Weekly Ward Level Meeting of MCC held

Chandigarh, September 03:- The Weekly Ward Level meeting of Municipal Corporation Chandigarh was held under the chairmanship of Sh. Rajesh Kumar, Mayor of Chandigarh which was attended by councilors namely Sh. Mahesh Inder Singh, Smt. Raj Bala Malik, Sh. Ravi Kant Sharma and Smt. Suntia Dhawan Ward no. 1, 2, 3 and 4 respectively.

       Sh. Shailender Singh, SE, Public Health, Sr. Sanjay Arora, SE (B&R), Executive Engineers and other concerned officers were present during the meeting. In the meeting following issues of ward wise discussed in details:

Ward-01

·        Remove the garbage from the Road berms.

·        Recarpeting of Roads in the ward.

·        Patch work at the road of Sector 8.

·        Provision of paver block in V-6 road side at Sector 8-C.

Ward – 02

·        Recarpeting of Roads.

·        Road berms be cleaned on regular basis.

·        Pruning of trees along road side.

·        Dustbins in parks be cleaned regularly.

·        Illegal encroachments be removed from Market area.

Ward – 03

·        Garbage point be redesignated at Sector 22.

·        Underground dustbin in sector 22 be repaired and maintained properly.

·        Cutting the Grass on V-5 Road berms.

·        Repair the paver block on V-5 road.

·        Renovation the community centre sector 22.

·        Check the status of Community Centre sector 16 & 22 in regard to major/minor repairs required.

·        The area of old SSK be leveled near Nehru park.

·         Light points in roads at sector 22 B&C be checked and repaired immediately.

·        Repair the Street light at the Moonlight Park, sector 22.

·        Maintenance/Repair of Public Toilets in Sector 16 & 22 Market.

Ward – 04

·        Check the leakage of the roof  in  Janj Ghar and repair immediately.  

·        Additional toilet blocks be provided in Fragrance garden, sector 36.

·        Fountain in Bamboo garden, sector 23 be maintained properly.

·        Toilet block in Bamboo garden, sector 23 be dismantled immediately.

·        Leveling of tiles of booth market, sector 23.

·        Strengthening of water supply line in sector 23-C.

·        Proper cleaning of the toilet block in market sector 23 –C.

·        Repair the lights on V-6 road, Sector 36-A.

Watch This Video Till End….

विश्व जिस आदिशक्ति को नहीं समझता, भारतीय देते हैं उसका प्रत्यक्ष प्रमाण : प्रो. गणेशीलाल

सिरसा 3 सितंबर।

ओडि़शा के राज्यपाल प्रो. गणेशीलाल ने की केसीएम रिसोर्ट में आयोजित अनुठा कन्यादान एवं प्रभु समर्पण समारोह में शिरकत


               भारतीय संस्कृति ने विश्व को आध्यात्मिक ज्ञान के साथ-साथ विद्या के स्वरूप को समझाने का काम किया है। जिस आदिशक्ति महामाया को विश्व अपनी समझ से परे समझता आया है, उसे भारतीयों ने प्रत्यक्ष रूप से उतारा है। 


                 ये विचार ओडि़शा के राज्यपाल प्रो. गणेशीलाल ने गत सांय स्थानीय केसीएम रिसोर्ट में ब्रह्मïा कुमारी सिरसा की ओर से आयोजित अनुठा कन्यादान एवं प्रभु समर्पण समारोह में संबोधित करते हुए कहे। समारोह में चार लड़कियों ने अपने आपको भगवान को समर्पित करते हुए अध्यात्मिक जीवन की राह पर चलते हुए समाज सेवा का प्रण लिया। इस अवसर पर माउंट आबु से मृत्युंजय, बठिण्डा से बहन कैलाश, मानसा से बहन सुदेश, सिरसा ब्रह्मïा कुमारी आश्रम से बहन बिंदु, युवा भाजपा नेता मुनीष सिंगला, विनोद स्वामी, राजेश शर्मा, पार्षद सुमन शर्मा भी मौजूद थे।


