हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

कालका/पंचकूला 25 अक्तूबर- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि इसलिए वे जनता की सुविधा के लिए तीसरी बार बातचीत करने आए हैं ओर लोगों के अनुसार ही कार्य किए जाएगें।

https://propertyliquid.com


मुख्यमंत्री कालका/पिंजोर रेलवे लाईन पर बनने वाले आरयूबी का अवलोकन करने के बाद लोगों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रजातांित्रंक सरकार में इस तरह का इन्फ्रास्ट्रक्चर लोगों की सुविधाओं के लिए ही खड़ा किया जाता है। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि लोगों को आवागमन के लिए बेहतर अण्डरपास मिल जाए और मोहल्ले के निवासियों के साथसाथ आने जाने वाले लोगों को मार्केट की सुविधा भी मिले।


मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता की सुविधा के लिए दो प्रकार के नक्शे तैयार किए गए। पहले में अण्डरपास के साथ दोनो ओर सर्विस लेन निकालना जरूरी तथा धरातल पर सड़क बने। इसमें यू टर्न लेकर समय ग्राहक मार्केट में आ सके और उन्हें पार्किग की भी सुविधा मिले। दूसरा सर्विस लेन को मेन रास्ता बनेगा जो उसको लेवल पर लाया जाएगा। उसमें दूकानों के बेसमेंट में कोई दिक्कत पेश न आए ओर दूकानों के सामने से रास्ता निकलें। इसमें जिस लेन से जाएगा उसी से वापिस आएगा।

For Detailed News-


मुख्यमंत्री ने कहा कि नीचे की सड़कों की का्रेसिंग नहीं हो सकती। इनमें डिवाईडर बीच में होगा। दूसरे प्रस्ताव में नीचे के लेवल पर बनानी चाहिए। इस पर सभी नागरिको की सहमति है। इसलिए सभी नागरिकांे की सहमति होगी वही कार्य होगा । उन्होंने कहा कि इस प्रकार जनता के हितार्थ है वही ठीक है। उसके लिए उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चैटाला विभाग के अधिकारियों से भी सहमति ले ली गई है। उन्होंने कहा कि रेलवे को कोई आपति नहीं होती। इसलिए जनता की इस मांग को स्वीकार कर लिया गा है।

nbf


मुख्यमंत्री ने कहा कि नेशनल हाईवे बनने के बाद ंिपंजौर व कालका का बड़ा महत्व बन गया है। यह प्राचीन स्थल है तथा पर्यटन के रूप में विकसित स्थान है। उन्हांेने कहा कि शहर का बाईपास बनने के बाद भी पुराने शहर को देखने के लिए लोगों का शहर के अंदर से आना जाना बना हुआ है। इसके अलावा हिमाचल जाने वाले लोग अब भी शहर के अंदर से जाते है। उन्होंने कहा कि ंिपंजौर-बद्दी चैडी सड़क बन जाने के बाद ओर भी सुन्दर शहर बन जाएगा। इसका कार्य शीघ्र ही पूरा कर लिया जाएगा।


इस प्रकार मुख्यमंत्री ने लोगों की इस मांग को पूरा कर दिया ओर लोगों में खुशी का आलम रहा। इस पर व्यापार मण्डल कालका की ओर से मुख्मयंत्री का आभार जताया। इस मौके पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता, एसीएस आलेक निगम, वी उमाशंकर, उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा, पुलिस आयुक्त सौरभ सिंह, पुलिस उपायुक्त मोहित हांडा, पूर्व विधायक लतिका शर्मा, भाजपा के जिला अध्यक्ष अजय शर्मा, व्यापार मण्डल के प्रधान तरसेम गुप्ता, संजीव कौशल सहित कई अधिकारी मौजूद रहे।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

पहली बार श्रद्वालु कम चढावा ज्यादा-उपायुक्त

पंचकूला 25 अक्तूबर- माता मनसा देवी मंदिर काली माता मंदिर कालका में श्रद्वालुओं ने नवें दिन माता के चरणों में 13 लाख 17 हजार 360 रुपए राशि नकद श्रद्धालुओं ने चढाई हैै। इसके अलावा 81 हजार 150 रुपए की राशि ड्राई प्रसाद वितरण योजना में एकत्र हुई है। अब तक एक करोड 31 लाख 90 हजार 72 रुपए की राशि चढाई गई है जबकि गत वर्ष अक्तूबर माह के दौरान एक करोड़ 23 लाख 66 हजार 413 रुपए की राशि माता के चरणों में चढाई गई। इस प्रकार गत वर्ष की तुलना में 3 लाख 13 हजार 359 रुपए की अधिक राशि आई माता मनसा देवी श्राईन बोर्ड मंे पहली बार श्रद्वालु कम ओर चंदा अधिक प्राप्त हुआ है।

