DLIS organized Alumni meet

DLIS organized Alumni meet

Chandigarh January 23, 2021

For Detailed News-

The Department of Library and Information Science, Panjab University, Chandigarh organised Alumni Meet in virtual mode. Prof. I. V. Malhan, former Dean Academics, Central University of Himachal Pradesh and alumnus of the department was the chief Guest and Mr. V. K. Grover, former Deputy Librarian was the guest of honour. The department hounered two eminent alumni, Prof. R. L. Raina, Vice Chancellor, JK Lakshmipat University, Jaipur and Prof. Jagtar Singh, Former Dean Faculty, Education and Information Science, Punjabi University, Patiala for their contribution. In the second session, the memories and experiences were shared by the members. Mr. Sushil Jain, Alumnus of the first batch (1960) of department also shared his memories and experiences. Prof. Preeti Mahajan, Chairperson of the department moderated the second session and Prof. Rupak Chakravarty presented vote of thanks. Dr. Shiv Kumar, Convener Alumni meet also highlighted the relationship between the department and alumni.

https://propertyliquid.com

DLIS organized Alumni meet

हरियाणा वीर एवं शहीदी तथा पराक्रम दिवस कालका के राजकीय महाविद्यालय में पूर्ण उत्साह के साथ मनाया गया।

पंचकूला  23 जनवरी- हरियाणा वीर एवं शहीदी तथा पराक्रम दिवस कालका के राजकीय महाविद्यालय में पूर्ण उत्साह के साथ मनाया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता प्रो. सुषील कुमार व अध्यक्षता कालेज प्राचार्य प्रोमिला मलिक ने की।  

For Detailed News-


प्राचार्य प्रोमिला मलिक ने कहा कि इन महान देशभक्तों के जीवन से आज का युवा प्रेरणा ले रहा है। नेताजी ने भारत के स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणीय भूमिका निभाते हुए युवाओं से कहा कि तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा। इसके अलावा जयहिंद का नारा दिया। उनका कठोर जीवन व त्याग वर्तमान भी युवाओं को प्रेरित कर रहा है। नेताजी की 125वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम मंें नेताजी सुभाष चन्द्र बोस व महान स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्वासुमन अर्पित किया गया।

https://propertyliquid.com


इस अवसर पर प्रभारी प्रो0 नीना षर्मा, सदस्या प्रो0 बिन्दु, प्रो0 षीतल ग्रोवर, प्रो0 नमिता, अलका, सोनाली सहित कई प्राध्यापक मौजूद रहे।

DLIS organized Alumni meet

Faculty Training School under UGC Networking Programme concludes at UIPS, PU

Chandigarh January 23, 2021

The one-week long Training School under UGC Networking Resource Centre in Pharmaceutical Sciences on the theme “Training Pharmacy Professionals to Accomplish Mission – Make in India: Step Forth to Promote Academic Entrepreneurship” conducted by University Institute of Pharmaceutical Sciences (UIPS), Panjab University, from January 18 to 23, 2021 successfully concluded today virtually via Cisco WebEx Events.

For Detailed News-

During the Programme, a group of 31 faculty and research scholars from 12 states of the country was trained. A total of 19 lectures and 5 sessions were conducted by 25 eminent speakers‎ from various academic institutions, industries, CEOS, MDs of start-ups, innovation officers and ambassadors and research organizations with expertise in diverse disciplines of of pharmaceutical sciences, together with the in-house faculty of UIPS.

During the valedictory programme, Dr Manish Diwan, Head, Strategic Planning and Entrepreneurship Development, BIRAC, New Delhi, was the Chief Guest and delivered the valedictory lecture on “Biosciences to Bioeconomy”. He emphasized on Nurturing innovations from ideation to commercialization. He gave an insight into the ample number of grants available to the faculty and students with innovative ideas. He also motivated all the participants to take up entrepreneurship.

https://propertyliquid.com

Earlier, Professor Indu Pal Kaur, Chairperson, UIPS & Programme Coordinator, UGC-NRC, delivered the welcome address. Professor Ranju Bansal, Dean, Faculty of Pharmaceutical Sciences, welcomed the august gathering. Professor O. P. Katare, Course Coordinator, briefed about the antecedents of the weeklong course. Feedback from the participants was also invited.  Dr Vandita Kakkar, Joint Course Coordinator of the School, presented the Vote of Thanks.

