पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

भाजपा संगठन महामंत्री सुरेश भट्ट की 20 नवंबर को होगी विदाई

मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल खट्टर के साथ विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता व प्रदेश अध्यक्ष ओम् प्रकाश धनकड़ भी रहेंगे मौजूद

पंचकुला 17 नवंबर: भाजपा हरियाणा के प्रदेश संगठन महामंत्री सुरेश भट्ट 10 वर्ष तक प्रदेश में बेहतरीन संगठनात्मक कार्य करने के पश्चात अपने गृह प्रदेश उत्तराखंड वापिस जा रहे हैं। भाजपा उनके सम्मान में शुक्रवार दिनांक 20 नवंबर को पंचकूला में विदाई समारोह का आयोजन कर रही है। विदाई समारोह में बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल खट्टर शिरकत करेंगे तथा विशेष तौर पर पंचकुला विधायक एवं विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता उपस्थित रहेंगे। साथ में प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश धनकड, शिक्षा मंत्री हरियाणा कंवर पाल गुज्जर के साथ अन्य कई गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित रहेंगे।

For Detailed News-


विदाई समारोह कार्यक्रम के आयोजन के लिए आज भाजपा कार्यालय पंचकूला में एक बैठक का आयोजन किया गया। जिला अध्यक्ष अजय शर्मा की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में मुख्य तौर पर जिला प्रभारी डॉ संजय शर्मा पंचकूला से विधायक एवं हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता, प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती बंतो कटारिया, पूर्व जिला अध्यक्ष दीपक शर्मा के साथ महामंत्री हरेंद्र मलिक व वीरेंद्र राणा, वरिष्ठ कार्यकर्ता श्याम लाल बंसल के साथ मंडल अध्यक्ष भी उपस्थित रहे।

https://propertyliquid.com


प्रदेश संगठन महामंत्री सुरेश भट्ट की बेहतरीन संगठनात्मक सोच, मर्गदर्शन और रणनीति के कारण ही पार्टी ने 2014 में लोकसभा की 9 सीटें जीती तथा प्रदेश में अपने दम पर पहली बार सरकार बनाई। सुरेश भट्ट अब अपने गृह प्रदेश उत्तराखंड की सक्रिय राजनीति में भाग लेंगे। सुरेश भट्ट के सम्मान में भाजपा हरियाणा की ओर से उनकी शानदार विदाई के प्रदेश भर में कार्यक्रम तय किए गए हैं। पंचकुला में संगठन मंत्री का विदाई समारोह शानदार एवं यादगार रहे इसके लिए आज के बैठक का आयोजन किया गया।

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

कोविड-19 के चलते छठ पूजा की अनुमति नही- उपायुक्त

पंचकूला, 17 नवंबर-   उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने 20 और 21 नवम्बर को छठ पूजा को लेकर बताया कि छठ पूजा रजि0 समिति, पंचकूला ने उपायुक्त से आगामी छठ पूजा सार्वजनिक स्थानों पर मनाने को लेकर 13 नवंबर को प्रार्थना की थी, छठ पूजा महापर्व के लिए सेक्टर-21, कौशल्या नदी व घग्गर नदी के छठ पूजा घाट पर पूजा अर्चना को लेकर स्वीकृति दी जाये। 

For Detailed News-

उपायुक्त ने छठ पूजा को लेकर सीएमओ, पीएमओ, डीआईओ, एसीपी से बैठक की थी। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना को महामारी घोषित किया है और भारत सरकार व गृह विभाग की कोविड-19 को लेकर भी दिशा निर्देश है। छठ पूजा महापर्व पर 20 से 25 हजार लोगों के आने का अनुमान है। इतनी बड़ी संख्या में लोगों को महापर्व के लिये अनुमति नहीं दी जा सकती। छठ पूजा रजि0 समिति, पंचकूला ने भी इस निर्णय से सहमति जताई । 15 सदस्यई समिति ने उपायुक्त को यह भी विश्वास दिलाया कि लोगों से तालमेल बिठाकर उन्हें अपने स्थान पर छठ पूजा पर्व को मनायेंगे। उपायुक्त ने बताया कि भारत सरकार  व एमएचए की कोविड-19 को लेकर दिशा निर्देश है कि 2 गज की दूरी और मास्क जरूरी है, का पालन करना अनिवार्य है।