For Detailed News-


उपायुक्त एवं मुख्य प्रषासक मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि श्रद्धालुओं ने माता मनसा देवी मंदिर में 6 सोेने के आभूषण व 31 सिलवर के नग तथा काली माता मंदिर में तीन सोने के आभूषण व 39 सिलवर के नग चढाए है। इस प्रकार 9 सोने के आभूषणों का वजन 4.165 ग्राम व 70 चांदी के आभूषणों का वजन लगभग 361.2 ग्राम है। उन्होंने बताया कि माता मनसा देवी पर कुल 8 लाख 5 हजार 4 रुपए तथा काली माता मंदिर कालका में 5 लाख 12 हजार 356 रुपए की राशि चढाई है। इसी प्रकार प्रसाद वितरण योजना में माता मनसा देवी मंदिर में 100 ग्राम वजन में 42 हजार 850 रुपए तथा 200 ग्राम प्रसाद वितरण में 36 हजार 600 रुपए और काली माता मंदिर में 100 ग्राम प्रसाद वितरण में 1400 रुपए व 200 ग्राम प्रसाद वितरण में 300 रुपए की राशि सहित कुल 100 ग्राम प्रसाद वितरण में 44 हजार 250 रुपए तथा 200 ग्राम वितरण प्रसाद में 36 हजार 900 रुपए की राशि एकत्र हुई है। इसके अलावा कनाडा के 45 डालर, तथा युरोपियन 50 युरो भी श्रद्धालुओं को माता के चरणों में भेंट किए है।

https://propertyliquid.com


उन्होंने बताया कि कालका में नवें नवरात्र में लगभग 5760 व माता मनसा देवी मंदिर में लगभग 20 हजार 350 श्रद्वालुओं का आगमन हुआ है और माता मनसा देवी मंदिर में एक लाख 20 हजार 647 व काली माता मंदिर कालका में 25262 श्रद्धालुओं ने मत्था टेका है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

PUAA and Swayam Cell organized a webinar “National Education Policy 2020: Joining the Dots”

Chandigarh October 24, 2020

Panjab University Alumni Association in collaboration with Swayam Cell, Panjab University, organized a webinar “National Education Policy 2020: Joining the Dots” on 23 October.

For Detailed News-

Dr. Vishal Sharma, Coordinator Swayam Cell, Panjab University, welcomed the speakers and moderated the event. The honorable speakers for the event were Ms Vinita Arora, Dr. Rajiv Khosla and Mr. Sanjiv Gupta.

Ms. Vinita Arora,   Senior Principal, Bhavan Vidhyala since 2016 explained the change from 10+2 to 5+3+3+4 system of the NEP 2020 in school education and its benefits. She spoke about vocational education and 36 degree assessment of students where the student will be assessed by his peers, self and teachers now. During interaction with the participants Ms. Arora agreed that the teachers should be trained before the implementation of NEP and a change in their mindset is also required so that they give equal importance to academics as well as sports or other areas like music and dance.

https://propertyliquid.com

Dr. Rajiv Khosla,  Associate Professor in DAV Institute of Management, Chandigarh discussed various other countries like England, Canada, Singapore etc. where our students looked up to for higher education. He discussed interesting facts about their education policies and said they have very strategically defined their educational objectives. He said that NEP 2020 is a very timely policy, the best brains have been used and lakhs of suggestions have been considered before making it. What is left is implementation of this policy. Dr Khosla also discussed the positive points and challenges of the policy.

