिल की गई है। इससे पहले इस योजना के अंतर्गत केवल आलू, टमाटर, प्याज व गोभी फसलें शामिल थी। अब दो फलों किन्नू व अमरूद और आठ सब्जी फसल आलू, टमाटर, प्याज, गोभी, गाजर, मटर, शिमला मिर्च व बैंगन कुल दस फसलें इस योजना में शामिल हो गई है।


                  उद्यान विकास अधिकारी सतबीर शर्मा ने बताया कि भावांतर भरपाई योजना हरियाणा में 30 दिसंबर 2017 को करनाल जिले के गांव घंग्घर से मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा शुभारम्भ किया गया था। उस समय इस योजना में 4 फसल आलू, टमाटर, प्याज व गोभी को शामिल किया गया था। अब हरियाणा सरकार द्वारा इस योजना में 2 फल किन्नू व अमरूद तथा 4 सब्जी फसल गाजर, मटर, शिमला मिर्च व बैंगन को इस योजना में शामिल किया गया है।

आलू, प्याज, टमाटर व गोभी उगाने वाले किसान ले सकते हैं भावांतर भरपाई योजना का लाभ


                  विभाग द्वारा आलू, गोभी, गाजर, मटर, मटर व किन्नू के लिए 30 नवंबर तथा प्याज, टमाटर के लिए 15 फरवरी 2020, शिमला मिर्च व बैंगन के लिए 15 मार्च 2020 तथा अमरूद के लिए 15 मई 2020 पंजीकरण की अंतिम तिथि है। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा आलू, बैंगन व टमाटर फसल के लिए 500 रूपये प्रति क्विंटल, गोबी के लिए 750, गाजर के लिए 700, मटर व किन्नू के लिए 1100, प्याज के लिए 650, शिमला मिर्च के लिए 900, अमरूद के लिए 1300 रूपये प्रति क्विंटल मूल्य निर्धारित किया गया है।


                  इस स्कीम में किसान स्वंय ऑनलाइन फसलएचआरवाई डॉट इन/मेरी फसल मेरा ब्यौरा पर पंजीकरण करवा सकते हैं। इसके अलावा किसान बागवानी विभाग के जिला व ब्लॉक कार्यालय के साथ-साथ मार्किटिंग बोर्ड के कार्यालय से भी पंजीकरण करवा सकते हैं। उन्होंने बताया कि अभी तक जिला सिरसा में आलू फसल में 161 किसानों ने 664 एकड़ क्षेत्र का पंजीकरण करवा चुकें हैं तथा गोभी फसल में 28 किसानों ने 50 एकड़ क्षेत्र का पंजीकरण करवा चुके हैं। उन्होंने जिला के किसानों से आह्वïान किया है कि वे अधिक से अधिक संख्या में इस योजना के तहत अपनी फसल का पंजीकरण करवाएं तथा योजना का लाभ लें।  

Watch This Video Till End….

Seminar on Academic writings concluded at PU

हिसार में 29 को लगेगी पैंशन अदालत

सिरसा, 22 नवंबर।


                  रक्षा पेंशन भोगियों के पेंशन से संबंधित मामलों के शीघ्र निपटान के लिए रक्षा पेंशन संवितरण कार्यालय हिसार की ओर से 29 नवंबर को लघु रक्षा पेंशन अदालत का आयोजन जवाहर नगर की गली नंबर एक स्थित कार्यालय में आयोजित की जाएगी।


                  रक्षा पेंशन संवितरण कार्यालय प्रवक्ता ने बताया कि 29 नवंबर को कार्यालय में सुबह 10 से शाम 5 बजे तक लघु रक्षा पेंशन अदालत का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि पेंशन अदालत में केवल नियमानुसार देय पेंशन से संबंधित मामलों व निवेदनों पर ही विचार किया जाएगा। विधिक व नीति निर्धारण से संबंधित मामले विचारणीय नहीं होंगे। उन्होंने रक्षा पेंशनभोगियों से आह्वान किया कि वे अपनी पेंशन संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए इस आयोजन का अधिक से अधिक लाभ उठाएं।

Watch This Video Till End….

