Weekly Ward Level Meeting of MCC held

Chandigarh, September 10:- The Weekly ward Level meeting of Municipal Corporation Chandigarh was held under the chairmanship of Sh. Rajesh Kumar, Mayor of Chandigarh which was attended by Smt. Chanderwati Shukla, Ward no.7 and 12 respectively.

          Sh. Shailender Singh, SE, Public Health, Sh. Sanjay Arora, SE (B&R), Haji Mohd. Khurshid Ali, Executive Engineers and other concerned officers were present during the meeting. In the meeting following issues of ward wise discussed in details:-

Ward No. -07

·        Remove the malba from road side , approach road to maloya colony near Radha Swami Ashram Raod.

·        Provision of Tubewel in Gwala colony.

·        Strengthening of water supply line.

·        Proper cleaning of sewerage system.

·        Installation of Children playing equipments, benches and huts in the parks.

Ward No. 12

·        Repair of street lights in sector 52.

·        Maintain the green belt in Kajheri.

·        Strengthening of water supply line.

·        Proper cleaning of sewerage in sector 52.

·        Construction if tin shed in sector 52.

मनोहर ज्योति योजना के तहत सौर ऊर्जा घरेलू लाईट सिस्टम किए वितरित

सिरसा, 10 सितंबर।


                   मनोहर ज्योति योजना के तहत उपायुक्त अशोक कुमार गर्ग ने स्थानीय लघु सचिवालय के बैठक कक्ष में योजना के तहत चयनित लाभपात्रों को सौर घरेलू उपकरण वितरित किए। ये सौलर उपकरण नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग, हरियाणा द्वारा पात्र लाभपात्रों को अनुदान पर दिए गए हैं।


                       उपायुक्त ने लाभपात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि हर घर में रात्रि में प्रकाश हो तथा सांय ही ठंडी हवा के लिए पंखा हो, इसी बात को ध्यान में रखकर नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग, हरियाणा द्वारा ये उपकरण अनुदान पर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस पूरे उपकरण की कीमत रुपये 23,500 रुपये है जिस अनुदान के पश्चात की 7,500 रुपये में दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इसमें 150वॉट का सोलर मॉड्यूल, 80एएच/12वॉट की लिथियम बैटरी, 48ÓÓ का छत का पंखा, 9 वॉट की ट्यूब लाईट, 6 वॉट के दो बल्ब दिये गये हैं। उपायुक्त ने बताया कि इसके अतिरिक्त अनुसूचित जाति परिवार, बीपीएल (ग्रामीण), आईएवाई व पीएलएवाई के लाभार्थी, ग्रामीण परिवार, शहरी क्षेत्र के स्लम में रहने वाले भी इस उपकरण के लिए आवेदन कर सकते हैं। ये उपकरण वरियता के आधार पर दिए जाएंगे।


                       उल्लेखनीय है कि मनोहर ज्योति योजना के तहत विभाग द्वारा ऑनलाईन आवेदन आमंत्रित किए गए थे। इस कार्यक्रम में ढाणियों में रहने वाले उन परिवारों को वरियता दी गई थी जिनके घरों में बिजली के कनेक्शन नहीं है। कार्यक्रम में आए हुए लोगों को विभाग द्वारा चलाई जा रही अन्य योजनाओं के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। इस अवसर पर नगराधीश कुलभूषण बंसल, अधीक्षण अभियंता बिजली विभाग, डीआरडीए के अधिकारी, कर्मचारी व लाभार्थी मौजूद थे। 

Watch This Video Till End….

15 तक चलेगा जनसंपर्क अभियान, कार्यकर्ता घर-घर जाकर देंगे सरकार की उपलब्धियों की जानकारी : भाटिया

सिरसा, 10 सितंबर।


        जन समर्थन यात्रा को लोगों से मिले सहयोग से 75 पार से भी बढकर मिलेंगी सीटें

      जन समर्थन यात्रा को जिस प्रकार से भरपूर सहयोग व समर्थन प्रदेशवासियों का मिला है, उसे देखते हर कोई कह रहा है कि भारतीय जनता पार्टी को 75 पार से भी बढ़कर सीटें विधानसभा चुनाव में मिलेंगी। पूरे प्रदेशभर में 15 सितंबर तक जनसंपर्क अभियान चलाया जाएगा, जिसमें कार्यकर्ता घर-घर जाकर प्रदेश सरकार की उपलब्धियों को बताएंगे।