Mr. Sanjiv Gupta, Chief GM –Manufacturing, SML ISUZU LTD, former Business Head, Swaraj Automotive Ltd. and Plant Head at M & M (Swaraj Division) prior to joining SML Isuzu Ltd. discussed the industry academia aspect of the policy. He said the good part of the policy is that students will gain numeric skills and critical thinking from a very young age now which will help them in their careers. He also said that the multiple entry and exit option available to students, innovation centres and entrepreneur cells available to students will be for their benefit. He also suggested that there should be a mix of industry experts and academicians in training and teaching. Mr Gupta concluded by saying that if there is a policy that helps in the proper collaboration of the industry and academics and proper teacher training then NEP 2020 will be unstoppable.

nbf

Next was an interesting round of interaction between the participants and the speakers where many questions were answered by all the speakers. Prof. Shashi Chowdhry said that it was a very informative session and she was glad that she could attend it. Ms. Sonia Chandel from PUAA proposed a vote of thanks.

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

गठबंधन सरकार ने व्यवस्था परिवर्तन की दिशा में किए ऐतिहासिक बदलाव -उप मुख्यमंत्री

सिरसा, 25 अक्तूबर।


प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने प्रदेशवासियों को दशहरा की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि विजयदशमी का पर्व आशा, उत्साह और ऊर्जा के साथ अपने लक्ष्य को प्राप्त करने का संदेश देता है। विजयदशमी शक्ति उपासना का उत्सव है। यह पर्व अधर्म पर धर्म, बुराई पर अच्छाई और असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक है। आज के दिन सभी  सामाजिक कुरीतियों को मिटाने का संकल्प लें।

For Detailed News-


 हरियाणा प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला रविवार को सिरसा स्थित अपने आवास पर लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। उप मुख्यमंत्री ने एक-एक कर सभी की समस्याओं को ध्यानपूर्वक सुना और मौके पर ही उपस्थित अधिकारियों को समाधान के लिए दिशा-निर्देश दिए।


उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की गठबंधन सरकार ने जनहित में व्यवस्था परितर्वन के लिए न केवल ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं, बल्कि धरातल स्तर पर आमजन को सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाया है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार प्रदेश के हर वर्ग के उत्थान के लिए कार्य कर रही है। वर्तमान सरकार ने अपने एक वर्ष के छोटे से कार्यकाल में ही अनेकों निर्णायक फैसले लिए हैं। सरकार द्वारा अनेक ऐसी योजनाएं लागू की गई है जिनकी बदौलत हर वर्ग खुशहाली की और अग्रसर है। उन्होंने कहा कि कृषि कानून किसानों व कृषि के लिए काफी लाभदायक साबित होंगे। फसलों को एमएसपी पर खरीदा जा रहा है और भविष्य में भी निश्चित रूप से फसलों को एमएसपी पर ही खरीदा जाएगा।


उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष की अपेक्षा दोगुना आवक अब तक हो चुकी है। किसानों को उनकी फसल बिक्री में किसी तरह की समस्या नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार एक साल के दौरान सात लाख मेट्रिक टन की क्षमता के गोदाम बनाने का काम करेगी। ये गोदाम निजी गोदामों की तर्ज पर पंचायतों के माध्यम से बनाये जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार पंचायती राज संस्थाओं को मजबूत करने की दिशा में दृढ संकल्प के साथ कार्य कर रही है।

https://propertyliquid.com


उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायत चुनाव में महिलाओं को 50 प्रतिशत हिस्सेदारी देकर महिला सशक्तिकरण और अधिक सुदृढ करने का काम किया है। इसके अलावा अनेकों योजनाओं व फैसलों के माध्यम से महिला सशक्तिकरण की दिशा में कार्य किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में गत दिनों जींद में सात जिला की 42 महिला जन प्रतिनिधियों को स्कूटी देकर सम्मानित किया गया है। इसी प्रकार जल्द ही पंचकूला में भी इसी तरह एक कार्यक्रम आयोजित करके शेष रही पांच जिलों की महिला जनप्रतिनिधियों को भी स्कूटी देकर सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्रकार का पहला कार्यक्रम गुरूग्राम में आयोजित करवाया जा चुका है।