                 महामहिम राज्यपाल प्रो. गणेशीलाल ने संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति में आध्यात्मिकता का विशेष महत्व आदिकाल से रहा है। विश्व को अध्यात्मिकता का व्यापक स्वरूप भारत ने ही समझाया है। आदिशक्ति महामाया अध्यात्मिकता का ही एक पहलू है और जिस आदिशक्ति महामाया को विश्व समझता नहीं है, हम भारतीय उसे प्रत्यक्ष में उतारते हैं। उन्होंने कहा कि गुणातीत, शब्दातीत, कालातीत होना आसान नहीं है। भूत, भविष्य, वर्तमान व तमस से परे तो केवल आदिशक्ति महामाया हो सकती है। उन्होंने कहा कि सत्य के स्वरूप को भी हमी ने विश्व को समझाया है। गीता के 13वें अध्याय में गवान श्री कृष्ण ने कहा है कि सत्य कभी मरता नहीं और मैं ना सत्य हूं और ना ही असत्य। मैं तो इन दोनों से परे हूं। निर्गुण की कल्पना करना और सगुण के माध्यम से उसे प्राप्त करना बहुत कठिन है, लेकिन मीरा ने भगवान श्री कृष्ण के प्रेम व भक्ति में यह करके दिखाया। उन्होंने कहा कि उपनिषदों में कहा गया है कि ‘असतो मा सदगमय ॥ तमसो मा ज्योतिर्गमय ॥ मृत्योर्मामृतम् गमय ॥Ó अर्थात  हमें असत्य से सत्य की ओर ले चलो, अंधकार से प्रकाश की ओर ले चलो, मृत्यु से अमरता की ओर ले चलो। 


                 उन्होंने कहा कि विद्या विनम्रता देती है, विद्या अमृत के समान है। यह मनुष्य में आत्मस मान की भावना पैदा करती है। इसके बिना मनुष्य मृत देय के समान है। यदि इसका उपयोग समाज की सेवा के लिए न किया जा सके तो व निर्रथक है। उन्होंने यम और नचिकेता के संवाद का उदाहरण देते हुए कहा कि यम ने नचिकेता को दुनिया भर का एश्वर्य, धन, सफलता और प्रसिद्घि का लालच दिया लेकिन नचिकेता ने केवल आत्मज्ञान मांगा। इस अवसर पर सिरसा ब्रह्मïा कुमारी आश्रम से बहन बिंदु ने सभी का स्वागत किया। कार्यक्रम में माउंट आबु से मृत्युंजय, बठिण्डा से बहन कैलाश, मानसा से बहन सुदेश ने भी आमजन को संबोधित किया। इस अवसर पर लालचंद गौदारा, दीपिका जैन सहित भारी संख्या ब्रह्मïाकुमारी बहनें व आमजन मौजूद थे।

Watch This Video Till End….

पंचकूला के एसडीएम सुशील कुमार ने अपना पदभार ग्रहण कर लिया है।

पंचकूला, 3 सितंबर-

पंचकूला एसडीएम सुशील कुमार। 

पंचकूला के एसडीएम सुशील कुमार ने अपना पदभार ग्रहण कर लिया है। पंचकूला की एसडीएम ममता शर्मा के स्थानांतरण उपरांत सुशील कुमार को पंचकूला का एसडीएम लगाया गया है। 

वर्ष 2016 बैच के हरियाणा सिविल सेवा अधिकारी सुशील कुमार इससे पूर्व अम्बाला और कैथल के नगराधीश सहित प्रदेश में अन्य पदों पर अपनी सेवायें दे चुके है। 

जिला बाल कल्याण परिषद द्वारा आज सार्थक मॉडल स्कूल सेक्टर 12 पंचकूला में बच्चों की चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित करवाई गई।