                  यह बात करनाल के सांसद संजय भाटिया ने मंगलवार को स्थानीय विश्राम ग्रह में एक प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल एक संत समान व्यक्तित्व के धनी हैं और प्रदेश की जनता को ही अपना परिवार समझते हैं। उनके इसी व्यक्तित्व व सेवाभाव से किए विकास कार्यों का ही परिणाम है कि प्रदेशभर से जन आशीर्वाद यात्रा को भरपूर प्यार व जन समर्थन मिला। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रदेश के इकलौते मुख्यमंत्री हैं, जिन्होंने हर विधानसभा क्षेत्र में जाकर विकास कार्यों के लिए घोषणाएं करके सबका साथ-सबका विकास नारे को सार्थक किया। यात्रा के प्रति लोगों के उत्साह व सहयोग का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि बच्चों, युवाओं, बुजुर्गों व महिलाओं सहित सभी वर्ग के लोगों द्वारा न केवल यात्रा का भव्य स्वागत किया गया, बल्कि कई-कई दूर तक यात्रा के साथ भी चले। लोगों के इसी स्नेह व सहयोग को देखकर हर कोई कह रहा है कि अबकी बार फिर बीजेपी की सरकार आएगी और प्रदेश को विकास के मामले में नई ऊंचाईयों पर लेकर जाएगी।


                  श्री भाटिया ने कहा कि आज जिस मुकाम पर भारतीय जनता पार्टी है, उसमें कार्यकर्ताटों का बड़ा योगदान हैं। कार्यकर्ताओं की मेहनत व उनके निस्वार्थ भाव से पार्टी के लिए किए कार्यों के कारण है, दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी होने का तमगा भारतीय जनता पार्टी को मिला है। इसी कड़ी में भारतीय जनता पार्टी द्वारा 11 से लेकर 15 सितंबर तक जनसंपर्क अभियान चलाया जाएगा। इसके तहत हर कार्यकर्ता बूथ स्तर पर जाकर लोगों के द्वार पर पहुंचर सरकार की उपलब्धियों व करवाए गए विकास कार्यों की जानकारी देगा।


                  उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने 2014 में सत्ता में आते ही भ्रष्टाचार पर कड़ा प्रहार करके ईमानदार होने का प्रमाण दे दिया था। प्रदेश सरकार में जितने भी कार्य हुए हैं, पूरी पारदर्शिता व योग्यता के आधार पर हुए हैं। पहले जहां सरकारी नौकरियों में बंदरबांट होती थी और अपने सगे संबंधियों व पहुंच वाले व्यक्तियों को ही सरकारी नौकरी में आने का अवसर प्राप्त होता था। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने आते ही इस व्यवस्था को बदला और नौकरियों में मैरिट को ही इसका पैमाना बनाया। वर्तमान सरकार में मैरिट को पैमाना बनाए जाने से अनेकों गरीब परिवारों के बच्चों को सरकारी नौकरी में आने का अवसर प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार आम जनता की सरकार है। इसमें कोई भी नेता नहीं है और हर वर्ग को साथ लेकर चलने वाली पार्टी है। सरकार की करनी व कथनी में कोई अंतर नहीं है।


                  भाटिया ने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसान, महिला, व्यापारी, खिलाड़ी, मजदूर आदि सभी वर्गों के कल्याण के लिए योजनाएं न केवल लागू किया है, बल्कि धरातल स्तर पर उनका लाभ हर पात्र तक पारदर्शी रूप से पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सभी वर्गों के लिए नई-नई योजनाएं लागू कर रही है जिसका जनता भरपूर फायदा उठा रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब से कश्मीर में धारा 370 व 35ए हटाई है तब से कश्मीर में शांति का माहौल है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने अनेकों ऐतिहासिक व कड़े फैसले लिए हैं, जिनके बारे में आज से पहले किसी ने लेने की हिम्मत तक नहीं दिखाई। पत्रकार द्वारा नशे पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि यदि पार्टी का कोई भी नेता या कार्यकर्ता इसमें संलिप्त पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।  उन्होंने आमजन से अपील की कि वे नशे का विरोध करते हुए कानून का साथ दें ताकि नशा मुक्त समाज का निर्माण किया जा सके।