nbf

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि बरोदा उप चुनाव में गठबंधन प्रत्याशी की ऐतिहासिक जीत होगी। दोनों ही संगठन मजबूती के साथ चुनाव प्रचार-प्रसार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बरोदा उप चुनाव में माहौल सरकार के पक्ष में है। सरकार मजबूती के साथ चल रही है और सरकार की करनी व कथनी में कोई फर्क नहीं है। प्रदेश सरकार का उद्ेश्य है कि जरूरमंद आमजन को सरकारी सुविधाओं का लाभ सरलता व प्राथमिकता से मिले। इसके लिए अनेकों ऐतिहासिक निर्णय लिए जा रहे हैं।
उन्होंने प्रदेशवासियों से अपील करते हुए कहा कि वे त्यौहारी कार्यक्रमों के दौरान कोविड-19 से बचाव उपायों की और अधिक सर्तकता के साथ अनुपालना करें। कोरोना बीमारी को हम सबको मिलकर हराना है, इसलिए सभी बीमारी से स्वयं का बचाव करते हुए इस लड़ाई में सहयोगी की भूमिका निभाएं। उन्होंने कहा कि आमजन बाजार में भीड़-भाड़ से बचे और घर से निकलते समय मॉस्क अवश्य लगाए।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने जिला की चार महिला जन प्रतिनिधियों को सराहनीय कार्य के लिए स्कुटी देकर किया सम्मानित

सिरसा, 24 अक्तूबर।

जींद में आयोजित कार्यक्रम में सात जिलों की पंचायती राज संस्थाओं की 42 महिला जन प्रतिनिधियों को सराहनीय कार्य के लिए स्कूटी देकर किया सम्मानित


  हरियाणा प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने शनिवार को सात जिलों की पंचायती राज संस्थाओं की 42 महिला जन प्रतिनिधियों को सराहनीय कार्य करने पर हीरों कम्पनी की स्कूटी देकर प्रोत्साहित किया और घोषणा की जल्द ही उतरी हरियाणा के पांच जिलों की महिला जन प्रतिनिधियों को सम्मानित करने के लिए पंचकूला में सम्मान समारोह का आयोजन करवाया जाएगा। सम्मानित होने वालों में सिरसा जिला की भी चार महिला जन प्रतिनिधि शामिल हैं, जिन्हें उनके सराहनीय कार्य के लिए स्कूटी देकर उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने सम्माति किया।

https://propertyliquid.com


उपमुख्यमंत्री ने प्रदेश के सिरसा सहित भिवानी, चरखी दादरी, जींद, हिसार, फतेहबाद व कैथल  समेत सात जिलों की पंचायती राज संस्थाओं की महिला जन प्रतिनिधियों को सम्बोन्धित करते हुए कहा कि राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्र तथा महिलाओं के विकास एवं उत्थान के लिए लगातार प्रयास कर रही है। पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा ताकि महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे न रहे बल्कि आगे आकर अपने क्षेत्र, गांव एवं ईलाके के विकास में अहम भागीदारी निभाकर प्रदेश के विकास में शत प्रतिशत सहयोग दे सकें। उन्होंने कहा कि पंचायतों की आए बढ़ाने के लिए भी राज्य सरकार प्रयास कर रही है। ग्रामीण क्षेत्र में 7 लाख मीट्रिक टन अनाज का स्टॉक करने के लिए भण्डार गृह बनाए जाएंगे। इन भण्डार गृहों में अन्न रखने पर प्रति क्विंटल सौ रूपए के हिसाब से पंचायतों को आय होगी। यहीं नहीं ग्रामीण क्षेत्र के विकास को लेकर सरकार द्वारा जिला परिषद में मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के पदों पर एचसीएस अधिकारियों को लगाया गया है ।


उन्होंने कहा कि पंचायती राज संस्थाओं की उन सभी महिला जन प्रतिनिधियों को सम्मानित किया जाएगा। जल्द ही पंचकूला में इसी तरह का एक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा जिसमें शेष रही पांच जिलों की महिला जन प्रतिनिधियों को स्कुटी देकर सम्मानित किया जाएगा। इस तरह का पहला कार्यक्रम गुरूग्राम जिले में आयोजित करवाया जा चुका है । उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर वर्ग के उत्थान के लिए सरकार द्वारा काम किया जा रहा है। वर्तमान राज्य सरकार द्वारा अनेक ऐसी योजनाएं लागू की गई है जिनकी बदौलत हर वर्ग खुशहाली की और अग्रसर है। उन्होंने हाल ही लागू किए गए कृषि कानूनों के सम्बन्ध में कहा कि यह कानून किसानों व कृषि के लिए काफी लाभदायक साबित होंगे। फसलों को एमएसपी पर खरीदा जा रहा है। भविष्य में भी निश्चित रूप से फसलों को एमएसपी पर ही खरीदा जाएगा।

