UT Adviser calls for Plastic Free Chandigarh

Chandigarh, September 9:- Sh. Manoj Kumar Parida, IAS, Adviser to the Administrator, UT, Chandigarh today called a meeting regarding campaign against use of plastic items in Chandigarh. During the meeting Sh. Arun Kumar Gupta, IAS, Principal Secretary, Home, Sh. Ajoy Kumar Sinha, IAS, Finance Secretary, Sh. K.K. Yadav, IAS, Commissioner, Municipal Corporation, other senior officers of different departments of UT and officers of MCC were present.

The Adviser directed all the senior officers of different departments of UT to launch different campaigns to make Chandigarh free from plastic. He said that we must think of technologies to abolish plastic usage in the city and tell all the shopkeepers to sell jute and cloth bags only and citizens should adopt ways to reduce plastic usage.

 The Commissioner, Municipal Corporation Chandigarh apprised about the awareness programme besides taking measures to reduce plastic from the city. He said that a mass awareness campaign against the use of plastic under the theme “Plastic Mukt Bharat” would be launched on 11th September, 2019. During the campaign different programmes would be conducted in three phases i.e. from 11th September to 1st October, 2019 awareness programmes; “Shramdaan” as mass movement on 2nd October in 2nd phase and Recycle/disposal of collected plastic waste, leading to a plastic free Diwali programmes from 3rd October to 27th October, 2019 in 3rd Phase.

The Commissioner said that the campaigns would be focused to ensure that all the coming festivals are zero-waste and plastic free events to make “Plastic Free City”. He said that each and every stakeholder of the city will be involved in this campaign. He said that seminars would be organized in schools, colleges and other educational institutions on plastic free Chandigarh. Volunteers of NSS, NCC, Scouts & Guide would be roped in this mass campaign.

He further elaborated that Govt. Hospitals, Private Hospitals would ensure the ban against usages of single use plastic in their institutions and encourage mobile food suppliers, eateries, restaurants to use alternate means instead of plastic. Similarly, sports department would create mass mobilization programme by involving sports persons and organize rallies throughout city.

The Commissioner said that Social Welfare Department will sensitize citizens through Aanganwari workers, self help groups against the usage of single use plastic items. Engineering department, Chandigarh will carry out mass plaguing programmes to clean three choes running through city i.e. Patiala Ki Rao, N-Choe and Sukhna Choe besides cleaning the traditional and artificial water bodies in the city.

He said that the Administration would encourage people for setting up of Bartan Bhandars, Jhola bhandars, which would be used during the “Langars”, public functions and festivals. The Commissioner said that the Director Food and Supplies, Chandigarh would encourage shopkeepers to display boards in their shops carrying slogan “we don’t use plastic bags” and Industries department would hold meetings with Fast moving consumer goods/manufacturers/users to discuss how they can contribute to the theme as part of their extended producer responsibilities mandate.

Similarly, the Chandigarh pollution control committee and department of environment & forests would felicitate NGOs/citizens etc. who have done exemplary work on the plastic ban theme.

The Commissioner said that the Municipal Corporation Chandigarh would conduct massive awareness programmes, activities in urban and rural areas besides encouraging citizens and organizations on replacing plastic bags by cloth bags. He said that MCC would identify locations for plastic waste collection and segregation; to plan transportation & logistic of plastic to collection hub; to integrate in formal rag pickers, junk dealers, recyclers into the formal waste management system; to set up adequate number of material recovery facilities to handle recyclable/processing of plastic waste and incentivize citizens to deposit plastic waste at ULB-authorized collection centres.

He said that mass level programmes would be conducted on 2nd October to take pledge for a plastic waste free city and organize “Shramdaan” for plastic waste collection in order to make Chandigarh plastic free. One day of every month will be earmarked as “Plastic Free day” in Chandigarh. He further said that complete ban on usage of any single use plastic items would be declared on 2nd October, 2019.

Watch This Video Till End….