https://propertyliquid.com

 उपायुक्त ने जनता से अपील है कि पंचकूला में कोरोना के रोज नये बढ़ते हुए मामलों व जिलावासियों की सुरक्षा को देखते हुए छठ पूजा पर्व पर सूर्य की आराधना अपने स्थान पर ही करें। किसी भी सार्वजनिक स्थान पर छठ पूजा महापर्व को मनाने की अनुमति नहीं है। सभी जिलावासी अपने स्थान पर छठ पूजा पर्व को मनाकर आपस में ही भाईचारे व खुशियों का संदेश दें। 

उपायुक्त ने बताया कि नगर निगम कमीशनर को नियम की पालना व जनता को जागरूक करने के लिये मुख्य स्थानों पर होर्डिग लगवाने व डिप्टी कमीशनर पुलिस को पुलिस फोर्स की पर्याप्त व्यवस्था करने व एसडीएम पंचकूला व कालका को किसी भी परिस्थिति से निपटने व सिविल सर्जन को डाॅक्टर की टीम व एम्ब्यूलेंस और जरूरी दवाइयां, चिन्हित स्थानों पर उपलब्ध करने के निर्देश दिये और सभी कार्यालय वाहक और पंचकूला रजिस्टर समिति के सदस्यों से श्रद्धालुओं को कोविड-19 के बारे में जागरूक और छठ पूजा पर्व को अपने स्थान पर मनाने के लिये उचित कदम उठाने के निर्देश दिये।

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

सांसद सुनीता दुग्गल क्षेत्र की कोरोना से मुक्ति के लिए 19 को शिवपुरी में करेंगी हवन-यज्ञ,इलाके के लोगों की सुख-स्मृद्धि की जाएगी कामना

सिरसा, 17 नवंबर।


          लोकसभा सांसद श्रीमती सुनीता दुग्गल कोरोना महामारी के कारण मौत का ग्रास बन चुकी दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए तथा इलाके की सुख-स्मृद्धि व खुशहाली के लिए 19 नवंबर को शिवपुरी में हवन-यज्ञ करेंगी। इस दौरान प्रमुख समाजसेवियों द्वारा लोकसभा क्षेत्र के लोगों के सुखमय व खुशहाल जीवन के लिए प्रार्थना सभा का आयोजन किया जाएगा ।

For Detailed News-


          यह जानकारी देते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता श्री नीरज बंसल जी ने बताया कि सांसद सुनीता दुग्गल 19 नवंबर को सांय 3:30 बजे सिरसा के शिवपुरी में हवन-यज्ञ करेंगी। सांसद हवन यज्ञ कर क्षेत्र को कोरोना मुक्त करने व लोगों की सुख-समृद्धि के लिए भगवान से प्रार्थना करेंगी।  

https://propertyliquid.com

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

Special Online Gandhi Katha by PU

Chandigarh November 17, 2020

The Department of Gandhian and Peace Studies, Panjab University organized a special online Gandhi Katha” by Smt. Shobhana Radhakrishna ji on the World International Day of Students and on commencement of the new Academic Session of MA 1st Semester of the session 2020-21.

For Detailed News-

Dr. Manish Sharma, Chairperson introduced the topic and the speaker and other invited guests, faculty members and students.