For Detailed News-


पंचायती राज संस्थाओं की सिरसा की जिला परिषद सदस्या सुखराज कौर, नथोर गांव की सरपंच सुलोचना देवी, रामपुर थेड़ गांव की सरपंच विरपाल कौर, घोड़ावाली गांव की सरपंच सुनीता देवी को स्कुटी देकर सम्मानित किया गया।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

जिला सचिवालय परिसर में मनाया गया संयुक्त राष्ट्र संघ दिवस

पंचकूला 24 अक्टूबर। उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा के निर्देषानुसार संयुक्त राष्ट्र संघ दिवस के अवसर पर जिला सचिवालय परिसर में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस दौरान विश्व की शांति के लिए राष्ट्रीय ध्वज के साथ ही संयुक्त राष्ट्र संघ का ध्वज भी लगाया गया।

https://propertyliquid.com


उल्लेखनीय है कि द्वितीय विश्व युद्ध के बाद विश्व के देशों ने विचार किया कि विश्व स्तर पर एक ऐसा मंच बनाया जाए, जो पूरे विश्व में शांति के लिए कार्य करे। जिसके माध्यम से मानव के अधिकारों की रक्षा हो सके। उन्होंने कहा कि जिसके लिए 24 अक्टूबर 1945 को संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना की गई। उन्होंने कहा कि 24 अक्टूबर 1948 से संयुक्त राष्ट्र दिवस मनाने का निर्णय लिया गया। तभी से इस दिन पूरे विश्व में अमन और शांति के लिए संयुक्त राष्ट्र दिवस मनाया जाता है।


वर्तमान में कोई भी देश अपने अधिकारों व हितों की आवाज संयुक्त राष्ट्र संघ में रख सकता है। उन्होंने कहा कि हमें देश व समाज में शांति की स्थापना के लिए कार्य करना चाहिए। किसी दूसरे व्यक्ति के अधिकारों का हनन नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें चाहिए हमारे परिवारों का विखंडन न हो, तभी एक सभ्य समाज का निर्माण किया जा सकता है। इस मौके पर कई कर्मचारी व पुलिस विभाग के कर्मचारी मौजूद रहे।

For Detailed News-



राजकीय महाविद्यालय कालका मंे प्राचार्य प्रोमिला मलिक की अध्यक्षता में संयुक्त राष्ट्र दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में युएनओ डे पर विस्तार से प्रकाष डाला। प्रो. सुनीता चैहान, मीना षर्मा ने युएनओ डे के बारे में जानकारी देते हुए 1948 में द्वितीय विष्व युद्ध के बाद इसकी नींव रखी गई। जिसमें राष्ट्रों को एक ऐसा मंच प्रदान किया गया जिसमें आपसी विवाद सुलझा सकें ओर विष्व को ज्यादा से ज्यादा बेहतर बनाने में सहायक बन सके।
इस मौके पर प्रो. डा. बिन्दू, डा. षीतल ग्रोवर, प्रो. सोनाली, डा. कुलदीप ंिसह सहित कई पदाधिकारी मौजूद रहे।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

माता मनसा देवी मंदिर व काली माता मंदिर कालका में श्रद्वालुओं ने अष्ठमी दिन माता के चरणों में 14 लाख 31 हजार 224 रुपए राषि नकद श्रद्धालुओं ने चढाई हैै।

पंचकूला 24 अक्तूबर- माता मनसा देवी मंदिर काली माता मंदिर कालका में श्रद्वालुओं ने अष्ठमी दिन माता के चरणों में 14 लाख 31 हजार 224 रुपए राषि नकद श्रद्धालुओं ने चढाई हैै। इसके अलावा 89 हजार 850 रुपए की राषि ड्राई प्रसाद वितरण में एकत्र हुई है।

