उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

Arbitration Award writing competition by UILS,PU

Chandigarh May 10, 2020

The Alternate Dispute Resolution(ADR) and Client Counseling Competition(CCL) Board of University Institute of Legal Studies, Panjab University, is announcing the results of the first Arbitration Award Writing Competition on 1th May 2020. 

For Detailed News-

The ceremony will take place through the online medium. Justice Rajive Bhalla will be the Chief Guest. Prof.R.K. Singla,DUI  will be the guest of honour. The event is being organised under the guidance of the Faculty Chair, Prof. Shruti Bedi and the teacher coordinators and Prof. Rattan Singh, Director, UILS. 

This is the first edition of the Intra Department Arbitration Award Writing Competition 2020. This is the first time Arbitration Award Writing was introduced by the board through online aids to make sure students make the most of this quarantine. 

https://propertyliquid.com/

It was well received by the students and the competition saw tremendous response. Demo sessions, online study material and talks by various professionals were made available to the participants to ensure that they are able to put their best foot forward. The final proposition was drafted by the members of the Board as well. As many as 50 entries were received from the participants.

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

धान की बजाय दूसरी फसल की खेती करने पर मिलेंगे 7 हजार रुपये प्रति एकड़ : उप निदेशक कृषि

सिरसा, 10 मई।

मेरा पानी-मेरी विरासत योजना के तहत धान की जगह दूसरी खेती करने के लिए किसानों को किया जाएगा प्रोत्साहित


खरीफ के सीजन में धान की फसल की अधिक खेती होना भू-जल स्तर निचे गिरने के मुख्य कारणों में से एक हैं। गिरता हुआ भू-जल स्तर चिंता का विषय बनता जा रहा है। इस दिशा में अब सरकार ने मेरा पानी-मेरी विरासत योजना बनाई हैं, जिसके तहत किसानों को धान को छोड़कर दूसरी फसल की खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। योजना के तहत यदि कोई धान की बजाए दूसरी खेती करता है, तो उसको सात हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

For Detailed News-


यह जानकारी उप निदेशक कृषि डा. बाबू लाल ने दी। उन्होंने बताया कि धान की खेती में अन्य फसलों की तुलना में 50 से 60 प्रतिशत पानी की खपत ज्यादा होती है। यही कारण है कि धान की अधिकत खेती होने व इसमें अधिक पानी खपत होने कारण भू-जल स्तर नीचे जाता जा रहा है। सरकार द्वारा गिरते हुए भू-जल स्तर को बढ़ाने के लिए ‘मेरा पानी-मेरी विरासतÓ योजना बनाई गई है। उन्होंने बताया कि जैसा कि नाम से प्रतीत होता है कि पानी हमारी विरासत है व इसे बचा कर रखना हमारा कर्तव्य है। अगर हम इसे आज नहीं बचाएंगे तो आने वाली पीढी को विरासत के रूप में कुछ नहीं दे पाएगे। उन्होंने बताया कि इस योजना में हरियाणा के उन खंडों का चयन किया गया है जिन खण्डों का भूमिगत जल स्तर 40 मीटर से ज्यादा गहरा है। इसमें जिला के खंड सिरसा का चयन किया गया है।

https://propertyliquid.com/


उन्होंने बताया सिरसा खंड में लगभग 30 हजार 500 हैक्टेयर में धान फसल की खेती होती है। स्कीम के अनुसार 50 प्रतिशत रकबा में अर्थात 15 हजार हैक्टेयर में फसल विविधीकरण के तहत अन्य फसलों की बिजाई का लक्ष्य दिया गया है। योजना के अनुसार खंड सिरसा में पिछले खरीफ सीजन 2019 में बोए गए धान के कुल रकबा में से 50 प्रतिशत रकबा में धान की खेती कर सकता है व अन्य 50 प्रतिशत रकबा में धान के अतिरिक्त अन्य फसलों जैसे कि कपास, मक्का, बाजरा व दलहन फसलों का की खेती करना अनिवार्य है। ऐसे किसानों को सरकार द्वारा सात हजार रुपये प्रति एकड़ की दर से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।