In his inaugural address Professor Raj Kumar, Vice Chancellor, PU informed the audience that with the introduction of the new academic session, new positive vibrations will bring positivity for everyone and in the present times the relevance of Gandhian philosophy is very much relevant and the kind of his ideology which takes everyone together which is the need of the hour can be seen in the activities of this department. He also redefined the concept of ‘Satyagraha’ and its difference with the ‘Passive -Resistance’. Satyagraha can be used for mass mobilization as well as resolving the conflicts of many issues. He also asked the teachers to reintroduce the concept of Gandhian philosophy via the curriculum as the concept of Values, Life and Thought, attitude of mind, living together concept and especially of Peace when incorporated in the system then the results will be more visible in terms of Gandhian ideology and the same is added via the New Education Policy of 2020.

https://propertyliquid.com

In her narration of Gandhi Katha by Shobhana Radhakrishna ji who is a globally renowned Gandhian recognized for her invaluable contribution to literature, social service and spreading the vision of Mahatma Gandhi. She is on a mission to reintroduce Mahatma Gandhi to the people of India and abroad. She has imbibed Gandhiji’s values as she was born and brought up in his Sevagram ashram, Wardha in Maharashtra. Shobhana’s focal point is the Gandhian way of life and serving humanity. The basic idea of the Gandhi Katha was to reintroduce the Gandhi’s vision and its relevance and an attempt to provide some principles, ideas and alternatives that can help us in our quest for more significant substance and help address pressing social, communal and ecological challenges of our times specially of the COVID 19 like situations.

These lessons gleaned from Mahatma Gandhi’s life offer us invaluable advice on leading an enlightened, more meaningful, self-aware, socially responsible and saner life. In her address she also narrated how the different personalities of the world have seen and conceptualized Gandhian principles which are as relevant as they were for the past centuries. Further, she also talked about the different influences on Gandhi which shaped him from a simple layman to a Great Soul as Mahatma. She also talked about the Three Gifts from Gandhi’s life as Satyagraha or non-violent resistance to establish justice, non-cooperation with evil and civil disobedience. Second gift as Constructive Activities or service to humanity for restoring the dignity of the poorest of the poor, thirdly as EkadashVrata or Eleven vows for building inner strength and bring about transformation. In case anyone follows these three principles in life, he will become Mahatma.

 The special katha on Gandhi ji was well attended by various faculty members of the Department as well as the new enrolled students and faculty members and students from other departments. Dr. Manish Sharma, Chairperson proposed a vote of thanks to all for attending the event.

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

FDP Commences at PU


Chandigarh November 17, 2020

The 7-days Online Faculty Development programme on the theme: Enhancing Visibility & Quality of Research Output and Research Ethics is being organized by the UGC-Human Resource Development Centre, Panjab University, Chandigarh under the aegis of RUSA 2.00 from 17th-23rd Nov,2020.

Prof. Tankeshwar Kumar, Vice-Chancellor (VC) of Guru Jambheshwar University of Science and Technology, Hisar, while addressing the participants at the inaugural session, expressed that research ethics and publishing in quality journals is a very important and
useful topic for all researchers and academicians. The theme of the FDP was very relevant as it was very important to increase visibility of the research being done in India. 

For Detailed News-

Prof.S K Tomar, the honorary Director of HRDC, Panjab University gave an introductory talk about HRDC and its field of work.The FDP is focusing on certain aspects of research and publication,  i.e. research ethics,predatory publications, plagiarism, anti plagiarism softwares, hands on session  on Mendeley and Zotero Reference management softwares, research writing skills to publish in quality journals, research data management, open access publishing, etc. These topics are very much relevant in a scholar’s field of work.

https://propertyliquid.com

Dr. Neeraj Kumar Singh, Deputy Librarian, Panjab University , the course coordinator informed that the FDP is being attended by  35 participants including faculty members, librarians, and research scholars from various states such as Kerala, Himachal Pradesh, New Delhi, Maharashtra, Karnataka, Punjab and Chandigarh. Eminent national and international resource persons from academic and publishing industries from different organizations such as BHU, JNU, Banasthali Vidyapeeth, PGIMER, University of Tokyo, Japan, representatives of Elsevier Publishing, Urkund plagiarism detection software etc. who are specialists in their field, shall dwell upon the various aspects of research and publishing in their lectures throughout the seven days.