                  इस अवसर पर जिलाध्यक्ष भाजपा यतिंद्र सिंह एडवोकेट, मार्केट कमेटी ऐलनाबाद के चेयरमैन अमीरचंद मेहता, मार्केट कमेटी डबवाली के चेयरमैन बलदेव सिंह मांगेआना, वरिष्ठï भाजपा नेता प्रदीप रातुसरिया, विजय वधवा, विकास कालुआना सहित अन्य भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।   

Watch This Video Till End….

देश की स्मार्ट सीटी से बेहतर सुविधायें हैं पंचकूला में -ज्ञानचंद गुप्ता

पंचकूला, 10 सितंबर-

विधायक एवं मुख्य सचेतक ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि पंचकूला तेजी से स्मार्ट सीटी बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों में मुख्यमंत्री के सहयोग से पंचकूला नगर निगम क्षेत्र में देश के स्मार्ट सीटी से भी बेहतर सुविधायें उपलब्ध करवाई गई है। 

श्री गुप्ता आज सेक्टर-11 में सीसीटीवी सर्विलांस प्रोजैक्ट के तीसरे चरण का शिलान्यास करने के दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। नगर निगम पंचकूला द्वारा इस चरण में सेक्टर-7, 9, 10, 11, 14 व 15 की मार्किंट में उस तकनीक के 74 कैमरे लगायें जायेंगे। निगम द्वारा प्रथम चरण में 56 और द्वितीय चरण में 323 सीसीटीवी कैमरे पहले ही लगाये जा चुके है। इन सभी कैमरों को सेक्टर-14 पुलिस नियंत्रण कक्ष से जोड़ा गया है और भविष्य में बाजार में होने वाली चोरियां, चैन स्नैचिंग व संदिग्ध गतिविधियों पर और प्रभावी तरीके से नजर रखी जा सकेगी। 

उन्होंने कहा कि नगर निगम पंचकूला प्रदेश का पहला ऐसा नगर निगम है, जिसमें साईकिल शेयरिंग की परियोजना लागू की गई है। यहां तक की चंडीगढ़ जैसे आधुनिक शहर में भी अभी तक यह सुविधा उपलब्ध नहीं है। उन्होंने कहा कि दुकानदारों की मांग पर बूथ और बे-शाॅप की प्रथम मंजिल बनाने की अनुमति दिलवाई गई है और इनमें पेयजल व सिवरेज का कनैक्शन भी लिया जा सकेगा। मार्किंट एसोसियेशन द्वारा व्यवसायिक संस्थानों की फ्लोरवाईज रजिस्ट्री की मांग पर विधायक ने कहा कि यह मुख्यमंत्री के ध्यान में लाकर इस मांग को पूरा करने के भी प्रयास करेंगे। 

विधायक ने कहा कि पंचकूला के विकास पर गत पंाच वर्षों में 2 हजार करोड़ रुपये से अधिक की राशि खर्च की जा चुकी है। शहर में पेयजल की समस्या के समाधान के लिये कैनाल बेस, वाॅटर सप्लाई परियोजना लागू की गई है। सेक्टर-3 के स्टेडियम में मल्टी पर्पज इंडोर स्टेडियम बनवाया गया है, जिसमें राष्ट्रीय स्तर के 12 खेल की प्रतियोगितायें आयोजित करवाने की सुविधा उपलब्ध है। सभी सेक्टरों में सामुदायिक केंद्र बनवायें गये है, केवल सेक्टर-8 में जगह उपलब्ध न होने के कारण यह सुविधा नहीं बन पाई। उन्होंने कहा कि पंचकूला में चंडीगढ़ से भी अधिक 275 छोटे व बड़े पार्क है और उनका रख रखाव भी बेहतर तरीके  से किया जा रहा है। इसके अलावा उन्होंने गत पांच वर्षों में पंचकूला विधानसभा क्षेत्र के शहरी व ग्रामीण इलाकों में करवाये गये विकास कार्यों की विस्तृत जानकारी दी।

इस मौके पर निगम आयुक्त एवं प्रशासक राजेश जोगपाल, कार्यकारी अधिकारी जरनैल सिंह, भाजपा के जिला महामंत्री हरेंद्र मलिक, पूर्व डिप्टी मेयर सुनील तलवार, व्यापार एसोसियेशन के अध्यक्ष राजीव मलिक, भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के संयोजक रोहित सैनी सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Watch This Video Till End….