Seminar on Academic writings concluded at PU

अगले सीजन के लिए अभी से बनाएं लॉग टर्म प्लान : मुख्य सचिव

सिरसा, 22 नवंबर।

अगले सीजन के लिए अभी से बनाएं लॉग टर्म प्लान : मुख्य सचिव


              पराली जलाने की घटनाओं पर पूर्ण रोक व इसके संपूर्ण प्रबंधन के लिए आगामी सीजन के लिए अधिकारी अभी से लॉग टर्म प्लान की तैयारी में जुट जाएं, ताकि अगली बार पराली जलाने की एक भी घटना ना हो सके।

अगले सीजन के लिए अभी से बनाएं लॉग टर्म प्लान : मुख्य सचिव


                  ये निर्देश हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा ने आज वीडियो कॉफ्रेंस के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जिलों के उपायुक्तों से फसल अवशेष आगजनी व पराली प्रबंधन कार्य की समीक्षा करने के दौरान कही। उन्होंने इन सीटू मैनेजमेंट, एक्स सीटू मैनेजमेंट, आगजनी के मामलों, फसल अवशेष प्रबंधन कर रहे किसानों को एक हजार रुपये अदायगी आदि बिंदुओं पर विस्तारपूर्वक समीक्षा की। उन्होंने सभी उपायुक्तों को निर्देश दिए कि अगले फसल कटाई सीजन के लिए लॉग टर्म प्लान बनाएं, इसके लिए एक राज्य स्तरीय योजना भी बनाई जाएगी ताकि पराली जलाने पर पूर्णत: लगाम लगाई जा सके।

अगले सीजन के लिए अभी से बनाएं लॉग टर्म प्लान : मुख्य सचिव


                  वीडियो कॉफ्रेंस में उपायुक्त अशोक कुमार गर्ग ने बताया कि जिला में 2250 एकड़ एक्स सीटू मैनेजमेंट हो चुका है जिसमें से 343 एकड़ की वैरिफिकेशन की जा चुकी है। इसके अलावा 10540 एकड़ इन सीटू मैनेजमेंट हो चुका है जिसमें से 1243 एकड़ की वैरिफिकेशन की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि फसल अवशेष प्रबंधन करने वाले छोटे व सीमांत किसानों के खाते में जल्द ही एक हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से अदायगी की जाएगी। उन्होंने बताया कि अब तक पराली जलाने वाले 48 व्यक्तियों पर एफआईआर दर्ज की जा चुकी है तथा 5 लाख 22 हजार 500 रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। जिला में इस समय 102 स्ट्रा बेलर पराली की गांठे बनाने में लगे हुए हैं जिसमें से 71 सब्सिडी पर दिए गए हैं तथा 15 पंचायती शामिल हैं।


                  सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक समीर पाल सरो ने वीडियो कॉफ्रेंस में जानकारी देते हुए बताया कि 30 नवंबर से 10 दिसंबर तक गीता जयंति महोत्सव मनाया जाएगा। इसके लिए होर्डिंग्ज व अन्य प्रचार सामग्री को लगाया जा रहा है, ताकि अधिक से अधिक लोगों तक महोत्सव के आयोजन संदेश को पहुंचाया जा सके। जिला में भी गीता जयंति महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे समय रहते गीता महोत्सव से संबंधित तैयारियों को अभी से मूर्तरूप देना शुरू कर दें, ताकि गीता जयंति महोत्सव का भव्य तरीके से आयोजन किया जा सके।


                  वीडियो कॉफ्रेंस सिरसा कक्ष में एसडीएम सिरसा जयवीर यादव, एसडीएम कालांवाली निर्मल नागर, एसडीएम डबवाली डा. विनेश कुमार, एसडीएम ऐलनाबाद संयम गर्ग, जिला न्यायवादी दीपक लेगा, डीएसपी राजेश कुमार, क्वालिटी कंट्रोल ऑफिसर सुखदेव, सहायक कृषि अभियंता जसविंद्र सिंह चौहान सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

Watch This Video Till End….

