पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

पंचायती राज संस्थाओं में बीसी-ए को आठ प्रतिशत आरक्षण देने का निर्णय ऐतिहासिक : रणबीर गंगवा

सिरसा, 15 नवंबर।


                  हरियाणा विधानसभा के उपाध्यक्ष रणबीर सिंह गंगवा ने कहा कि सरकार द्वारा पंचायती राज चुनावों में बीसी-ए वर्ग को 8 प्रतिशत आरक्षण देने के मिलने से समाज की हिस्सेदारी बढ़ी है। पंच से लेकर ब्लाक समिति व जिला परिषद के सदस्य चुनने का पिछड़ा वर्ग को मौका मिलेगा। इसलिए पिछड़ा वर्ग समाज के विभिन्न संगठनों की ओर से आगामी 29 नवंबर को हिसार के पुराना राजकीय कॉलेज मैदान में पिछड़ा वर्ग सम्मान समारोह का आयोजन किया जाएगा।  इस समारोह में पिछड़ा वर्ग समाज के लोग पंचायती राज संस्थाओं में आठ प्रतिशत आरक्षण देने के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का अभिनंदन करेंगे।

For Detailed News-


                  डिप्टी स्पीकर रणबीर सिंह गंगवा रविवार को स्थानीय लोक निर्माण विश्राम गृह में आयोजित पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। जिला के विभिन्न पिछड़ा वर्ग संगठनों के प्रतिनिधियों ने डिप्टी स्पीकर का फूल मालाएं पहना कर स्वागत किया। इस अवसर पर पूर्व विधायक रामचंद्र कंबोज, पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व चेयरमैन सतबीर वर्मा, माटी कला बोर्ड के पूर्व चेयरमैन गुरदेव सिंह राही, एसडीएम सिरसा जयवीर यादव, उप पुलिस अधीक्षक आर्यन चौधरी, पदम जैन, अशोक मित्तल, जगदीश सिंधला, सीताराम रोहेल्ला पूर्व पार्षद, शेर सिंह, मुकेश कुमार, ईश्वर मालवाल, राम कुमार गिदर, लखमी चंद प्रजापति, कौशल्या वर्मा, राम प्रताप घोड़ेला, नरेंद्र देव आर्य, मदन वर्मा, विजय सैन, गगनदीप, बाबूलाल यादव सहित बड़ी संख्या में पिछड़ा वर्ग समाज के विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि मौजूद रहे। डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा ने संगठनों से 29 नवंबर को पिछड़ा वर्ग सम्मान समारोह बढ़चढ़कर भागीदारी सुनिश्चित करने का आह्वान किया।

https://propertyliquid.com


                  डिप्टी स्पीकर रणबीर सिंह गंगवा ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि इस विधानसभा सत्र में अनेक ऐसे बिल पारित किए गए हैं, जिनकी मांग काफी लंबे अरसे से की जा रही थी। डिप्टी स्पीकर ने कहा कि बीसी-ए वर्ग के लोगों को पंचायती राज संस्थाओं में आठ प्रतिशत आरक्षण देने के निर्णय से इस वर्ग के लोगों को और अधिक प्रतिनिधित्व का अवसर मिलेगा। ग्राम पंचायतों के आठ प्रतिशत सरपंच पद पर इस वर्ग के लोगों का प्रतिनिधित्व होगा। इसके साथ ही जिला परिषद और ब्लॉक समिति में भी आठ प्रतिशत या कम से कम दो सदस्य चुनने जाने का आरक्षण इस वर्ग को दिया गया है। पंचायती राज चुनावों में पिछड़ा वर्ग को 8 फीसदी की हिस्सेदारी मिलने से प्रदेश के 22 जिलों में हर जिले व ब्लाक में कम से कम दो-दो सीटें ब्लाक समिति व जिला परिषद के लिए आरक्षित होंगी। इससे कई जिलों में आरक्षण 10 से 15 फीसदी हो गया है


                  उन्होंने कहा कि विधानसभा में आधी आबादी को भी पंचायती राज संस्थाओं ग्राम पंचायतों, पंचायत समितियों तथा जिला परिषदों में महिलाओं की 50 प्रतिशत आरक्षण देकर उनकी हिस्सेदारी सुनिश्चित कर सरकार ने महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक और महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। सरकार के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के नारे का साकार रूप भी इस बिल को देखा जा सकता है। ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं के लिए यह बिल काफी अह्म साबित होगा और ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं पंचायती राज सस्थाओं में निर्वाचित होकर विकास के नए आयाम स्थापित करेंगी। डिप्टी स्पीकर ने कहा कि विधानसभा में एक और महत्वपूर्ण बिल प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने के लिए पास किया गया। प्राइवेट क्षेत्र में 75 प्रतिशत हरियाणा के युवाओं को नौकरी देने का बिल पास किया गया है। इससे बेरोजगारी दूर होगी और प्रदेश के युवाओं को रोजगार मिलेगा।



                  हरियाणा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर रणबीर सिंह गंगवा ने पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में पिछड़ा वर्ग के सदस्यों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि पंचायती राज संस्थाओं में पिछड़ा वर्ग को 8 प्रतिशत आरक्षण देकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने समाज का सम्मान बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि 29 नवंबर को हिसार में मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आभार व्यक्त करने के लिए सम्मान समारोह का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला सिरसा से अधिक से अधिक लोग सम्मान समारोह में पहुंचे और मुख्यमंत्री का जोरदार अभिनंदन व स्वागत करें।


                  पूर्व विधायक रामचंद्र कंबोज ने डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा का स्वागत करते हुए विश्वास दिलाया की सम्मान समारोह में जिला सिरसा से समाज के लोगों की रिकार्ड भागीदारी होगी। इससे पूर्व समाज की तरफ से डिप्टी स्पीकर को मान स्वरुप पगड़ी पहनाई और शॉल भेंट कर स्वागत किया।