जल संरक्षण के तहत गांव बणी में क्षमता संवर्धन प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित

सिरसा, 10 सितंबर।


                    पृथ्वी की सतह का 70 प्रतिशत भाग जलमग्न है हम केवल 3 प्रतिशत जल का उपयोग ही कर सकते हैं जल के अभाव में जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती। जनसंख्या और प्राकृतिक संसाधनों का अंधाधुंध दोहन होने से आज मनुष्य के सामने जल की भयंकर समस्या पैदा हो चुकी है।


                    यह बात खंड संसाधन संयोजक हरि सिंह भिंडासरा ने जल स्वच्छता सहायक संगठन द्वारा ग्रामीण जल स्वच्छता समितियों की कार्य कुशलता बढ़ाने के लिए गाव बणी के पंचायत सचिवालय में आयोजित क्षमता संवर्धन प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान कहें। उन्होंने कहा कि बढ़ती जनसंख्या और औद्योगिकरण के तेजी से बढऩे के कारण वन विनाश ने जल संकट को बढ़ावा दिया है साथ ही मनुष्य द्वारा जल संरक्षण जैसे महत्वपूर्ण कार्य ना करके, गलत आदतों के कारण पानी का दुरुपयोग करके जल संकट को बढ़ावा दिया है। उन्होंने कहा कि यदि हमें आने वाली पीढी की चिंता है तो हमें वर्षा जल को इक_ा करके ज्यादा से ज्यादा धरती माता की गोद में डालना होगा अन्यथा हमारी आने वाली पीढिय़ों को पीने वाले पानी की भयंकर समस्या का सामना करना पड़ेगा।


                    खंड संसाधन संयोजक डॉ बलदेव राज ने कहा कि हमें इस विषय पर आज सोचना होगा कि जब हमारे समाज में शिक्षा नहीं थी  तब हमारे बुजुर्ग शुद्ध जल, शुद्ध हवा व  शुद्ध खाना खाते थे लेकिन आज हम सब लोग शिक्षित होने के बावजूद जल ,हवा , खाने को प्रदूषित कर रहे हैं। यह स्थिति आज हमें सोचने पर मजबूर करती है कि हम किस दिशा में जा रहे है। इस अवसर पर खंड संसाधन संयोजक प्रेम सहारण ने जल संरक्षण विषय पर बोलते हुए कहा कि आज हमारी पहुंच में पीने वाला पानी केवल 1 प्रतिशत से भी कम रह गया है जबकि भारत में इस धरती की 16 प्रतिशत जनसंख्या रहती है। उन्होंने कहा कि हमें खेती के लिए जमीन के पानी का कम से कम प्रयोग करना होगा और विकल्प खोजने होंगे दूसरा जल की कुप्रबंधन व्यवस्था को सुधारना होगा और भूमि में से जितना भूजल ट्यूबवेल  के माध्यम से निकाल कर रहे हैं उस मात्रा में भूमि मैं  वापिस मीठा जल डालना  होगा तभी जाकर इस समस्या से निजात पा सकते हैं।


                    इस अवसर पर खंड संयोजक स्वच्छ भारत मिशन बाज सिह ने कहा कि आज पीने वाले पानी में रसायनिक तत्वों की मात्रा बहुत अधिक हो चुकी है उसके लिए कृषि में डालने वाले उर्वरक व कीटनाशक जिम्मेदार है और आज जिसके कारण हमारे पानी में जहर घुल गया है जिससे मानव शरीर को कैंसर जैसे भयानक रोग हो रहे हैं। इस मौके पर विभिन्न 12 गांवों के आंगनवाड़ी, आशा वर्कर, अध्यापक, सरपंच, पंच व ग्रामीण जल स्वच्छता समिति के सदस्यगण उपस्थित हुए।

Watch This Video Till End….