Seminar on Academic writings concluded at PU

रानियां में काम की नहीं रहने दूंगा कमी : रणजीत सिंह

सिरसा, 21 नवंबर।

रानियां में काम की नहीं रहने दूंगा कमी : रणजीत सिंह

हरियाणा के बिजली मंत्री चौधरी रणजीत सिंह ने किया रानियां शहर में धन्यवादी दौरा, लोगों ने किया जोरदार स्वागत


लोगों ने जिस भरोसे व विश्वास के साथ मुझे भारी समर्थन से जीत दिलाकर इस मुकाम तक पहुंचाने का काम किया है। मैं उस भरोसे व विश्वास पर खरा उतरने का काम करूंगा और रानियां में किसी भी काम की कमी नहीं रहने दी जाएगी।


यह बात हरियाणा के बिजली मंत्री चौधरी रणजीत सिंह ने रानियां शहर में अपने धन्यवादी दौरे के दौरान लोगों का आभार व्यक्त करने के दौरान कही। मंत्री का रानियां शहर में जगह-जगह स्वागत के लिए लोगों में विशेष उत्साह रहा और मंत्री ने भी उत्साहित लोगों का तहदिल से उन्हें भारी समर्थन के साथ जीत दिलाने के लिए धन्यवाद किया।


उन्होंने कहा कि कई सालों से सरकार में न होने के कारण काम नहीं हो सके थे, जिससे शहर में विकास कार्य भी नहीं हो पाए थे, लेकिन अब सरकार में हिस्सेदारी हो गई तो काम की कोई कमी नहीं रहने दूंगा। मुख्यमंत्री ने जिस भरोसे के साथ पावर फुल महकमें की बागडोर मुझे दी है, उस पर खरा उतरते हुए विभाग के माध्यम से विकास कार्यों की झड़ी लगा दूंगा। उन्होंने कहा कि शहर में जितनी भी सड़कें जो खराब हैं या नई सड़के बनाए जाने जरूरत है उन्हें प्राथमिकता के आधार पर बनवाया व मरम्मत करवाई जाएगी। जो कार्य बिजली विभाग के माध्यम से होने हैं, उन्हें तो हाथों हाथ पूरा करवाया जाएगा। शहर की सड़कों पर स्ट्रीट लाईटें लगवाई जाएंगी। इसके अलावा शहर के किसी वार्ड या मोहल्ले में भी यदि बिजली या लाईट की समस्या है उसे भी तुरंत प्रभाव से करवाया जाएगा।


उन्होंने कहा कि अधिकारियों को विशेष हिदायत दी गई है कि लोगों को बिजली के मामले में कोई दिक्कत नहीं आनी चाहिए। यदि कोई आधी रात को भी बिजली समस्या को लेकर शिकायत करेगा तो संबंधित कर्मचारी उसे सुनेगा, इस संबंध में विशेष निर्देश दिए गए हैं। चौधरी रणजीत सिंह ने कहा कि आप लोगों का जो काम था वो आप ने कर दिया। अब मेरा काम है, इसलिए शहर में जो भी समस्या या डिमांग है, उसे मेरे पास लेकर आओ उसे जल्द से जल्द पूरा करवाऊंगा।



Watch This Video Till End….

Seminar on Academic writings concluded at PU

एनएपीएस कार्यक्रम के तहत 10 प्रतिशत प्रशिक्षु लगाएं सभी विभाग : डीसी अशोक गर्ग

सिरसा, 21 नवंबर।

एनएपीएस कार्यक्रम के तहत 10 प्रतिशत प्रशिक्षु लगाएं सभी विभाग : डीसी अशोक गर्ग

डीसी ने राष्ट्रीय शिक्षुता प्रोत्साहन योजना के तहत की जिला में प्रगति की समीक्षा


                उपायुक्त अशोक कुमार गर्ग की अध्यक्षता में गुरूवार को स्थानीय लघु सचिवालय के बैठक कक्ष में जिला शिक्षुता कमेटी की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में उपायुक्त ने शिक्षुता अधिनियम के बारे में जरूरी निर्देश दिए तथा प्रगति की समीक्षा की।