For Detailed News-


उपायुक्त एवं मुख्य प्रषासक मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि श्रद्धालुओं ने माता मनसा देवी मंदिर में 1 सोेने के नग व 62 सिलवर के नग तथा काली माता मंदिर में 46 सिलवर के नग चढाए है। इस प्रकार 101 नग चांदी का वजन लगभग 1003 ग्राम है। उन्होंने बताया कि माता मनसा देवी पर कुल 10 लाख 99 हजार 649 रुपए तथा काली माता मंदिर कालका में 3 लाख 71 हजार 464 रुपए की राषि चढाई है। इसी प्रकार प्रसाद वितरण योजना में माता मनसा देवी मंदिर में 100 ग्राम वजन में 50 हजार रुपए तथा 200 ग्राम प्रसाद वितरण में 34 हजार 900 रुपए और काली माता मंदिर में 100 ग्राम प्रसाद वितरण में 3850 रुपए व 200 ग्राम प्रसाद वितरण में 1100 रुपए की राषि सहित कुल 100 ग्राम प्रसाद वितरण में 53 हजार 850 रुपए तथा 200 ग्राम वितरण प्रसाद में 36 हजार रुपए की राषि एकत्र हुई है। इसके अलावा आस्टेªलिया के 5 डालर, युएसए के 11 डालर तथा युरोपियन 25 युरो भी श्रद्धालुओं को माता के चरणों में भेंट किए है।

https://propertyliquid.com


उन्होंने बताया कि कालका में अष्ठवें नवरात्र में लगभग 5760 व माता मनसा देवी मंदिर में लगभग 20 हजार 350 श्रद्वालुओं का आगमन हुआ है और अब तक एक करोड 18 लाख 72 हजार 712 रुपए की राषि चढाई गई है। माता मनसा देवी मंदिर में एक लाख 20 हजार 647 व काली माता मंदिर कालका में 25262 श्रद्धालुओं ने मत्था टेका है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

ग्रामीण एवं कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देने की ओर डिप्टी सीएम का अहम कदम

चंडीगढ़, 24 अक्टूबर। हरियाणवी संस्कृति का अभिन्न हिस्सा रहे मुढे अब गांवों की पंचायतों चौपालों की शान बढ़ाएंगे। प्रदेश के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने ग्राम पंचायतों को बैठने के लिए मुढे उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है। हरियाणा खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड इन मुढों को तैयार करवागा और पंचायत विभाग हरियाणा के कोने-कोने तक मुढें पहुंचाएगा। प्रथम चरण में एक हजार गांवों में ये मुढे दिए जाएंगे। खादी बोर्ड के चेयरमैन की नियुक्ति के बाद पहला ऑर्डर डिप्टी सीएम ने दिया है। दुष्यंत चौटाला का यह कदम गांवों में कुटीर व ग्रामोद्योगों के साथ साथ आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देने की दिशा में भी महत्वपूर्ण साबित होगा।
दरअसल, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला वीरवार को खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के नवनियुक्त चेयरमैन रामनिवास सुरजाखेड़ा को पदभार संभलवाने के लिए पंचकुला में बोर्ड के कार्यालय गए थे। पदभार संभलवाने के बाद दुष्यंत चौटाला कार्यालय का निरीक्षण करने लगे। कार्यालय में ही खादी बोर्ड द्वारा बनाए जाने वाले खादी के वस्त्र, कुटीर व ग्रामोद्योग से जुड़ी अन्य वस्तुओं को प्रदर्शित किया गया था। इसी दौरान अनायास ही दुष्यंत की नजर वहां रखे मुढे पर पड़ी। वे तुरंत वहां रखे मुढे के पास गए और उन्होंने अधिकारियों से पूछा कि ये मुढा यहां बैठने के लिए है या खादी बोर्ड इसे बेचता भी है? इसपर अधिकारियों ने बताया कि गांवों के कारीगरों से खादी बोर्ड ये मुढे तैयार करवाता है और इन्हें बेचता है। यह सुनते ही दुष्यंत बोले… “अरे वाह, बहुत खूबसूरत हैं ये मुढे”। हरियाणा के कारीगरों से बने मुढे इस कदर पंसद आए कि उन्होंने अधिकारियों को मौके पर पूछा कि दस हजार मुढे आप कितने दिन में तैयार कर सकते हो। इस बारे में उन्होंने अधिकारियों को जल्द ही रिपोर्ट करने को कहा।