पंचकूला, 3 सितंबर-

जिला बाल कल्याण परिषद द्वारा आज सार्थक मॉडल स्कूल सेक्टर 12 पंचकूला में बच्चों की चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित करवाई गई। इन प्रतियोगिताओं में 23 विद्यालयों के 450 विद्यार्थियों ने भाग लिया। नगराधीश गगनदीप सिंह ने प्रतिभागी विद्यार्थियों का उत्साहवर्द्धन किया और उन्हें अपनी कला का निखारने के लिये प्रेरित किया। 

जिला बाल कल्याण अधिकारी भगत सिंह ने बताया कि बाल कल्याण परिषद द्वारा 26 अगस्त से 3 सितंबर तक राष्ट्रीय चित्रकला प्रतियोगिता के तहत खंड स्तर पर इस तरह की प्रतियोगितायें करवाई गई है और इन प्रतियोगिताओं में 72 विद्यालयों के 1200 बच्चों ने भाग लिया। उन्होंने बताया कि खंड और जिला स्तर पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान हासिल करने वाले बच्चों को बाल दिवस के अवसर पर सम्मानित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि बच्चों की प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर रही चित्रकलाओं को राष्ट्रीय बाल कल्याण परिषद में भेजा जायेगा और वहां पर राज्य स्तर पर उल्लेखनीय स्थान हासिल करने वाले बच्चों को देश के राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित किया जायेगा। खंड स्तर की इन प्रतियोगिताओं के परिणाम 10 सितंबर तक संबंधित स्कूलों को भेज दिये जायेंगे। 

Watch This Video Till End….

विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा 7 स्टार इंद्रधनुष योजना के तहत 4 सितंबर को प्रातः 11 बजे रेड बिशप पंचकूला में कार्यक्रम आयोजित करके पंचायतों को सम्मानित किया जायेगा।

पंचकूला, 3 सितंबर-

विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा 7 स्टार इंद्रधनुष योजना के तहत 4 सितंबर को प्रातः 11 बजे रेड बिशप पंचकूला में कार्यक्रम आयोजित करके पंचायतों को सम्मानित किया जायेगा। इस कार्यक्रम के मुख्यातिथि ग्रामीण विकास एवं कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड होंगे।

विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा 7 स्टार इंद्रधनुष योजना के तहत 4 सितंबर को प्रातः 11 बजे रेड बिशप पंचकूला में कार्यक्रम आयोजित करके पंचायतों को सम्मानित किया जायेगा। इस कार्यक्रम के मुख्यातिथि ग्रामीण विकास एवं कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड होंगे।

उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायतों को यह रैंकिंग लिंगानुपात में सुधार, हर बच्चे का स्कूल में दाखिला करवाना, स्वास्थ्य गतिविधियो ंको बढ़ावा देना, शांति और सदभाव, पर्यावरण संरक्षण, सुशासन और सामाजिक भागेदारी के क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य किये है। उन्होंने बताया कि पंचकूला जिला की 6 ग्राम पंचायतों ने चार स्टार, 23 ग्राम पंचायतों ने तीन स्टार, 31 ग्राम पंचायतों ने 2 तथा 45 ग्राम पंचायतों ने एक स्टार हासिल किया है।

Watch This Video Till End….

स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज रेड बिशप पंचकूला में खसरा रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत एक कार्यशाला का आयोजन किया गया।

पंचकूला, 3 सितंबर-

स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज रेड बिशप पंचकूला में खसरा रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला की अध्यक्षता नैशनल हैल्थ मिशन के निदेशक डॉ0 वीके बंसल ने की और प्रदेश के सभी 22 जिलों को प्रतिरक्षण अधिकारी, टीकारण नोडल अधिकारी और विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डॉ0 श्री निवासन ने भाग लिया। 