                उपायुक्त ने बताया कि शिक्षुता अधिनियम-1961 की हिदायतों अनुसार सरकारी संस्थानों में कुल कर्मचारियों का 10 प्रतिशत व निजी प्रतिष्ठïानों में 2.5 प्रतिशत प्रशिक्षु लगाना अनिवार्य है। नए नियमों के अनुसार विभाग व निजी प्रतिष्ठïान 15 प्रतिशत तक प्रशिक्षु लगा सकते हैं, जिसमें 5 प्रशिक्षण सीटें फ्रेशर व स्किल सर्टिफिकेट होल्डर प्रशिक्षुओं के लिए रिजर्व रखी जा सकती है। उन्होंने बताया कि जिन प्रतिष्ठानों द्वारा अभी तक पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन नहीं किया गया है उन्हें पोर्टल तुरंत पंजीकृत करवाने बारे निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन विभागों की प्रोफाईल लॉगइन की समस्या आ रही है वे तुरंत आईटीआई से सम्पर्क करके अपना अकाउंट पुन: शुरु करवाएं। उन्होंने कहा कि एनएपीएस कार्यक्रम के तहत लंबित रिइंबर्समेंट क्लेम फार्म भरकर सहायक शिक्षुता सलाहकार को भिजवाएं। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे प्राईवेट प्रतिष्ठïानों से सम्पर्क कर लक्ष्य को पूरा करवाएं। उन्होंने बताया कि हाल ही में आईटीआई पास आउट बच्चे विभिन्न विभागों में ऑनलाइन के माध्यम से प्रशिक्षु प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए आवेदन कर सकते हैं।

एनएपीएस कार्यक्रम के तहत 10 प्रतिशत प्रशिक्षु लगाएं सभी विभाग : डीसी अशोक गर्ग


                प्लेस्मेंट ऑफिसर प्रदीप कुमार भुक्कर ने सभी उपस्थित विभागाध्यक्षों को शिक्षुता अधिनियम 1961 व एनएपीएस योजना के बारे में पीपीटी के माध्यम से विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 110वीं ऑल इंडिया ट्रेड टैस्ट का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने सभी विभागाध्यक्षों से कहा कि वे एक्टिविटी शैड्यूल के अनुसार परीक्षा संबंधित कार्रवाई समय रहते पूर्ण करवाएं। उन्होंने कहा कि प्रायोगिक परीक्षा व इंजीनियरिंग ड्राईंग की परीक्षा अपने स्तर पर 30 नवंबर 2019 से पहले पूर्ण करवाएं। इसके अलावा प्रशिक्षु लगे प्रशिक्षार्थियों को स्टाईफंड राशि प्रशिक्षु अधिनियम 1961 व नियम 1992 में किए गए संशोधन अनुसार दिया जाए।


                बैठक में अधीक्षण अभियंता जनस्वास्थ्य विभाग आरके शर्मा, प्राचार्य आईटीआई लालचंद रिवाडिय़ा सहित अन्य विभागों के नोडल अधिकारी मौजूद थे।

Watch This Video Till End….

Seminar on Academic writings concluded at PU

पोषण अभियान के तहत डिस्ट्रिक रिर्सोस ग्रुप को इनकरिमंटल लर्निंग अप्रोच प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित

सिरसा 21 नवंबर।

पोषण अभियान के तहत डिस्ट्रिक रिर्सोस ग्रुप को इनकरिमंटल लर्निंग अप्रोच प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित


                   महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा गुरूवार को स्थानीय जिला कार्यालय में पोषण अभियान के तहत डिस्ट्रिक रिर्सोस ग्रुप को इनकरिमंटल लर्निंग अप्रोच विषय पर प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला कार्यक्रम अधिकारी डा. दर्शना सिंह ने की।

पोषण अभियान के तहत डिस्ट्रिक रिर्सोस ग्रुप को इनकरिमंटल लर्निंग अप्रोच प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित


                   डा. दर्शना सिंह ने बताया कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य गांव स्तर पर आंगनवाडी वर्कर व आगनवाड़ी हैल्पर द्वारा लोगों को जागरूक करना है। पोषण अभियान का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं, माताओं, बच्चों के पोषण की आवश्यकताओं को पूरा करना तथा मातृृ मृृत्यु दर व शिशु मृत्यु दर में कमी लाना है। उन्होंने दो दिवसीय डीआरजी प्रशिक्षण के दौरान पोषण अभियान के तहत पोषण की कमी को दूर करने के लिए संतुलित आहार लेने पर बल दिया गया। साथ ही प्रशिक्षणार्थियों को हमारी रसोई घर में मौजूद पोष्टिïक आहारों के बारे में बताया गया।


                   प्रशिक्षण कार्यक्रम में डा. बालेश ने 108 नम्बर पर कोलिंग की सुविधा के बारे में बताया गया। इस सुविधा के अंतर्गत किसी भी गर्भवती महिला को डिलीवरी के लिए अथवा 0 से 5 वर्ष के बच्चे के बीमार होने पर 108 नम्बर पर एम्बुलेस सेवा का लाभ लिया जा सकता है। इस ट्रेनिंग में सभी खण्डों की महिला एवं बाल विकास परियेाजना अधिकारी व सुपरवाईजर, स्वास्थ्य विभाग से शांति देवी, आंगनवाडी ट्रेनिंग सेंटर की प्रशिक्षिका शांति देवी, जिला समन्वयक पोषण अभियान व डिस्ट्रिकट प्रोजक्ट असिस्टेंट व खंड समन्वयक व खंडों के सहायक भी उपस्थित थे।

Watch This Video Till End….