After the inaugural session two sessions were held. Prof. Akshay Anand, PGIMER, Chandigarh delivered a talk on research and publication ethics and Prof. S C Lakhotia, BHU on predatory publications.

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

स्पोर्टस कोटे से ग्रुप डी में लगे कर्मचारी खेल ग्रेडेशन बनवाने के लिए 25 तक कर सकते हैं अप्लाई

सिरसा, 17 नवंबर।


                   जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी ललिता मलिक ने बताया कि हाल ही में स्पोर्टस कोटे से ग्रुप-डी में लगे कर्मचारी अपना खेल ग्रेडेशन बनवाने के लिए 25 नवंबर तक अपनी फाइल जमा करवा सकते हैं।

For Detailed News-


                    उन्होंने बताया कि ग्रुप-डी में खेल कोटे से 1518 पद पर भर्ती की गई थी जिनमें से सिरसा जिला के 117 कर्मचारी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि किसी कर्मचारी ने खेल ग्रेडेशन प्रमाण पत्र बनवा रखा है तो वे पूर्ण दस्तोवज सहित शहीद भगत सिंह स्टेडियम स्थित जिला एवं खेल अधिकारी कार्यालय में उपस्थित हों ताकि सूचना समय रहते सरकार को भेजी जा सके। उन्होंने बताया कि कर्मचारी किसी भी कार्य दिवस में प्रात: 9 बजे से सांय 5 बजे तक अपनी फाइल जमा करवा सकते हैं।

https://propertyliquid.com

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

महिलाओं के लिए मददगार साबित हो रही है प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 17 नवंबर।


                    प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना महिलाओं के लिए मददगार बन रही है। जनवरी 2019 से अब तक सिरसा जिला की 21233 गर्भवती महिलाएं इस योजना का लाभ पा चुकी हैं। योजना की राशि से गर्भवती महिलाएं अपने स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा कर रही हैं। यह योजना गर्भवती महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य के प्रति प्रोत्साहित करने में मददगार साबित हो रही है।

For Detailed News-


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि गर्भवती एवं धात्री महिलाओं के स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधी जरूरतों की पूर्ति हेतू नकद प्रोत्साहन देकर उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए प्रोत्साहित करना और कुपोषण के प्रभाव को कम करने के उद्ेश्य से केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना की शुरुआत की गई। योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को तीन किश्तों में पांच हजार रुपये की धनराशि दी जाती है ताकि वह गर्भधारण काल में पौष्टिक चीजें खा सकें व जन्म के बच्चे की अच्छे से देखभाल कर सकें।


                    उन्होंने बताया कि योजना के तहत पहली बार मां बनने वाली महिलाओं को पोषण के लिए पंजीकरण कराने के समय पहली किश्त के रूप में एक हजार रुपये दिए जाते हैं। प्रसव पूर्व कम से कम एक जांच होने पर गर्भावस्था के छह माह बाद दूसरी किश्त के रूप में दो हजार रुपये और बच्चे के जन्म का पंजीकरण होने और बच्चे के प्रथम चक्र का टीकाकरण पूर्ण होने पर तीसरी किश्त में दो हजार रुपये दिए जाते हैं। उन्होंने बताया कि जनवरी, 2019 से अब तक योजना के तहत जिला की 21 हजार 233 महिलाएं इस योजना से लाभान्वित हो चुकी है।

https://propertyliquid.com

योजना के तहत माताओं के खाते में जाती है किश्तों राशि :

                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत जच्चा-बच्चा स्वास्थ्य संबंधी विशिष्ट तत्वों की पूर्ति पर परिवार में पहले जीवित बच्चे के लिए गर्भवती महिलाओं एवं स्तनपान कराने वाली माताओं के खाते में पांच हजार रुपये की राशि किश्तों में सीधे उनके खातों में भेजी जाती है। योजना की पूरी राशि तीन किश्तों में दी जाती है। प्रत्येक किश्त की राशि सीधे संबंधी लाभार्थी महिला के खाते में डाली जाती है।


योजना की अधिक जानकारी के लिए यहां करें संपर्क :