डॉ वीके बंसल ने इस अवसर पर बताया कि अप्रैल 2018 में खसरा नियंत्रण टीकाकरण कार्यक्रम आरंभ करके इसमें 90 प्रतिशत लक्ष्य हासिल किये गये है। उन्होंने कहा कि खसरा और रूबेला के नियंत्रण के लिये विभागीय कार्यक्रमों को और अधिक प्रभावी तरीके से धरातल पर लागू करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों में इन बीमारियों से संबंधित आने वाले केसों की रिपोर्टिंग को भी और अधिक प्रभावी बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सभी प्रतिरक्षण अधिकारी खसरा और रूबेला टीकाकरण की साप्ताहिक रिपोर्ट तैयार करें और संबंधित सिविल सर्जन इसकी समीक्षा करें। उन्होंने कहा कि अधिक बल दिये जाने वाले क्षेत्रों की पहचान करके वहां पर नियमित टीकारण प्रभावी तरीके से सुनिश्चित किया जाये। 

For Sale

आज की इस कार्यशाला में पल्स पोलियो अभियान पर भी चर्चा की गई। हैल्थ मिशन के निदेशक डॉ असरूदीन ने बताया कि भारत वर्ष 2014 में पोलियो फ्री देशों की सूची में शामिल हो चुका है और हरियाणा में पोलियों का अंतिम केस वर्ष 2010 में रिपोर्ट हुआ था। उन्होंने बताया कि इस वर्ष मार्च में चलाये गये पल्स पोलियो अभियान के तहत 3851743 बच्चों को पोलियों की खुराक पिलाई गई थी और जून मास में चलाये गये सब नेशनल पोलियो अभियान में 257337 बच्चों को यह खुराक पिलाई गई। आज की इस कार्यशााला में पल्स पोलियों से जुड़े 13 जिलों के नोडल अधिकारियों ने भाग लिया। 

उन्होंने कहा कि भविष्य में चलाये जाने वाले पल्स पोलियो अभियानों में स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास, शिक्षा, स्थानीय निकाय, पंचायती राज संस्थान, परिवहन, रेलवे, जनसंपर्क, श्रम विभागों के साथ साथ गैर सरकारी संगठनों का भी सहयोग और अधिक प्रभावी तररीके से लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि हाईरिस्क एरिया, जिनमें स्लम बस्तियां, ईंट भट्ठे, प्रवासी मजदूर, स्टोन क्रेशर, निर्माण स्थल इत्यादि शामिल है पर टीकाकरण गतिविधियों के लिये और प्रभावी प्रयास किये जाने चाहिए। उन्होंनंे कहा कि विशेष अभियानों के साथ साथ नियमित टीकाकरण पर भी विशेष बल दिये जाने की आवश्यकता है। 

Watch This Video Till End….

सेक्टर 3 पंचकूला में आयोजित क्षेत्रीय कार्यशाला की अध्यक्षता करते हुए केंद्रीय जलशक्ति, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया।

पंचकूला, 3 सितंबर-

केंद्रीय जलशक्ति, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर देश में हर घर तक नल से जल पंहुचाने के लिये जल जीवन मिशन आरंभ किया गया है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिये केंद्रीय जलशक्ति मंत्रालय द्वारा देश के अलग अलग हिस्सों में क्षेत्रीय कार्यशालायें आयोजित करके राज्य सरकारों को जल जीवन मिशन के तहत किये जाने वाले कार्यों के लिये प्रेरित किया जा रहा है। 

श्री कटारिया आज सेक्टर-3 होटल होलिडे इन में केंद्रीय जलशक्ति मंत्रालय द्वारा उतरी राज्यों के लिये आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला के शुभारंभ के उपरांत मीडिया से बातचीत कर रहे थे। इन राज्यों में पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, उतर प्रदेश, उतराखंड, दिल्ली और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ शामिल है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में इस तरह की पांच क्षेत्रीय कार्यशालायें आयोजित की जायेंगी। 