निर्वाचन विभाग द्वारा मतदाताओं को जागरूक करने के लिये शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में जागरूकता वैन के माध्यम से वोट बनवाने और मताधिकार का प्रयोग करने का संदेश दिया जा रहा है।

पंचकूला, 9 सितंबर-

निर्वाचन विभाग द्वारा मतदाताओं को जागरूक करने के लिये शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में जागरूकता वैन के माध्यम से वोट बनवाने और मताधिकार का प्रयोग करने का संदेश दिया जा रहा है। 

यह जानकारी देते हुए उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डाॅ मुकेश आहूजा ने बताया कि इस कार्यक्रम के तहत आज गांव नग्गल भागा, कडीयाला, पौरिया, खेडा सीताराम, टंगरा साहू, सेक्टर-11 पंचकूला, सेक्टर-12, 12ए, सेक्टर 14 व 15 में जागरूकता गतिविधियां चलाई गई।  उन्होंने बताया कि इन जागरूकता गतिविधियों के तहत जहां प्रचार समाग्री के माध्यम से 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुके युवाओं, विद्यार्थियों को वोट बनवाने के लिये प्रेरित किया जा रहा है वहीं मतदात प्रतिशत बढ़ाने के लिये मतदाताओं को अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिये प्रोत्साहित किया जा रहा है। 

उन्होंने बताया कि 10 सितंबर को सेक्टर-15 इंडस्ट्रियल एरिया फेस 2, सेक्टर 17  व 18 में तथा गांव टंगरा कलीराम, गरीडा, कीरतपुर, बसावल, माजरी जट्टा में इस तरह की गतिविधियां चलाई जायेंगी। इसी प्रकार 11 सितंबर को सेक्टर-19, हरिपुर, देवीनगर, नाडा सहिब, नग्गल मोंगीनंद, धमाला, सूखा माजरी, वाजेपुरा, कालका में मतदाता जागरूकता गतिविधियां चलाई जायेंगी।

Watch This Video Till End….

भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए केंद्रीय जलशक्ति, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रतनलाल कटारिया।

पंचकूला, 9 सितंबर-

केंद्रीय जलशक्ति, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रतनलाल कटारिया ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार जल संचय के लिये दूरगार्मी सोच के तहत कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने 79000 करोड़ रुपये की लागत से देश में 1.11  करोड़ जल संचय स्थल विकसित करने का लक्ष्य निर्धारित किया हैं। उन्होंने कहा कि वर्षा का केवल 8 प्रतिशत जल ही संचय हो पाता है और अधिक से अधिक जल संचय के लिये नदियों को जोड़ने की परियोजना पर भी युद्धस्तर पर कार्य चल रहा है। 

श्री कटारिया आज अपने आवास पर भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ अपने मंत्रालय से संबंधित योजनाओं पर चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वर्ष 2060 तक भारत की आबादी 164 करोड हो सकती है और इतनी आबादी के पर्याप्त जल उपलब्ध करवाने के लिये वर्तमान जलापूर्ति से तीन गुणा जल की आवश्यकता होगी। उन्होंने कहा कि सरकार जल प्रबंधन पर गंभीरतापूर्वक कार्य कर रही है और पिछले तीन वर्षों में जल प्रबंधन से जुड़ी परियेाजनाओं पर 23 हजार करोड़ रुपये की राशि खर्च की गई है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को देश के नाम संबोधन में जल संचय पर विशेष बल दिया था और उन्होंने इस कार्य के लिये 3.50 लाख करोड़ के संसाधन उपलब्ध करवाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। उन्होंने कहा कि इस समय देश के केवल 3.50 करोड़ परिवारों को नल से जल उपलब्ध है और शेष 13.50 करोड़ परिवारों को वर्ष 2024 तक चरणबद्ध तरीके से यह सुविधा उपलब्ध करवाई जायेंगी ताकि प्रधानमंत्री के देश के हरघर में नल से जल आपूर्ति के सपने का पूरा किया जा सकता है। 