मुख्यमंत्री परिवार समृद्घि योजना के तहत खंड स्तर पर लगेंगे कैंप : वित्त सचिव

सिरसा, 10 सितंबर।

वित्त सचिव टीवीएसएन प्रसाद ने वीडियो कॉफ्रेंस के माध्यम से जिला अधिकारियों को दिए निर्देश


                वित्त सचिव टीवीएसएन प्रसाद ने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार समृद्घि योजना के अंतर्गत पात्र परिवारों के पंजीकरण के लिए 12 व 13 सितंबर को हर खंड में शिविर लगाए जाएं। प्रत्येक शिविर में कम से कम 100 परिवारों का पंजीकरण किया जाए। वित्त सचिव आज वीडियो कॉफ्रेंस के माध्यम से सभी जिलों में परिवार समृद्घि योजना की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।


                    वित्त सचिव ने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार समृद्घि योजना के तहत बीपीएल सूची में शामिल सभी परिवारों के साथ 1.80 लाख रुपये सालाना आदमनी व 2 हेक्टेयर भूमि वाले परिवारों का पंजीकरण किया जा रहा है। इस योजना के तहत पात्र परिवारों के बैंक खाते में प्रतिवर्ष 6 हजार रुपये भिजवाए जााएंगे, जिनसे विभिन्न योजनाओं के तहत उनके द्वारा अदा किए जाने वाले प्रीमियम का भुगतान अपने आप हो जाएगा। इस योजना के बाद कोई भी पात्र परिवार प्रीमियम न भरने के कारण योजना के लाभ से वंचित नहीं रहेगा।


                    उन्होंने कहा कि पंजीकरण कार्य को तेज गति से संपन्न करने के लिए सभी जिलों के प्रत्येक खंड में पंजीकरण शिविर लगाकर पात्र परिवारों का विवरण दर्ज किया जाए। इसके लिए सभी जिलों में बीडीपीओ के माध्यम से 12 व 13 सितंबर को पंजीकरण शिविर लगाए जाएं और पात्र परिवारों से फार्म भरने के साथ-साथ उनके बैंक खाते की पासबुक के पहले पेज की फोटोकॉपी व अन्य दस्तावेज लिए जाएं। उन्होंने प्रत्येक खंड से कम से कम 100 पात्र परिवारों का पंजीकरण करने का लक्ष्य दिया।


                    वीडियो कॉन्फ्रेंस में उपायुक्त अशोक कुमार गर्ग, कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद अमन ढांडा, जिला खजाना अधिकारी सुरेंद्र कुमार, बीडीपीओ बलराज सिंह, वेद प्रकाश, ओम प्रकाश, सहायक सुभाष सहित अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

Watch This Video Till End….

संतुलित आहार ही पोषण का सही आधार : उपायुक्त

सिरसा, 10 सितंबर।

बुरी कुरीतियों को त्यागकर व अच्छी परंपराओं को अपनाकर ही समाज बढ़ेगा आगे


महिलाओं में खून की कमी (अनीमिया) व बच्चों का कुपोषण का शिकार होना स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत ही गंभीर विषय है। 52 प्रतिशत महिलाएं खून की कमी(अनिमिया) व 38 प्रतिशत बच्चे कुपोषण के शिकार हैं। ये प्रतिशतता बहुत अधिक है। अभियान से जुड़े विभागों को सामाजिक संस्थाओं,पंचायतों आदि के साथ बेहतर तालमेल के साथ धरातल स्तर पर काम करना होगा, तभी हम पोषण अभियान को सफल बना सकते हैं।  


ये बात उपायुक्त अशोक कुमार गर्ग ने आज पोषण अभियान के तहत स्थानीय पंचायत भवन में आयोजित कार्यशाला में उपस्थित आंगनवाड़ी वर्कर, आशा वर्कर व हैल्पर को संबोधित करते हुए कही। इस अवसर पर डीएसपी आर्यन, सिविल सर्जन डॉ. वीरेश भूषण, डॉ. गिरीश, सीडीपीओ सरोज रानी, कविता सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। उपायुक्त ने गर्भवती महिलाओं को फ्रूट की टोकरी भेंट कर उन्हें संतुलित आहार बारे प्रेरित किया। पोषण बारे लघु फिल्म भी दिखाई गई तथा विभाग की आंगनवाड़ी वर्कर ने गर्भवती महिला को दिए जाने वाले पोषण आहार पर आधारित एक नाटक भी प्रस्तुत किया।

राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत स्थानीय पंचायत भवन में महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से कार्यशाला का आयोजन


उपायुक्त ने संबोधित करते हुए कहा कि महिलाओं में खून की कमी होना केवल संतुलित आहार का ही न होना नहीं है, बल्कि इसका एक कारण हमारी सांस्कृतिक परंपरा के अनुसार महिलाओं का परिवार को पहले खिलाना और खुद बाद में खाना भी है। महिलाओं को अपने खान-पान के प्रति ध्यान देना होगा। बुरी कुरीतियां व परंपराओं से समाज आगे नहीं बढ सकता है। इसलिए जो बुरी कुरीतियां व परंपराएं हैं, उन्हें त्यागें और जो अच्छी हैं उन्हें अपनाएं। महिलाएं पहले अपने लिए खाना निकाल कर रख लें, ताकि उन्हें पूरा व संतुलित आहार मिल सके और उनकी सभी स्वास्थ्यिक आवश्यकताएं पूरी हो। उन द्वारा ऐसा करना किसी परंपरा व संस्कृति को प्रभावित नहीं करता है। उन्होंने कहा कि देश में 52 प्रतिशत महिलाओं में खून की कमी व 38 प्रतिशत बच्चों का कुपोषण का शिकार होना बड़ा हैरान करने वाला है। इसलिए सरकार द्वारा चलाए गए राष्ट्रीय पोषण अभियान को धरातल स्तर पर एक जन आंदोलन बनाना पड़ेगा और इसमें महिला एवं बाल विकास विभाग की आशा वर्कर, आंगवाड़ी कार्यकर्ताओं आदि की अहम भूमिका रहेगी।

महिलाएं अपने खान-पान व अधिकारों के मामले में ना करें किसी प्रकार का समझौता


उन्होंने कहा कि महिलाओं को अपने खान-पान व अधिकारों के प्रति किसी प्रकार का समझौता नहीं करना चाहिए। महिलाओं को अपने अधिकारों व अवसरों को स्वयं जानना होगा। इसके लिए आशा वर्कर, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एक बेहतर माध्यम बन सकती हैं, क्योंकि महिला समाज से इनका गहरा जुड़ाव रहता है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को पुरानी परंपराओं व संस्कृति का हवाला देकर उनके अधिकारों व अवसरों से वंचित नहीं रखा जा सकता। उदाहरण के तौर पर पर्दा रखने की जो पुरानी प्रथा व परंपरा चली आ रही है, यह भी महिलाओं को आगे बढने में बाधक है। जिला में घुंघट रखने की इस परंपरा को खत्म करने की आवश्यकता है। इसके लिए महिला एवं बाल विकास विभाग अपनी अहम भूमिका निभाएं और इसे भी एक आंदोलन के रूप में जिला में चलाएं। उपायुक्त द्वारा दिए निर्देशों पर महिला एवं बाल विकास अधिकारी ने जिला के दस गांवों को गोद लेकर वहां घुंघट अर्थात पर्दा रखने के प्रति महिलाओं को जागरूक किया जाएगा।
उपायुक्त ने कहा कि जिला को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए अधिक से अधिक प्रचार व प्रसार किया जाए। इसके अलावा रैली, जागरूकता कार्यक्रम तथा नुक्कड़-नाटकों के माध्यमों से लोगों को जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी केंद्रों में गर्भवती व शिशुओं को स्तनपान करवाने वाली माताओं को पोषक आहार व स्वास्थ्य के प्रति विस्तार से जानकारी दें। इसके साथ-साथ उन्हें शिशुओं के पोषक आहार तथा समय-समय पर विभिन्न बीमारियों से बचाव के लिए लगाए जाने वाले टिकों की जानकारी दें।


जिला कार्यक्रम अधिकारी डा. दर्शना सिंह ने जागरूकता गतिविधियों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि महा पोषण अभियान के दौरान आंगनवाडिय़ों में सभी बच्चों का वजन लिया जाएगा और बच्चों का टीकाकरण सुनिश्चित किया जाएगा। सभी आयोजनों के दौरान बच्चों को कम लागत में अधिक पोषण देने वाली रेसिपी जैसे पेठे की बर्फी संपूर्ण आहार पंजीरी आदि के बारे में जानकारी दी जाएगी। बच्चों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए माताओं को व किशोरी बालिकाओं को पोषण बारे जानकारी दी जाएगी। इसके साथ ही घर-घर जाकर सुपरवाइजर व आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा पोषण के बारे में विशेष जानकारी दी जाएगी।

Watch This Video Till End….