उन्होंने कहा कि जिला का कोई भी किसान इस स्कीम का लाभ लेना चाहता है तो उसे पिछले खरीफ सीजन 2019 में बोए गए धान के राजस्व रिकार्ड सहित आवेदन करना होग। वह किसान भी 7 हजार रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि लेने का हकदार होगा। उन्होंने बताया कि जिस ग्राम पंचायत का भू-जल स्तर 35 मीटर या उससे ज्यादा गहरा है वे ग्राम पंचायत पंचायती जमीन में धान फसल की खेती नहीं कर सकती है। साथ ही उस ग्राम पचायत को फसल विविधिकरण करना अनिवार्य होगा तथा उस ग्राम पंचायत को 7 हजार रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि दी जाऐगी।


उन्होंने बताया कि जिला सिरसा में 50 एचपी मोटर से बड़े बिजली कनैक्शन वाले किसानों द्वारा धान उगाने पर पूर्ण प्रतिबन्ध होगा। इस योजना का अभियान ट्रेनिग कै प, प्रदर्शन प्लाट लगाकर प्रचार-प्रसार किया जाएगा तथा फसल विविधिकरण में फसलों की बिजाई के कृषि यंत्र भी अनुदान पर उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि जो किसान इस योजना के निर्देशों की पालना नहीं करता है वे किसान विभाग द्वारा दी जाने वाली किसी भी स्कीम में अनुदान का पात्र नहीं होंगे तथा ऐसे किसानों की धान की फसल की खरीद सरकार द्वारा नहीं की जाएंगी। उन्होंने बताया कि जो किसान फसल विविधिकरण करके कपास, मक्का, बाजरा व दलहन फसलों की बिजाई करेगा उन किसानों की फसलों की खरीद सरकार द्वारा निर्धारित मूल्य पर की जाएंगी। उन्होंने बताया कि जो किसान फसल विविधिकरण में टपका सिंचाई प्रणाली का प्रयोग करेगा उन किसानों को टपका सिंचाई विधि पर 85 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

जिलावासी जिम्मेवारी के साथ करें सोशल डिस्टेंसिंग की अनुपालना : उपायुक्त

सिरसा, 10 मई।

जिलावासी जिम्मेवारी के साथ करें सोशल डिस्टेंसिंग की अनुपालना : उपायुक्त


उपायुक्त रमेश चंद्र बिढान ने कहा कि लोगों को कोरोना संक्रमण से घबराने की जरूरत नहीं है, बल्कि वे प्रशासनिक हिदायतों व संक्रमण से बचाव संबंधी सावधानियों को अपनाएं। मॉस्क लगाना व सोशल डिस्टेंसिंग कोरोना से बचाव के बेहतर उपाय हैं। इसलिए नागरिक मॉस्क को लगाना अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखें।

For Detailed News-


उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। तीसरे चरण का लॉकडाउन जो कि 17 मई तक रहेगा, इसकी सफलता के लिए आमजन को प्रशासन का पूर्ण सहयोग करना होगा। उन्होंने कहा कि जिलावासियों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रशासन पूरी सजगता के साथ काम कर रहा है। आमजन के सहयोग से ही इस दिशा में सफलता हासिल की जा सकती है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से लोग घबराने की बजाए छोटी-छोटी सावधानियां बरतकर स्वयं सुरक्षित रहें और दूसरों को भी सुरक्षित रखें।

https://propertyliquid.com/


उपायुक्त ने कहा कि जिलावासी मॉस्क व सोशल डिस्टेंसिंग को विशेष रूप से अपनी दिनचर्या का अभिन्न अंग बना लें। बिना मॉस्क के घर से बाहर बिल्कुल भी न निकलें। लॉकडाउन के दौरान कोई जरूरी कार्य हो तो ही घर बाहर निकलें। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन लोगों की भलाई के लिए है, इसलिए इसकी गंभीरता के समझें और प्रशासन की हिदायतों का पालन करें। सार्वजनिक स्थानों पर थूंकना दंडनीय अपराध है। यदि कोई ऐसा करता है तो उसको जुर्माना किया जाएगा। इसलिए किसी भी सार्वजनिक जगह पर थूंके नहीं और दूसरों को भी प्रेरित करें। स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें, स्वयं भी स्वच्छ रहें और अपने आस-पास भी साफ-सफाई रखें।