उन्होंने कहा कि वर्तमान में देश के लगभग साढे 3 करोड़ घरों में नल से जल की आपूर्ति हो रही है और अभी लगभग साढ़े 13 करोड़ घरों में नल से जल की आपूर्ति की व्यवस्था की जानी है। उन्होंने कहा कि इस लक्ष्य को पंाच वर्षों में चरणबद्ध तरीके से हासिल किया जायेगा। चालू वित वर्ष में जल जीवन मिशन के लिये 36 हजार करोड़ के बजट की व्यवस्था की गई है, जिसमें से 20768 करोड केंद्र सरकार द्वारा उपलब्ध करवाया जायेगा और शेष राशि राज्य सरकारें अपने स्तर पर खर्च करेंगी।  उन्होंने कहा कि जल की उपलब्धता को लेकर अलग अलग राज्यों की अपनी चुनौतियां है और उन चुनौतियों के मुताबिक ही राज्य सरकारें कार्य योजना तैयार कर रही है। उन्होंने बताया कि पंजाब और हरियाणा में जहां गिरते भू जल स्तर की समस्या हैं वहीं पहाड़ी राज्यों में दुर्गंम स्थानों तक पानी की आपूर्ति पंहुचाने जैसी चुनौतियां है। इसी प्रकार उतर प्रदेश जैसे बड़े राज्यों में अलग तरह की चुनौतियां है और इसीलिये क्षेत्रीय कार्यशाला आयोजित करके वहां के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ जल जीवन मिशन के प्रभावी कार्य योजनाओं पर चर्चाएं की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस मिशन के प्रभावी क्रियांवयन के लिये पांच स्तर पर कार्य किया जायेगा, जिसमें केंद्रीय स्तरीय समिति, राज्य स्तरीय जल समिति, जिला और स्थानीय निकाय व ग्राम पंचायत स्तर की समितियां बनाने के साथ साथ गैर सरकारी संगठनों और समाज के लोगों को साथ जोड़ने की गतिविधियां चलाई जायेंगी।

  केंद्रीय जल शक्ति राज्यमंत्री ने कहा कि हर घर तक नल से जल पंहुचाने की योजना के साथ साथ जल को उपलब्ध स्त्रोतों के प्रभावी प्रबंधन और भूजल स्तर की उपलब्धता की जानकारियां जुटाने के लिये शोध कार्य भी किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि देश के 1500 विकास खंड गिरते भू स्तर के कारण डार्क जोन में आ चुके है और कई ऐसे विकास खंड है जो डार्क जोन की ओर बढ़ रहे है। उन्होंने कहा कि  इन सभी समस्याओं के समाधान के लिये भी केंद्रीय स्तर पर और राज्य सरकारों के स्तर पर कार्य किया जा रहा है। मीडिया द्वारा पूछे गये प्रश्न के उतर पर श्री कटारिया ने कहा कि देश में प्राकृतिक जल स्त्रोतों के बेहतर प्रबंधन के लिये नदियों को जोड़ने की योजना पर भी गहनता से विचार किया जा रहा है। एसवाईएल से संबंधित एक अन्य प्रश्न पर उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने न्यायालय में अपना पक्ष बजबूती से रखा है और अब तक के निर्णय हरियाणा के पक्ष में रहे है। उन्होंने कहा कि अब न्यायालय द्वारा दोनों राज्य सरकारों व केंद्र सरकार को मामले का हल निकालने और हल न निकलने की स्थिति में न्यायालय द्वारा फैसला देने की बात कहीं गई है और ऐसी स्थिति में कोई भी अन्य टिप्पणी करना उचित नहीं है। 

इस दो दिवसीय कार्यशाला में प्रथम दिन विभिन्न राज्यों द्वारा अपनाई जा रही पेयजल योजनाओं पर चर्चा की गई। इसके अलावा विशेषज्ञों द्वारा गुजरात में पेयजल आपूर्ति, सिवरेज और प्रयोग किये गये पानी के वैज्ञानिक प्रबंधन मॉडल पर चर्चा की गई। इसके अलावा हरियाणा और पंजाब सरकारों द्वारा जल प्रबंधन के लिये किये जा रहे कार्य पर चचा्र हुई। इसी प्रकार 4 सितंबर को जल जीवन मिशन के लिये सभी प्रतिभागी राज्यों द्वारा अपनाई जाने वाली नीतियों पर चर्चा होगी और केंद्र सरकार के अधिकारियों द्वारा इस मिशन की सफलता के लिये विशेषज्ञों द्वारा सुझायें गये विभिन्न उपायों पर जानकारी उपलब्ध करवाई जायेगी। 