केंद्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने 100 वर्ष के कार्यकाल में ऐतिहासिक निर्णय लिया हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर के लोगों के विकास और आतंकवाद के समूल नाश के लिये अनुछेद 370 व 35ए को समाप्त किया गया है। मुस्लिम महिलाओं को उनका अधिकार देने के लिये तीन तालाक जैसे महत्वपूर्ण बिल सहित इस अवधि में 37 कानून पास किये गये है जो भारतीय संसद का रिकोर्ड है। उन्होंने कहा कि 2 अक्तूबर से देश को प्लास्टिक मुक्त बनाने का अभ्यान आरंभ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश में लगभग 53 लाख टन सिंगल यूज पाॅलिथीन बैग प्रतिवर्ष उत्पादन किया जा रहा है, जो पर्यावरण को बहुत बड़.ा नुकसान पंहुचा रहा है। 

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने हरियाणा में 11 सितंबर से एक व्यापक जन संपर्क अभियान आरंभ करने का निर्णय लिया है। इसके लिये प्रदेश के सभी नेताओं को जिम्मेवारियां सौंपी गई है। अंबाला संसदीय क्षेत्र में यमुनानगर जिला के लिये उन्हें (श्री कटारिया), पंचकूला जिला के लिये विधायक एवं मुख्य सचेतक ज्ञानचंद गुप्ता और अंबाला जिला के लिये स्वास्थ्य, खेल एवं युवा कार्यक्रम मंत्री श्री अनिल विज को जल संपर्क अभियान की जिम्मेवारी सौंपी गई है। 

Watch This Video Till End….

मोतीलाल नेहरू खेल विद्यालय राई सोनीपत में चैथी कक्षा में दाखिले के लिये योग्य विद्यार्थी 30 अक्तूबर तक आवेदन कर सकते है।

पंचकूला, 9 सितंबर-

मोतीलाल नेहरू खेल विद्यालय राई सोनीपत में चैथी कक्षा में दाखिले के लिये योग्य विद्यार्थी 30 अक्तूबर तक आवेदन कर सकते है। इस तिथि तक आवेदन न होने की स्थिति में 500 रुपये लेट फीस के साथ आवेदन करने की तिथि 15 नवंबर है।

यह जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इस विद्यालय में चैथी कक्षा के लिये 8 वर्ष से 10 वर्ष आयु वर्ग के 100 विद्यार्थियों का दाखिला किया जाता हैं। इनमें से 50 सीटें छात्रों व 50 सीटें छात्राओं के लिये आरक्षित है। उन्होंने बताया कि कुल सीटों में 80 प्रतिशत सीटें हरियाणा के स्थाई निवासियों व 20 प्रतिशत सीटें अन्य राज्यों के विद्यार्थी आवेदन कर सकते है। उन्होंने बताया कि आवेदक की आयु 30 जून 2020 को आधार मानकर तय की जायेगी।

Watch This Video Till End….

हरियाणा सरकार द्वारा मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत योग्य लाभपात्रों को प्रतिवर्ष 6 हजार रुपये की राशि उपलब्ध करवाई जायेंगी।

पंचकूला, 9 सितंबर-

हरियाणा सरकार द्वारा मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत योग्य लाभपात्रों को प्रतिवर्ष 6 हजार रुपये की राशि उपलब्ध करवाई जायेंगी। इसके लिये योग्य पात्र आवश्यक दस्तावेज स्वयं सत्यापित करके जिला खजाना कार्यालय लघु सचिवालय सेक्टर 1 में जमा करवाने होंगे। 

जिला खजाना अधिकारी श्रीमती सुनीता पातड़ ने बताया कि इस योजना का लाभ ऐसे लोगों को दिया जायेगा, जिनकी वार्षिक आय 15 हजार रुपये महीना या 1 लाख 80 हजार रुपये वार्षिक अथवा इससे कम है। ऐसे किसान जिनके पास पांच एकड़ भूमि है और उनकी वार्षिक आय 1.80 लाख रुपये से कम है वे भी इस योजना के पात्र है। उन्होंने बताया कि योजना के लाभ के लिये पात्र व्यक्तियों को जिला खजाना कार्यालय में अपने दस्तावेज जमा करवाने होंगे और लाभ की यह राशि सीधे प्रार्थी के बैंक खाते में जमा की जायेगी। उन्होंने जिला के सभी योग्य पात्रों से इस योजना का लाभ हासिल करने के लिये अपने दस्तावेज शीघ्र जमा करवाने का अनुरोध किया है।

Watch This Video Till End….