                    उपायुक्त ने बताया कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना बारे अधिकारी जानकारी के लिए आमजन महिला एवं बाल विकास परियोजना के सिरसा कार्यालय व ब्लॉक स्तर पर स्थापित कार्यालय के दूरभाष नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं। रानियां में 01698251881, ऐलनाबाद में 9057574185, बडागुढा में 01696245075, माधोसिंघाना में 01666235654, ओढा में 01696251260, नाथूसरी चौपटा में 01666256510, सिरसा में 01666235504 व डबवाली में 01668227573 पर संपर्क कर सकते हैं।

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

कोरोना को न लें हलके में, लापरवाही बन सकती है जानलेवा : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 17 नवंबर।

दवाई आने तक मॉस्क व उचित दूरी ही कोरोना से बचाव का एक मात्र उपाय


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि त्यौहारी सीजन में लोगों की बाजारों में आवाजाही बढने से कोरोना संक्रमण के फैलाव का अंदेशा बढा है। इसके अलावा सर्दी का मौसम भी संक्रमण फैलाव के अनुकूल माना जा रहा है। इसलिए आमजन को अब कोरोना को लेकर और अधिक सतर्कता दिखाने की जरूरत है। लोग कोरोना को हलके में कतई न लें। छोटी सी लापरवाही स्वयं व दूसरों के लिए जानलेवा हो सकती है। कोरोना की दवाई आने तक हमें मॉस्क व उचित दूरी का पालन करते हुए इस बीमारी से अपना बचाव करना है।

For Detailed News-


उन्होंने कहा कि गत दिनों से त्यौहारी सीजन होने के चलते लोगों का बाजार, सार्वजनिक स्थान आदि पर आवाजाही अधिक रही, जिसके चलते कोरोना संक्रमण के फैलाव का अंदेशा बढा है। इसके अलावा अब सर्दी का मौसम है, जिसमें संक्रमण के फैलने का खतरा ज्यादा रहता है। इसलिए अब लोगों को और अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। बहुत से लोग कोरोना को हलके में ले रहे हैं और वो न तो मॉस्क लगा रहे और न ही दूसरे उपायों का पालन कर रहे। ऐसे लोगों से अनुरोध है कि वे कोरोना को हलके में लेने की भूल कतई न करें। उनकी छोटी से लापरवाही स्वयं व दूसरों के लिए जानलेवा हो सकती है। उन्होंने कहा कि जब तक कोई दवाई नहीं आती है, तब तक मॉस्क ही इससे बचाव का उपाय है।

https://propertyliquid.com


मॉस्क लगाएं, स्वयं व दूसरों को कोरोना से बचाएं :


उपायुक्त ने कहा कि अभी तक कोरोना की कोई वैक्सीन नहीं आई है। जब तक दवाई नहीं आती है तब तक मॉस्क ही इससे बचाव का उपाय है। इसके अलावा अपने हाथों को सेनेटाइज करना, साबुन से हाथों को धोना, उचित दूरी बनाए रखना, भीड़ वाले स्थान पर जाने से बचना आदि छोटी-छोटी सावधानियां हैं, जिन्हें अपनाकर हम स्वयं को व दूसरों का कोरोना से बचाव कर सकते हैं। सरकार द्वारा बिना मॉस्क वालों पर जुर्माना लगाए जाने का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति बिना मॉस्क के पाया जाता है, तो उसको 500 रूपये का जुर्माना किया जाएगा।

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

स्वामित्व योजना के तहत जिला के 63 गांवों का किया जा चुका है ड्रोन से सर्वे : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 17 नवंबर।

उपायुक्त प्रदीप कुमार ने स्वामित्व योजना के तहत गांव ममेरांकला में ड्रोन से किए जा रहे सर्वे कार्य का किया निरीक्षण