इस अवसर पर जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा, इंजीनियर एंड चीफ मनपाल सिंह और केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय तथा विभिन्न राज्यों से आये अधिकारी उपस्थित थे।  

Watch This Video Till End….

गांव बड़ागुढ़ा की अनाजमंडी में जिला स्तरीय पशु प्रदर्शनी 5 को

सिरसा 3 सितंबर।

पशु प्रदर्शनी में विजेता पशु पालकों को किया जाएगा नकद पुरुस्कार से सम्मानित


              पशुपालन एवं डेयरी विभाग आगामी 5 सितम्बर को जिला के गांव बड़ागुढ़ा की अनाजमंडी में जिला स्तरीय पशु प्रदर्शनी का आयोजन द्वारा किया जाएगा। यह पशु प्रर्दशनी पशुधन की नस्ल सुधार में मील का पत्थर साबित होगी।


                यह जानकारी देते हुए सघन पशुधन विकास परियोजना विभाग के उप निदेशक डा. सुखविन्दर सिंह ने बताया कि पशुपालन एवं डेयरी विभाग हरियाणा द्वारा पूरे राज्य में जिला स्तर पर पशु प्रदर्शनियों का आयोजन करवा कर पशुपालकों के पशुओं की नस्ल सुधार कर आर्थिक स्थिति को सुधारने का अथक प्रयास है। उन्होंने बताया कि प्रर्दशनी में विभाग से संबंधित पशुपालकों के लाभार्थ स्कीमों/ पशुपालन से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियों विशेषज्ञों द्वारा दी जायेगी। इसके अतिरिक्त कृषि विभाग व मत्स्य विभाग द्वारा भी किसानों के कल्याणार्थ लाभकारी जानकारियों उपलब्ध करवाई जायेगी।


                इस पशु प्रदर्शनी में पूरे जिले से 7 श्रेणीयों में 16 केटेगरी के लगभग 600 पशु शामिल होने का अनुमान है। सभी केटेगरी में प्रथम, द्वितीय, तृतीय व सांत्वना पुरस्कार दिये जाएंगे। उन्होंने बताया कि श्रेणी अनुसार मुर्राह नस्ल की भैंसों की श्रेणी हरियाणा, साहीवाल, देशी गाय व एग्जोटिक / एग्जोटिक क्रास श्रेणियों के गौ-जातीय उत्तम नस्ल के पशुओं को प्रथम को 3100 रुपये, द्वितीय को 2100 रुपये तथा तृतीय को 1100 रुपये व 500-500 रुपये सांत्वना पुरस्कार के रुप में दिये जाएंगे। साथ ही भेड़, बकरी तथा सुकर जाति के श्रेणीयों के पशुओं को प्रथम 1100 रुपये, द्वितीय 700 रुपये तथा तृतीय 500 रुपये एवं सांत्वना 200-200 रुपये ईनाम के रुप में दिये जाएंगे। 


                उन्होंने बताया कि इस प्रदर्शनी में भाग लेने वाले पशुओं की टैगिंग, पंजीकरण व बीमा होना आवश्यक है, जिसके लिए नजदीकी पशु चिकित्सालयों में कार्यरत पशु चिकित्सकों से सम्पर्क करके उनकी सेवायें प्राप्त करें। उन्होंने जिला के पशुपालकों से अपील की है कि वे इस पशु प्रदर्शनी में अपने उत्तम नस्ल के पशुओं सहित भाग लेकर लाभ उठायें व विभाग द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी हासिल करें। उन्होंने बताया कि इस बारे अधिक जानकारी के लिए इच्छुक व्यक्ति पशुपालक विभाग की सभी पशु संस्थाओं में कार्यरत पशु चिकित्सकों/वीएलडीएज से सम्पर्क कर सकते हैं।

Watch This Video Till End….