Seminar on Academic writings concluded at PU

जिला स्तरीय यूथ रैडक्रॉस प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

सिरसा 21 नवम्बर।

जिला स्तरीय यूथ रैडक्रॉस प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

युवा समाज के बीच में रहकर दूसरों की सेवा कर रख सकते हैं मानवता को बरकरार : डा. विजय कायत


               भारतीय रैडक्रॉस सोसायटी की जिला शाखा द्वारा गुरूवार को नैशनल कॉलेज ऑफ एजुकेशन में जिला स्तरीय यूथ रैडक्रॉस प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। शिविर का शुभारंभ चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विजय कायत ने किया।


                   कुलपति प्रो. विजय कायत ने रैडक्रॉस के जन्मदाता ‘सर जीन् हैनरी ड्यूनाÓ को माल्यार्पण कर शिविर का शुभारंभ किया। उन्होंने उपस्थित काउंसलरों तथा युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि भारत का निर्माता युवा वर्ग ही है तथा युवा वर्ग को तराशने के लिए इस शिविर का आयोजन किया है। उन्होंने कहा कि मानवता की सेवा ही सबसे बड़ी सेवा है तथा युवा समाज के बीच में रहकर दूसरों की सेवा कर इस मानवता को बरकरार रखते हुए अपनी एक अहम भूमिका निभा सकते हैं। युवा वर्ग इस शिविर के द्वारा सामाजिक कुरीतियों को दूर करके अपना कर्तव्य निर्वहन करके एक अच्छे स्वयंसेवी की भूमिका निभाएं।


                   यूथ रैडक्रॉस विंग के युवा समन्वयक डा. विष्णु भगवान ने शिविर में उपस्थित प्रतिभागियों से कहा कि इस शिविर का मुख्य उद्देश्य स्वास्थ्य, सेवा व मित्रता को परस्पर बढ़ावा देना है जिससे युवा वर्ग प्रेरित होकर अपने गांव, कस्बे, शहर को साफ सुथरा रखकर एक अच्छे स्वयंसेवी का फर्ज निभा सकता है। जिला रैडक्रॉस सोसायटी के जिला प्रशिक्षण अधिकारी गुरमीत सिंह सैनी द्वारा प्रशिक्षणार्थियों को बताया कि इस पंाच दिवसीय शिविर में भिन्न-भिन्न प्रतियोगिताएं जैसे भाषण प्रतियोगिता, सांस्कृतिक नृत्य प्रतियोगिता, प्रश्नोत्तर प्रतियोगिता आदि आयोजित करवाई जाएंगी तथा विजेताओं को पुरस्कृत भी किया जाएगा। प्रतिभागियों के लिए हैल्थ चैकअप शिविर का भी आयोजन किया जाएगा। उन्होंने प्रतिभागियों को रैडक्रॉस के इतिहास के बारे में भी जानकारी प्रदान की।

जिला स्तरीय यूथ रैडक्रॉस प्रशिक्षण शिविर का आयोजन


                   जिला रैडक्रॉस सोसायटी के सचिव लाल बहादुर ने बताया कि ‘यूथ रैडक्रॉस प्रशिक्षण शिविरÓ 21 नवम्बर से 25 नवम्बर, 2019 तक आयोजित किया जाएगा। इस शिविर में जिला सिरसा के 16 महाविद्यालयों से आए हुए 120 छात्र/छात्राएं व काउंसलर उपस्थित हुए। शिविर का मंच संचालन नैशनल कॉलेज ऑफ एजुकेशन, सिरसा के सहायक प्रोफैसर संदीप शर्मा ने किया।


                   इस अवसर पर सिरसा एजुकेशन सोसायटी सिरसा के प्रधान अरविंद बांसल, सचिव नौरंग सिंह एडवोकेट, सिरसा एजुकेशन सोंसायटी के सदस्य सुरेश गोयल व ठाकुर रघुबीर सिंह नैशनल कॉलज ऑफ एजुकेशन, सिरसा की प्रिंसीपल पूनम मिगलानी, रैडक्रॉस के कार्यक्रम अधिकारी अश्वनी शर्मा, सहायक पवन कुमार व राहुल अरोड़ा भी उपस्थित थे।

Watch This Video Till End….