उन्होंने कहा कि हाथों को समय-समय पर सेनेटाइजर या साबुन से साफ करते रहें। खाना खाने से पहले व बाद में हाथों को अवश्य धोएं। घर में व कार्य स्थल पर सेनेटाइजर, मॉस्क आदि की उपलब्धता जरूर रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि घर, ऑफिस या दुकान के दरवाजों, खिड़कियों व उनके हैंडल आदि सभी ऐसी जगहों जहां पर बार-बार हाथ लगते रहते हैं, उन्हें सेनेटाइज करते रहें। समय-समय पर सरकार व प्रशासन द्वारा कोरोना के संबंध में जो भी हिदायतों या जानकारियां दी जाती है, उनके प्रति जागरूक रहें और उनका अनुपालन करें। 

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

लाकडाउन के चलते निरंकारी मिशन के 133 श्रृृद्धालुओं ने किया रक्तदान

रायपुररानी,10 मई 2020

 आज संत निरंकारी मिशन ने ब्लड बैंक पीजीआई चंडीगढ़ की तरफ से किए गए अनुरोध पर संत निरंकारी सत्संग भवन रायपुररानी (त्रिलोकपुर रोड) में एक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में कुल 133 श्रद्वालुओं ने रक्तदान करके मानवता के इस यज्ञ में अपना योगदान दिया।

For Detailed News-

इस शिविर का उद्घाटन श्री करनैल सिंह भुल्लर क्षेत्रीय संचालक संत निरंकारी सेवादल पंचकूला क्षेत्र ने अपने कर कमलों से किया। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि जहां आज सारा संसार करोना महामारी से जूझ रहा है वहीं सद्गुरू माता सुदीक्षा जी महाराज के मार्गदर्शन में निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज द्वारा ‘‘रक्त नालियों में नहीं, नाड़ियों में बहना चाहिए‘‘ को चरितार्थ करके मानवता के लिए जीवन जीने की प्रेरणा को सार्थक करने के लिए श्रद्वालु पूरे तन मन धन से इस महादान में योगदान दे रहे है।

https://propertyliquid.com/

इस अवसर पर ब्रांच के मुखी रामस्वरूप जी ने सत्गुरू माता जी का धन्यवाद करते हुए कहा कि संत निरंकारी मिशन के श्रृृद्धालु व सेवादारों ने मानवता के कल्याण के लिए प्रशासन की तरफ से दिए गए दिशानिर्देशों का पालन करते हुए इस रक्तदान शिविर में अपना भरपूर योगदान दिया। बेशक आज इंसान की दिनचर्या लाकडाउन के चलते प्रभावित हुई है लेकिन सेहत सेवाएं सुचारू ढंग से रखने के लिए रक्त दानियो की जरूरत ब्लड बैंको को बनी रहती है।

ब्रांच के मुखी रामस्वरूप जी ने रक्त लेने आई पीजीआई चंडीगढ़ की टीम व डाॅ अनीता जी और रक्तदातओं का धन्यवाद किया।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

लाखों रुपए की 95 ग्राम हेरोइन सहित दो युवक काबू

सिरसा,10 मई……… जिला भर में चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत कारवाई करते हुए जिला  की एंटी नारकोटिक्स सैल सिरसा पुलिस ने गश्त व चैकिंग के दौरान  शहर के फ्लाईओवर क्षेत्र से कार सवार दो युवकों को लाखों रुपए की 95 ग्राम हेरोइन के साथ काबू किया है । पकड़े गए युवकों की पहचान जसकरण सिंह उर्फ जस्सा पुत्र नागेंद्र सिंह व सतपाल पुत्र रामजीलाल वासियान मल्लेकां  के रुप में हुई है । इस संबंध में जानकारी देते हुए एंटी नारकोटिक्स सैल के प्रभारी सहायक उप निरीक्षक महेन्द्र सिंह ने बताया कि पकड़े गए युवक से सप्लायर के बारे में नाम पता मालुम कर तीन लोगों के खिलाफ सिविल लाइन थाना में मादक पदार्थ अधिनियम व भा.द.स. की धारा 188 के तहत अभियोग दर्ज कर सप्लायर की तलाश शुरु कर दी है । उन्होंने बताया कि एंटी नारोकटिक्स सैल सिरसा पुलिस की एक टीम गश्त व चैकिंग के दौरान शहर के फ्लाईओवर क्षेत्र में मौजुद थी । इसी दौरान सामने से आ रही कार में सवार युवकों ने पुलिस पार्टी को देखकर वापिस मुड़कर भागने की कोशिश की तो शक के बिनहा पर उक्त कार सवार दोनों युवकों को काबू  कर उनकी तलाशी लेने पर उनके कब्जा से 95 ग्राम हेरोइन बरामद हुई है । पकड़े गए युवकों को अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा और रिमाण्ड़ अवधि के दौरान हेरोइन तस्करी के इस नेटवर्क के अन्य लोगों के बारे में नाम पता मालुम कर उनके खिलाफ भी  कार्यवाही कि जाएगी  ।     