A special Colloquium on “Creating a culture of Innovation– the people aspect” by Ms Veena Swarup, Former Director HR, Engineers India Ltd, and Chairperson, NOWE@DMA (Network of Women Entrepreneurs) was the main highlight of the week. In her talk, she exquisitely explained the treasure of human resource in any Institute. She quoted “Best way to predict your future is to create it” and emphasized that we should value and appreciate all employees or any human resource involved in the working of academic or industrial set-up. All the participants enjoyed her illustrious talk.

Around 200 faculty, students and selected faculty participants enthusiastically attended the weeklong events.

DLIS organized Alumni meet

उपायुक्त ने बताया कि जिला सचिवालय के सभागार में 11वां जिला स्तरीय मतदाता दिवस वर्चुअल तौर पर मनाया जाएगा।

पंचकूला 23 जनवरी । उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि जिला सचिवालय के सभागार में 11वां जिला स्तरीय मतदाता दिवस वर्चुअल तौर पर मनाया जाएगा।

For Detailed News-


उपायुक्त ने बताया कि इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में जिला के अन्य अधिकारी भी वर्चुअल तौर पर जुड़े रहेंगे। उन्होंने बताया कि मतदाता दिवस जिला स्तर से लेकर मतदान केंद्र स्तर तक मनाया जाएगा जिसमें मतदाताओं को उनके संवैधानिक अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोविड-19 के चलते भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशन में राज्य में फोटोयुक्त मतदाता सूचियों का दो बार विशेष संक्षिप्त पुनर्निरीक्षण किया गया।

 
उपायुक्त ने बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाताओं को जागरूक करने के लिए ‘सभी मतदाता बनें सशक्त, सतर्क, सुरक्षित एवं जागरूक’ विषय पर सेमीनार किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस मतदाता दिवस पर मतदाताओं को दो चरणों में ई-एपिक की सुविधा प्रदान की जाएगी। पहला चरण 25 जनवरी से 31 जनवरी तक होगा जिसमें यूनिक मोबाइलयुक्त नए बने मतदाता शामिल होंगे। दूसरे चरण में यह सुविधा सभी पंजीकृत मतदाताओं के लिए उपलब्ध हो जाएगी।

https://propertyliquid.com

DLIS organized Alumni meet

स्मैंम स्कीम के तहत किसानों को मिलेगी 50ः अनुदान पर कृषि यंत्र- उपायुक्त

पंचकूला  23 जनवरी।    उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि पंचकूला के किसानांे को वर्ष 2020-21 में कृषि एंव किसान कल्याण विभाग, हरियाणा द्वारा ‘‘सब मिषन आॅन एग्रीकल्चर मेकेनैजिम समेम स्कीम के अंतर्गत किसानों को विभिन्न कृषि यन्त्रों एवं मषीनें  पर 40ः से 50ः अनुदान पर उपलब्ध करवाई जाएगी। इस स्कीम के अंतर्गत पंचकूला जिलें में व्यकितगत किसान श्रेणी में सामान्य, लघु एवं सीमांत,  अनुसूचित जाति के लिए विभिन्न कृषि यन्त्रों के लिए 31 जनवरी तक आॅनलाईन आवेदन कर सकते  है।

For Detailed News-

उपायुक्त ने बताया कि किसानों को स्ट्रा बेलर, हेेरेक, श्रब मास्टर , रोटरे स्लेसर,  पीटीओ आॅपरेटिड वीडर, ट्रैक्टर आॅपरेटिड क्राॅप रीपर कम बांइडर, लेजर लेण्ड लेवलर, स्ट्रा रीपर, ट्रैक्टर माउंटिड स्पेयर पम्प, रीपर बांईडर, मल्टी क्राॅप प्लांटर, मेज प्लांटर, न्यूमेटिक प्लांटर, कोटन सीडस ड्रिल, ट्रैक्टर आॅपरेटिड बूम स्पे्रयर दिए जाएगें।  आवेदन के लिए किसान के नाम पंचकूला जिलें में रजिस्टर्ड टैªक्टर की वैध आर0सी0, किसान के नाम जमीन व उसकी पटवारी रिपोर्ट, किसान का बैंक, आधार कार्ड और पैन कार्ड की आवष्यकता है। इसके अलावा मेरा फसल मेरा ब्यौरा पर भी रजिस्ट्रेषन करवाना भी अनिवार्य है। आॅनलाईन आवेदन करने के बाद चयन होने के उपरान्त यदि किसी भी प्रकार की त्रुटी पायी जाती है तो आवेदन रदद् हो जायेगा।