Fresh Batch of Coaching Classes for UGC(NET)

Chandigarh:

The Centre for IAS and other Competitive Examinations, Panjab University, Chandigarh is going to start a fresh batch of coaching classes for UGC(NET) paper-1 from 18th  September 2019. The last date for receipt of applications is 17th September 2019.The  registration form is available from the centre  and also available on website// iasc.puchd.ac.in

Watch This Video Till End….

PU organizes Open Mic on World Suicide Prevention Day

Chandigarh:

The Centre for Human Rights and Duties, Panjab University, Chandigarh as part of the activities of Human Rights Volunteers’ Cell for Para Legal Services, organized World Suicide Prevention Day, here today in collaboration with State Legal Services Authority, U.T. Chandigarh at Student’s Centre, Panjab University.


        As part of the event, the department organized open mic on suicide prevention on the theme “Umeed”. The event was organized to encourage students to share their thoughts and experiences on the issue through poetry, storytelling, music and rapping.


        Dr. Namita Gupta, Chairperson, Centre for Human Rights and Duties while introducing the theme stated that “Suicidal behaviour is universal, knows no boundaries so it affects everyone. Preventing suicide is often possible and each one is a key player in its prevention. Hence, we all have to come together to prevent suicide among youth.”
       

Dr. Arzoo, Assistant Professor, Psychology, GMCH-Sector 32 elaborated on how to overcome suicidal thoughts, laid emphasis on communicating with the family and friends about the problems one faces in day-to-day life.  She said that the best way to overcome any problem in life is to talk about it with your near and dear ones.

        Mr. Mahavir Singh, Member Secretary, State Legal Services Authority, U.T. Chandigarh, motivated and encouraged the students to involve themselves in various activities to avoid stress and anxiety which sometimes lead to suicidal thoughts.


        A leaflet on tips related to ‘Self-Care’ in situations of crisis prepared by Ms Surbhi alongwith other volunteers of the Human Rights Volunteers’ Cell for Para Legal Services was also circulated for wider dissemination among the youth. Dr Upneet Kaur Mangat, the Coordinator of the Cell stated that the objective was to generate awareness
on how everyone can make a contribution in preventing suicide.


        Jagminder, a Paracyclist shared his inspiring life story and motivated the students by stating that despite his handicap and various odds, he is successful in life today, as a cyclist and as an artist. He emphasized that we should always keep the hope alive


        The event was a success with the participation of students from various departments of Panjab University.16 students shared their thoughts: Ajay Choudhary, Rajni, Ashima, Kartik, Hiteshi Arora, Rupali Kamboj, Rakesh Kumar and Pardeep Kumari shared poetry on the theme of the event. Jagminder, Gurmohan, Bhavya, and Prakhar
shared their thoughts through stories. Bhavya, Jayantika and Neha sang songs to motivate the audience. Nand Kishore presented a rap and enthralled the audience with a self-composed song.

Watch This Video Till End….

Eco – Friendly Ganesh Chaturthi Celebrated in GH-8, PU

Chandigarh:

A six days long Ganesh Chaturthi was celebrated in the Girls Hostel No. 8 of Panjab University by the residents and staff members of the Hostel.  Ganpati Sthapana took place on 2nd September, 2019 at 8:00 AM in the morning. Morning and evening aarti was done by the residents.  Prof. Neena Capalash, Dean Student Welfare (Women), Wardens of hostels, staff members and hostel residents actively participated in the event. The Ganpati Visarjan took place today after bhajans and aarti in the hostel premises. Students from other departments and other hostels also enthusiastically attend the event.  Keeping in mind the environment, eco – friendly idol of Ganesha made of mud,
after visarjan dissolved in water and Tulsi was planted in the pot.The event was organized to create a homely environment for the residents of the hostel and everybody participated with full zeal and enthusiasm.

Watch This Video Till End….