भारतीय वायुसेना के बेड़े में आज 8 अपाचे हेलिकॉप्टर शामिल होंगे। अपाचे हेलिकॉप्टर दुनिया के सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक माने जाते हैं।

खबरों के मुताबिक आज वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ पंजाब के पठानकोट एयरबेस पर इन हेलिकॉप्टरों को शामिल कराएंगे।

दुश्मन के दांत खट्टे करने के लिए भारतीय वायुसेना के बेड़े में आज 8 अपाचे हेलिकॉप्टर शामिल होंगे। अपाचे हेलिकॉप्टर दुनिया के सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक माने जाते हैं।

खबरों के मुताबिक आज वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ पंजाब के पठानकोट एयरबेस पर इन हेलिकॉप्टरों को शामिल कराएंगे। दो पायलट का होना है जरूरी जानकारी के लिए आपको बता दें कि अपाचे हेलिकॉप्टर को उड़ाने के लिए 2 पायलट होने जरूरी हैं।

इस हेलिकॉप्टर में दो इंजन हैं साथ ही दो सीटें हैं। दो इंजन होने की वहज से इसकी रफ्तार बहुत तेज है। हेलिकॉप्टर की अधिकतम स्पीड 280 किलोमीटर प्रति घंटा है। इस हेलिकॉप्टर में एक खास बात यह भी है कि इसमें सेंसर भी लगा है, इस वजह से रात में भी ऑपरेशन को अंजाम दे सकता है और इसे रडार पर पकड़ना मुश्किल होता है।

गौरतलब है कि अपाचे हेलिकॉप्टर अमेरिका में बनाए गए हैं। अपाचे हेलिकॉप्टर AH-64E दुनिया का सबसे एडवांस मल्टी रोल कॉम्बेट हेलिकॉप्टर है।

AH-64E अपाचे दुनिया के सबसे उन्नत बहु-भूमिका लड़ाकू हेलिकॉप्टरों में से एक है। इसे अमेरिकी सेना भी इस्तेमाल करती है है। भारतीय वायुसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अपाचे अटैक के आठ हेलिकॉप्टरों को पठानकोट एयरबेस पर तैनाती तय है। इससे वायुसेना के लड़ाकू क्षमता में बढ़ोत्तरी होगी।

सितंबर 2015 में भारत-अमेरिका के बीच अपाचे हेलिकॉप्टरों की बड़ी डील हुई थी। जिसमें 22 अपाचे हेलिकॉप्टरों भारत को मिलने वाले हैं। इससे जुलाई को 4 हेलिकॉप्टर मिल चुके हैं, अब 8 हेलिकॉप्टर मंगलवार को मिल रहे हैं।

Watch This Video Till End….

PU Results

Chandigarh:

 It is for the information of the general public and students of Panjab University Teaching Departments/Colleges in
particular that result of the following examinations have been declared:-

                  1. M.Phil Guru Granth Sahib Studies Ist Semester, Feb-19

                  2. M.Phil Punjabi Ist Semester, Feb-19

                  3. Diploma in French, May-19

                  4. Certificate Course in Vivekanand Studies, May-19

                  5. BFA-4th Semester, May-19

                  6. Advanced Diploma Course in French, May-19

                  7. Bachelor of Dental Surgery-Ist Semester, May-19

                  8. MA (Public Administration)-Ist Semester, May-19

                  9. MA (Public Administration)-3rd Semester, May-19

                  10.B.Voc(Hospital & Tourism Management )2nd Semester,May-19

For Sale

               The students are advised to see their result in their respective Departments/Colleges/University website.

Watch This Video Till End….