For Detailed News-


शुक्रवार को हुई हरियाणा खादी एवं ग्रामोद्योग की प्रथम बैठक में मुढों को गांवों तक पहुंचाने बारे विचार किया गया और खादी बोर्ड को दस हजार मुढे तैयार करवाने को कहा गया। डिप्टी सीएम ने प्रथम चरण में हरियाणा की एक हजार पंचायतों को मुढे पहुंचाने का फैसला किया। ये मुढे प्रदेश के विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा खरीद कर पंचायतों को दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इससे न केवल हमारे कुटीर उद्योग को बढ़ावा मिलेगा बल्कि आत्मनिर्भरता के साथ-साथ कारीगरों की आमदनी बढ़ाने की ओर यह अहम कदम साबित होगा।

https://propertyliquid.com

*…जननायक स्व. देवीलाल ने पहुंचाए थे गांवों में मुढे*पूर्व उपप्रधानमंत्री स्व. जननायक चौ. देवीलाल का भी मुढो के प्रति खासा लगाव था। वे स्वयं भी बैठने के लिए मुढे का प्रयोग करते थे और जहां कहीं भी पांच छह लोग मुढो पर बैठे दिखते तो  चौ. देवीलाल अपनी गाड़ी रूकवाकर उनके पास जाकर ग्रामीणों का हालचाल जानते थे। हरियाणा के मुख्यमंत्री रहते हुए स्व. चौ. देवीलाल ने गांवों की पंचायत घरों में मुढे पहुंचाए थे। उनकी सोच थी कि गांवों में बनी वस्तुएं बाजार में बिकेंगी तो इससे गांवों में कुटीर उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा, उनकी आमदनी बढ़ेगी और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों का जीवन स्तर उंचा उठेगा। उनके परपौत्र दुष्यंत चौटाला ने भी उनके नक्शेकदम पर चलते हुए गांवों में मुढे पहुंचाने का निर्णय लिया है जिससे कि ग्रामीण आंचल के कारीगरों को प्रोत्साहन मिलेगा।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

पारसमणि सिध्देश्वर महादेव मंदिर सैक्टर 10 पंचकूला

News 7 World

पारसमणि सिध्देश्वर महादेव मंदिर सैक्टर 10 पंचकूला

पारसमणि सिध्देश्वर महादेव मंदिर में श्रद्वालुओं ने अष्ठमी के दिन माता के चरणों में हाजरी लगाई।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि विकास परियोजनाएं एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर जनता के हित को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है ताकि जनता को उनका पूरा लाभ मिल सके।

जिला की मंडियों में 52442 मीट्रिक टन धान व 2740.95 मीट्रिक टन बाजरा की हुई खरीद : उपायुक्त रमेश चंद्र बिढ़ाण

सिरसा, 24 अक्तूबर।


            उपायुक्त रमेश चंद्र बिढ़ाण ने बताया कि शुक्रवार तक जिला की मंडियों व खरीद केंद्रों पर 52442 मीट्रिक टन धान व 2740.95 मीट्रिक टन बाजरा की खरीद की जा चुकी है।

For Detailed News-


            उपायुक्त बिढ़ाण ने बताया कि अबूबशहर मंडी में धान की 744 मीट्रिक टन खरीद, डबवाली मंडी में 18995 मीट्रिक टन, दड़बी मंडी में 2709 मीट्रिक टन, देसूजोधा मंडी में 523 मीट्रिक टन, डिंग मंडी में 328 मीट्रिक टन, ऐलनाबाद मंडी में 1627 मीट्रिक टन, कालांवाली मंडी में 5915 मीट्रिक टन, लोहगढ़ मंडी में 1251 मीट्रिक टन, मौजगढ़ मंडी में 788 मीट्रिक टन, रानियां मंडी में 3448 मीट्रिक टन, रोड़ी मंडी में 43

https://propertyliquid.com

06 मीट्रिक टन, सिरसा मंडी में 9314 मीट्रिक टन, सुरतिया में 2170 मीट्रिक टन तथा थिराज में 324 मीट्रिक टन धान की खरीद की जा चुकी है।
            उन्होंने बताया कि जिला में बाजरा की खरीद भी खरीद केंद्रों पर सुचारु रुप से जारी है। नाथूसरी चौपटा खरीद केंद्र पर 632 मीट्रिक टन, रानियां खरीद केंद्र में 256 मीट्रिक टन, रोड़ी खरीद केंद्र पर 84 मीट्रिक टन, गोरीवाला खरीद केंद्र पर 149 मीट्रिक टन, सिरसा खरीद केंद्र में 1057.8 मीट्रिक टन तथा ऐलनाबाद खरीद केंद्र में 562.15 मीट्रिक टन बाजरा की खरीद की है।