Dr. Paresh remembered at PU

Chandigarh September 9, 2019

        Hindi Vikas Parishad organized function in the memory of Dr. Paresh, a renowned poet, writer and an eminent Professor at the  Department of Hindi, Panjab University. He was an alumnus of this Department, a student and research scholar of Aacharya Hazari Prasad Dwivedi. Dr. Paresh also held UGC Professor Emeritus fellowship.


        The function was presided over by Dr. Shankar ji Jha,  Dean of University Instruction, Prof. Bhupendra Brar,  Former Dean of University Instructions and Dr.Ramesh Kuntal Megh, an eminent Hindi writer.   


        Dr. Raj Kumar Malik conceptualised and coordinated the program.  The programme was started with the Saraswati Vandana by Harish Sharma, a well-known devotional singer. The select invited poets included Ratan Chand Ratnesh, Rajwanti Mann, Gurmit Bedi, Bhupendra Brar, Satyapal Sehgal, Prasoon Prasad , Aditya Niyogi, Vijaya Singh, 
Vijay Kapoor,  Babita Kapoor, Balvender Bhushan, Anita Surbhi,  Kumar Krishna, Daljit Kaur, Ritu Bhanot, Chander Trikha,  Vibha Upbheja Ray, Phool Chand Manav, Prem Vij,  Sushil Hasrat Narelvi, Vimal Kalia Vimal, Praveen Sudhakar, Jaipal Thakur,  Dr. Arvind Drivedi, Dr Naveen regaled the audience with their choicest poems. The kavi darbar was
attended by Faculty members from various disciples like English, Microbiology, Public administration, political science and persons from various walks of life.


        Dr Latika Sharma, Professor, Department of Education and daughter of Dr Paresh presented the vote of thanks.  Books by Prof Paresh were on display which the participants collected with literary enthusiasm. 

Watch This Video Till End….

सरकार से मिली धनराशि का सदुपयोग करें गौशाला संचालक : दुग्गल

सिरसा, 9 सितंबर।


सांसद श्रीमती सुनीता दुग्गल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की केंद्र व प्रेदश सरकार ने गौ सरंक्षण की दिशा में अनेकों योजनाएं लागू की हैं। गौशालाओं को स्वावलंबी व सशक्त बनाने के लिए उन्हें समय-समय पर आर्थिक सहायता दी जा रही है। इसी कड़ी में प्रदेश की सभी गौशालाओं को चारे व शैड बनाने के लिए आर्थिक सहायता हेतू चैक वितरित किए जा रहे हैं।

सिरसा की 119 गौशालाओं को मिली एक करोड़ 84 लाख की सहायता राशि


वे सोमवार को श्रीगौशाला में आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित लोगों व गौशाला संचालकों को संबोधित कर रही थी। इस दौरान गौ सेवा आयोग के चेयरमैन भानीराम मंगला भी उपस्थित थे। संयुक्त रूप से दोनों ने जिला की सभी 119 गौशाला संचालकों को एक करोड़ 84 लाख रुपये के चैक भी वितरित किए। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष भाजपा यतिंद्र सिंह एडवोकेट व पशुपालन विभाग के उप निदेशक डा. सुखविंद्र सिंह भी मौजूद थे।


सांसद ने कहा कि हमारी संस्कृति में गाय को माता का दर्जा दिया गया है। जिस प्रकार से हम अपनी मां के प्रति कर्तव्यनिष्ठ है, ठीक उसी प्रकार हमारी गाय माता के सरंक्षण के लिए अपने कर्तव्य व जिम्मेवारियों को निभाते हुए इस दिशा में प्रदेश सरकार के कार्यों का सहयोग करें। उन्होंने गौ सरंक्षण भारतीय जनता पार्टी की सरकार की प्राथमिकताओं में से एक है और इसी के अनुरूप कार्य भी किए जा रहे हैं। पहले की किसी भी सरकार ने गाय की सूद नहीं ली। वर्तमान सरकार में जहां प्रदेश की गौशालाओं को 80 करोड़ रुपये की राशि गौशालाओं के निर्माण व उनमें सुविधाओं की उपलब्धता बारे दी जा चुकी है, जबकि पूर्व की सरकारों में अपने शासनकाल में केवल एक करोड़ 90 लाख रुपये की ही राशि आवंटित की थी। इससे साफ पता चलता है कि पूर्व की सरकारें गाय की सेवा के लिए कितनी गंभीर थी और वर्तमान सरकार कितनी गंभीर है।