Seminar on Academic writings concluded at PU

राहगीरी का मुख्य उद्देश्य प्रशासन का आमजन के साथ तालमेल बनाना : ओपी सिंह

सिरसा 21 नवंबर।

राहगीरी का मुख्य उद्देश्य प्रशासन का आमजन के साथ तालमेल बनाना : ओपी सिंह


            मुख्यमंत्री के विशेष अधिकारी एडीजीपी ओपी सिंह ने कहा है कि राहगीरी का मुख्य मकसद सरकार और प्रशासन का आमजन के साथ अच्छा तालमेल व लोगों के बीच रिश्तों को मधुर बनाना है। राहगीरी के माध्यम से ऐसा प्लेटफार्म उपलब्ध करवाया जाता है जहां आकर युवा, खिलाड़ी, बच्चे व आमजन विविध गतिविधियों में भागीदारी करके खुशी का अनुभव करें और आपस में परिचय प्राप्त कर सकें। वे वीरवार को सभी जिलों के अधिकारियों के साथ आयोजित वीडियो कॉफ्रेंस में राहगीरी कार्यक्रम को लेकर तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे।


            उन्होंने सभी जिलों में राहगीरी को नए तरीके से आयोजित करके इसके उद्देश्य को पूरा करने के संबंध में विशेष दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी जिलों में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मिलकर व आपसी तालमेल बना कर सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से राहगीरी में जनभागीदारी को बढ़ाएं। लोगों को ज्यादा से ज्यादा इस कार्यक्रम में जोड़ें। इसके अलावा राहगीरी कार्यक्रम में आमजन में सड़क सुरक्षा उपायों, नशा, खेल जैसे विषयों के प्रति जागरूकता पैदा करने में भी प्रयोग किया जाए। उन्होंने कहा कि खराब जीवन शैली के कारण जीवन में अनेक प्रकार की गंभीर बीमारियां व एक-दूसरे से तालमेल के अभाव में आपराधिक गतिविधियों में वृद्घि हो रही है।

राहगीरी का मुख्य उद्देश्य प्रशासन का आमजन के साथ तालमेल बनाना : ओपी सिंह


राहगीरी को सफल बनाने में जिम्मेदारी निभाएं अधिकारी


            एडीजीपी ने कहा कि सभी अधिकारी व्यक्तिगत रुचि के साथ राहगीरी कार्यक्रम को सफल बनाने में अपनी जिम्मेदारी निभाएं। उन्होंने कहा कि राहगीरी में प्रतिभागियों की संख्या को बढ़ाने के लिए क्लब, योगा, खेल, चित्रकला, कलाकार, डांस एकेडमी, जिम व अन्य सामाजिक संस्थाओं को भी भागीदार बनाया जाए। उन्होंने जिला खेल अधिकारी व जिला शिक्षा अधिकारी को अपने कोच, पीटीआई व डीपीई के माध्यम से खिलाडिय़ों व विद्यार्थियों की भागीदारी बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिले से संबंधित ट्वीटर अकाउंट बना कर राहगिरी बारे अपडेट करें। उन्होंने बताया कि लगभग 65 प्रकार के थीम पर राहगिरी कार्यक्रम आयोजित किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि जिस भी थीम पर राहगिरी कार्यक्रम आयोजित किए जाए, उस थिम से संबंधित विभाग की भागीदारी अवश्य सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि हर कार्यक्रम में नशे के प्रति जागृति की झलकियां अवश्य दिखाएं।


                इस मौके पर उप पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने बताया कि राहगीरी कार्यक्रम को सफलतापूर्वक आयोजित करवाते रहे हैं और भविष्य में भी इस कार्यक्रम को भव्य तरीके से मनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि आगामी एक दिसंबर को एड्स दिवस पर प्रात: 7 से 9 बजे तक राहगिरी कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इस मौके पर डीएसओ कृष्ण कुमार बेनीवाल, पुलिस प्रवक्ता सुरजीत सिंह सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे। 

Watch This Video Till End….