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने मंगलवार को जिला के गांव ममेराकलां में पहुंच कर लाल डोरा मुक्त बनाने को लेकर ड्रोन से किए जा रहे सर्वे कार्य का निरीक्षण किया और मौके पर अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए। इस अवसर पर उनके साथ तहसीलदार जितेंद्र सिंह, बीडीपीओ अनिल बिश्रोई, पंचायत अधिकारी श्रवण सिंह, सरपंच प्रतिनिधि विनोद ढुकिया, सचिव सोनू, ड्रोन टीम इंचार्ज प्रमोद कुमार, जसबीर सिंह मौजूद थे। इस दौरान उपायुक्त ने ग्राम सचिवालय परिसर में ग्रामीणों से बातचीत भी की और कहा कि सर्वे कार्य में ग्रामीण पूर्ण सहयोग करें।

For Detailed News-


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि अबतक जिला के 63 गांवों में ड्रोन से सर्वे किया जा चुका है जिसमें डबवाली के 36, सिरसा के 10, रानियां के 12 गांवों व ऐलनाबाद के पांच गांवों में सर्वे किया जा चुका है। इसके अलावा अबतक जिला के 11 गांवों में ग्रामीणों को सर्वे उपरांत रजिस्ट्री भी दे दी गई है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्वामित्व योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अतिमहत्वाकांक्षी योजना है। योजना के तहत ब्लॉक वाइज शैड्यूल बना कर सर्वे का कार्य शीघ्र अति शीघ्र पूरा करवाएं ताकि आमजन को योजना का लाभ जल्द मिल सके। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य है, इसके लिए सभी अधिकारियों को प्रत्येक स्टैप का पता होना चाहिए। इस अभियान के बारे में हर प्रकार के तकनीकी पहलुओं की जानकारी होनी चाहिए। इससे लाल डोरा के अंदर रहने वाले ग्रामीणों को उनका मालिकाना हक मिलेगा।


                    उपायुक्त ने बताया कि इस अभियान के तहत राजस्व व पंचायत विभाग द्वारा लाल डोरा कायम करने के लिए पैमाइश की जा रही है। इसके बाद ग्राम पंचायत द्वारा चूना मार्किंग की जाती है। यह काम पूरा होने के बाद सर्वे ऑफ इंडिया की टीम ड्रोन को उड़ाकर एक मैप तैयार करती है। ड्रोन द्वारा मैप तैयार करने के बाद सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा ग्राम स्तरीय कमेटी को नक्शा तथा आईडी उपलब्ध कराई जाएगी। यह कमेटी इसका सर्वे करेगी ताकि किसी भी प्रकार की गलती की कोई भी गुंजाइश न रहे। इस दौरान लाल डोरा के अंदर आने वाले हर मकान को एक नंबर दिया जाएगा और उसमें आपसी बंटवारे के हिसाब से फिलहाल की स्थिति अनुसार कमेटी उन्हें चेक करेगी। अगर इस दौरान किसी मकान मालिक को इस पर आपत्ति है तो वह संबंधित एसडीएम को अपने दावे व सुझाव प्रस्तुत कर सकता है। उपायुक्त ने बताया कि ड्रोन को गांव के बाहर किसी एक जगह से उड़ाया जाता है और फिर पूरे गांव में कुछ प्वाइंट फिक्स किए जाते है ताकि नक्शा तैयार किया जा सके। उन्होंने कहा कि यह सबसे महत्वपूर्ण कार्य है। यह कार्य पूरा होने के बाद लाल डोरा के अंदर भी लोगों को उनके मकान की रजिस्ट्री बनाकर दी जाएगी।

https://propertyliquid.com


                    उपायुक्त ने संपत्ति पर मालिकाना हक दिलाने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री द्वारा स्वामित्व योजना की शुरुआत की गई थी। इसके अंतर्गत गांव पंचायत के मकानों और आवासीय भूमि का सर्वे कराकर अभिलेख तैयार कराने और ग्रामीणों को मालिकाना हक देने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा ग्रामीणों को लाल डोरे से मुक्त करते हुए उनकी भूमि का मालिकाना हक दिलवाने के लिए स्वामित्व योजना चलाई गई है।