सांसद सुनीता दुग्गल व गौ सेवा आयोग के चेयरमैन भानी राम मंगला गौशाला संचालकों को वितरित किए चैक


उन्होंने उपस्थित गौशाला संचालकों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार द्वारा जो राशि गौशाला के संचालन हेतू दी जाती है, उसका सदुपयोग करना आप लोगों का न केवल कर्तव्य है बल्कि मानवता के नाते पुण्य का कार्य भी है। इसलिए सरकार द्वारा जो यह राशि दी गई है, उसे निर्धारित कार्यों को पूरा करने में ही लगाया जाए और किसी भी पैसे का दुर्पयोग ना होने पाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार गांवों व शहरों को फ्री कैटल बनाने के लिए कृतसंकल्प है। सभी गौशाला संचालक व जिलावासी इस अभियान में अपनी भागीदारी निभाए और इसे सफल बनाने की दिशा में काम करें।


हरियाणा गौ सेवा आयोग के चेयरमैन भानी राम मंगला ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश में बनी 590 गौशालाओं में हर सुविधा देने के लिए योजनाएं बनाई जा रही है तथा गौशालाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए प्रोजेक्ट भी शुरु किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि सिरसा जिला की 119 गौशालाओं को एक करोड़ 84 लाख रुपये के चैक वितरित किए गए हैं। इस राशि का प्रयोग गौशालाओं में चारे तथा 5 गौशालाओं में शैड का निर्माण कार्य के लिए किया जाएगा। केवल सिरसा जिले में 9 करोड़ से अधिक राशि गौशालाओं के निर्माण व चारे के लिए वितरित की जा चुकी है। उन्होंने सभी गौशालाओं के प्रतिनिधियों से कहा कि सरकार द्वारा दी जा रही राशि का सदुपयोग करें तथा गांवों व शहरों को कैटल फ्री करने में अपनी भूमिका अदा करें।


उन्होंने कहा कि गौशालाओं से हमें सिर्फ गोबर व मूत्र के रूप में दो ही चीजें प्राप्त हो सकती है। ये दोनों ही मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए अमृत के समान है। गाय के मुत्र से विभिन्न औषधियां बनाई जा सकती है तथा गोबर से खाद,लकड़ी तथा बॉयोगैस जैसे प्लांट स्थापित किए जा सकते हैं। उन्होंने गौशालाओं के प्रतिनिधियों से कहा कि गौअर्क तथा गोबर को स्टोरेज करें तथा जहां-जहां पर बॉयोगैस प्लांट है वहां भेजें।


इस अवसर पर देव कुमार शर्मा, राम लाल बागड़ी, डा. वीएस बांसल, डा. जगमिंद्र गिल, प्रधान गौशाला राजेंद्र रातुसरिया, सचिव गौशाला प्रेम कंदोई, पार्षद सुमन शर्मा व अन्य गणमान्य व्यक्ति तथा गौशालाओं के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

Watch This Video Till End….