 For Detailed News-

https://propertyliquid.com/

                          Watch This Video Till End….                  

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!             

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

लॉकडाउन : जरूरतमंदों की मदद कर सुरिंद्र कौर कर रही सेवाभाव की मिसाल कायम

सिरसा, 10 मई।

News 7 World :

लॉकडाउन के दौरान अपने खर्च पर अब तक कर चुकी है 100 से अधिक जरूरतमंदों की मदद


आज पूरी दुनिया कोरोना के कहर से कहरा रही है। कोई भी देश प्रदेश इस वैश्विक बीमारी से अछूता नहीं है। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन से सबकुछ थम सा गया है। ऐसे में गरीब लोगों को अपनी रोजी-रोटी जुटाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। संकट के इस दौर में सेवाभावी लोग गरीब व जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। इन्हीं लोगों में से सुरिंद्र कौर भी गरीब व जरूरमंद लोगों की मदद करके सेवा भाव की मिसाल कायम कर रही है।

परिवार परामर्श केंद्र में कांउसलर के पद पर कार्यरत सुरिंद्र कौर को बचपन से ही मिले हैं सेवाभाव के संस्कार


परिवार परामर्श केंद्र सिरसा में कांउसल के पद पर कार्यरत सुरिंद्र कौर लॉकडाउन के दौरान अपनी ड्यूटी की जिम्मेवारियों के साथ-साथ जरूरमंदों की मदद करने में लगी हुई है। गरीब लोगों की सेवा करने का ऐसा जज्बा कि स्कूटी पर आवश्यक सामान लेकर निकल पड़ती हैं और रास्ते में कोई भी गरीब व जरूरत मिलता है, उसे सामान देकर आगे बढ जाती हैं। जब सामान बंट जाता है और रास्ते में कोई जरूरत मिल जाता है, तो मार्केट से ही सामान खरीद कर उन्हें देती है। इस तरह से सुरिंद्र कौर अब तक 100 से अधिक गरीब लोगों सूखा राशन देकर मदद कर चुकी है।

For Detailed News-


सुरिंद्र कौर ने बताया कि जब वे घर से निकलती हैं तो पहले से कोई तय नहीं होता कि कहां और किस जरूरमंद को सामान देना है। रास्ते में कोई भी गरीब या जरूरमतंद मिल जाए उसे ही सूख सामान दे देती हूं। उन्होंने बताया कि उन्हें गरीबों की मदद करने में बड़ा ही सकून मिलता है और ये संस्कार उन्हें बचपन से ही मिले हैं। इस काम के लिए मैं कभी कुछ नहीं सोचती और न ही किसी बात की परवाह करती। अपने स्वयं के खर्च पर गरीब लोगों की सेवा करती रहती हूं। अपने बाल भवन स्थित कार्यालय में भी कर्मचारियों की मदद करती रहती हूं। उन्होंने कहा कि आज संकट के दौर में गरीब लोगों की मदद करने से बड़ा कोई पूण्य का कार्य दूसरा हो ही नहीं सकता।

https://propertyliquid.com/


उन्होंने बताया कि वे अब तक जिन 100 से अधिक जरूरमंद लोगों की मदद की है, उनमें कूड़ा बीनने वाले, झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले, सड़कों पर भीख मांगने वाले आदि हैं। वह सूखा राशन में दूध का पैकेट, चावल, आटा, नमक-मिर्च, दाल आदि सामान देकर जरूरमंदों की मदद करती हैं। उन्होंने कहा कि इस संकट के दौर में सभी साम्र्थयवान लोगों को आगे आकर ऐसे जरूरमंद व गरीब लोगों की मदद करनी चाहिए, ताकि कोई भी लॉकडाउन में भूखा न रहे।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!