सिरसा से जन आशीवार्द यात्रा को मिला आपार जनसमर्थन पार्टी के अबकी बार 75 पार नारे को करेगा पूरा : दुग्गल

सिरसा, 9 सितंबर।

सांसद सुनीता दुग्गल ने मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा के भव्य स्वागत व भारी समर्थन के लिए सिरसावासियों को किया धन्यवाद


सांसद श्रीमती सुनीता दुग्गल ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की जन आशीर्वाद यात्रा को सिरसा में बहुत ही बड़ा जनसमर्थन मिला और जगह-जगह पर भव्य स्वागत किया। यात्रा को दिए इतने प्यार व स्नेह के लिए पूरा सिरसा जिला धन्यवाद का पात्र है। पूरे प्रदेश में यात्रा को मिले भारी जनसमर्थन को देखते हुए कहा जा सकता है कि भारतीय जनता पार्टी का अबकी बार 75 पार का जो नारा अवश्य ही पूरा होगा और सिरसा जिला उसमें भागीदार होगा।


वे आज यहां स्थानीय विश्राम गृह में सिरसा वासियों द्वारा मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा को दिए जनसमर्थन व भव्य स्वागत के लिए धन्यवाद स्वरूप एक प्रेसवार्ता को संबोधित कर रही थी। इस अवसर जिलाध्यक्ष भाजपा यतिंद्र सिंह एडवोकेट, पूर्व चेयरमैन रेणू शर्मा, युवा भाजपा नेता मुनीष सिंगला, विनोद स्वामी, नक्षत्र सिंह, पार्षद सुमन शर्मा, राजेश शर्मा, वीरभान मेहता सहित अन्य भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।


सांसद दुग्गल ने कहा कि जिला में जिस प्रकार से जन आशीर्वाद यात्रा को भव्य व जोरदार स्वागत हुआ है, उससे भारतीय जनता पार्टी के अबकी बार 75 पार के नारे को कोई रोक नहीं सकता है। सिरसा यात्रा को सुबह से लेकर रात तक बच्चों, युवाओं, बुजुर्गोँ व महिलाओं से लेकर हर वर्ग का जो प्यार व सत्कार मिला है, उसके लिए मैं पूरा सिरसावासियों को तहदिल से धन्यवाद करती हूं। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से लोकसभा में चुनाव में पूरे सिरसा से भारतीय जनता पार्टी को जीत मिली थी, ठीक उसी प्रकार आने वाली विधानसभा चुनाव में क्षेत्र की पांचों विधानसभा सीटों पर कमल का फूल खिलेगा।


उन्होंने कहा कि जिस उम्मीद व आशा से सिरसावासियों ने मुझे देश की संसद में भेजने का काम किया, मैं भी उसी के अनुरूप दिन-रात उन्हें पूरा करने के लिए प्रयासरत हूं। कुछ दिन पहले जयपुर में हुई रेलवे बैठक में उन्होंने क्षेत्र में रेलवे सुधार की दिशा में अनेक प्रस्ताव रखे। इनमें रेलवे स्टेशन पर फूड-प्लाटा, एटीएम आदि शामिल थे। उन्होंने कहा कि फतेहाबाद में आजादी के बाद से अब तक कोई भी रेलवे लाईन नहीं बनी है। वहां के लोगों के लिए यह एक बहुत ही बड़ी व आवश्यक मांग है। मैंने जयपुर बैठक में फतेहाबाद में रेलवे लाईन बिछाने के संबंध में भी प्रस्ताव रखा है। इसके अलावा जो रेल गाडिय़ां कई-कई घंटों हिसार रेलवे स्टेशन पर खड़ी रहती हैं, उनके सिरसा तक विस्तारीकरण बारे भी प्रस्ताव रखा गया है, ताकि सिरसा के लोगों का हिसार के आने-जाने में सुविधा हो और आपसी मेलजोल बढे।

यहां कोटन ऐरिया को देखेते हुए मुख्यमंत्री से इंडस्ट्रीज लगाने बारे की बातचीत, युवाओं को नशे से दूर रखकर मुख्यधारा में जोडऩे का है प्रयास


पत्रकारों द्वारा नशे की दिशा में उन द्वारा किए गए प्रयासों बारे पूछे सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सांसद बनते ही मैंने इस क्षेत्र से नशे को दूर करने के काम को अपनी प्राथमिकताओं में रखा था और आज भी है। क्षेत्र को नशा मुक्त करने व युवाओं को इससे बचाने के लिए वे दिन-रात काम कर रही है और इस दिशा में सुधार के बारे में ही सोचती हैं। इसी कड़ी में उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से बातचीत की थी। मुख्यमंत्री ने भी इस बारे सहमति जताई थी कि यहां पर कोटन का अच्छा खासा क्षेत्र है, क्यों ना यहां पर कोई इससे संबंधित इंडस्ट्रीज लगाई जाए। इससे यहां के युवा को रोजगार भी मिलेगा और नशे से भी बचेगा। उन्होंने कहा कि जो युवा नशे की लत में पढ़ चुके हैं अगर वे छोडऩा चाहते हैं तो राज्य सरकार द्वारा उनका पूरा सहयोग किया जाएगा। सरकार ऐसी संस्थाओं व लोगों को जो नशा मुक्ति को लेकर कार्य कर रहे हैं, उनका हर तरह से सहयोग कर रही है।

प्रेसवार्ता में गौ सेवा आयोग के चेयरमैन भानी राम मंगला ने गौशालाओं को दिए जा रहे अनुदान के बारे में दी जानकारी


हरियाणा गौ सेवा आयोग के चेयरमैन भानी राम मंगला ने प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि बताया कि प्रदेश सरकार गौ वंश की सेवा के लिए हर कार्य के लिए कृतसंकल्प है और इस दिशा में पूरे जोश से कार्य किया जा रहा है। अब तक सरकार द्वारा 80 करोड़ रुपये तीन साल के दौरान गौ वंश पर खर्च किए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में 590 गौशाला है जिसमें से सबसे अधिक सिरसा जिले में 130 गौशाला हैं। उन्होंने कहा कि गौवंश की ट्रेकिंग की जाएगी तथा कोई भी व्यक्ति अगर अपनी गाय को आवारा छोड़ देता है तो उस पर 5100 रुपये जुर्माना लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि अबतक 250 गौशाला में एक लाख 20 हजार से भी अधिक आवारा पशु भेजे गए हैं।


भानी राम मंगला ने बताया कि सरकार द्वारा अब एक नया प्रोजेक्ट शुरु किया जा रहा है जिसमें गायों के गोबर व मुत्र से धूप, अगरबत्ती, गमले तथा लकड़ी बनाई जाएगी। इस प्रोजेक्ट के माध्यम से सभी गौशालाओं में 90 प्रतिशत अनुदान पर मशीने दी जाएगी ताकि सभी गौशालाएं स्वावलंबी बने और उन्हें किसी के आगे हाथ न फैलाना पड़े। उन्होंने बताया कि इसी प्रकार एक पायलेट प्रोजेक्ट मेवात में लगाया जाएगा जिसमें गोबर से बॉयोगैस बनाने का प्लांट लगाया जाएगा। इस प्लांट के माध्यम से रसोई इंधन लोगों को उपलब्ध करवाया जाएगा जोकि 400 रुपये तक का खर्चा प्रत्येक परिवार को देना होगा। इस प्लांट को लगाने के लिए एक निजी कंपनी से संपर्क किया गया है। प्लांट को लगाने के लिए 25 प्रतिशत कंपनी तथा 75 प्रतिशत आयोग द्वारा खर्च किया जाएगा। लाभ का 75 प्रतिशत गौशालाओं को दिया जाएगा।


उन्होंने बताया कि समय-समय पर किसानों को जैविक खाद प्रयोग करने के लिए भी जागरुक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आयोग द्वारा जिन गांवों में गौशाला नहीं है, मनरेगा की सहायता से गौशाला बनाने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि नए-नए जैसे बॉयोगैस, सौलर प्लांट तथा बॉयोगैस के सिलेंडर जैसे प्रोजेक्ट तैयार कर गौशालाओं को मजबूत तथा स्वावलंबी बनाया जा रहा है। उन्होंने पत्रकारों के सवाल के जवाब में बताया कि आवारा पशुओं को पकड़ कर नंदीशाला व गौशाला भेजा जा रहा है। परंतु हरियाणा की सीमा राजस्थान व पंजाब से सटे होने के कारण हम पूरी तरह से कैटल फ्री नहीं कर पा रहे हैं। इसके लिए भी योजनाएं बनाई जा रही है ताकि पूरे प्रदेश को कैटल फ्री किया जा सके।   

Watch This Video Till End….