https://propertyliquid.com

उपायुक्त ने बताया कि आॅनलाईन आवेदन करते समय जमीन, जाति(श्रेणी), अकाउंट डिटेल व अन्य जानकारी ध्यानपूर्वक भरंे। एक किसान लाभार्थी अधिकतम 3 विभिन्न प्रकार के कृषि यंत्र के लिए आवेदन कर सकता है। लक्ष्यों से अधिक आवेदन प्राप्त होने पर लाभार्थियों का चयन ड्रा के माध्यम से किया जायेगा। जिन किसानों ने पिछले 4 सालों में इन कृषि यंत्रों पर अनुदान लिया है, वे किसान इस स्किम में उसी यंत्र पर आवेदन करने के लिए पात्र नहीं होंगे।


उपायुक्त ने बताया कि किसान इस पोर्टल पर उपलब्ध सूचीबद्ध निर्माताओं में से अपनी पसंद के निर्माता से मषीन खरीद सकते हैं। इसके अतिरिक्त 2.5 लाख रूपये से कम कीमत के कृषि यंत्रों के लिए आवेदन करने पर 2500/- तथा 2.5 लाख रूपये से अधिक तक कीमत के कृषि यंत्रों के लिए 5000/- आवेदन ष्का षुल्क जमा करवाना अनिवार्य है जो चयन उपरांत वापिस कर दिया जायेगा। यंत्रों की अधिक जानकारी के लिए अपने जिले के कृषि विभाग के उप निदेषक/सहायक कृषि अभियन्ता, पंचकूला या विभाग के कंट्रोल रूम 18001802117, 0172-2521900 पर किसी भी कार्य दिवस को सुबह 09 बजे से सांय 05 बजे तक संपर्क कर सकते हैं।

DLIS organized Alumni meet

प्रश्नौतरी प्रतियोगिता का भी आयोजन करवाया गया।

कालका/पंचकूला 23 जनवरी- राजकीय महाविद्यालय कालका में प्राचार्य प्रोमिला मलिक के मार्गदर्शन में पोषण ज्ञान विषय पर पोस्टर, प्रश्नोतरी एवं व्याखान  प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। सरकार की नंदिनी आरोग्य योजना के तहत विद्यार्थियों ने  पाष्ेाण पर मनभावक एवं लुभावने पोस्टर बनाए।  

For Detailed News-


इस संबध में जानकारी देते हुए प्रो0 बिन्दु ने बताया कि पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता में भावुक धीमान, किस्मत तिवारी, निकिता, रूपा गुप्ता, हर्ष, यश अव्वल रहे। प्रतियोगिता गृह विभाग की डा. सोनाली की अध्यक्षता में हुई। पोषण आहार विशेषज्ञ शिवानी गुलाटी ने पोेषण विषय पर विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि स्वस्थ्य जीवन शैली बनाए रखने के लिए पोष्टिक संतुलित आहार लेना अनिवार्य है। सभी प्रकार के पोष्टिक तत्व ही हमें सदैव चलाएमान रखते है। निर्णायक मण्डल में प्रो0 नीना शर्मा, प्रो09 बिन्दु व प्रो0 मीनू रही। इसके अलावा रेडक्रास प्रभारी  नीतू और महिला प्रकोष्ठ प्रभारी अंजना द्वारा व्याख्यान व प्रश्नौतरी प्रतियोगिता का भी आयोजन करवाया गया।

https://propertyliquid.com

DLIS organized Alumni meet

सैनिक बोर्ड भवन पहुंची विजय मशाल

सिरसा, 23 जनवरी।

सिरसा पहुंचने पर स्वर्णिम विजय मशाल का हुआ जोरदार स्वागत, 1971 की लड़ाई के शहीद जाबांजों को किया नमन


भारत-पाक युद्ध के शहीदों के परिजनों को किया गया सम्मानित


भारत-पाक युद्ध में शहीद हुए जांबाजों को नमन स्वरूप प्रधाननमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 16 दिसंबर 2020 को दिल्ली से शुरू की गई विजय दिवस मशाल शनिवार को सैनिक बोर्ड भवन पहुंची। हिसार से सेना अधिकारी व जवान विजय दिवस मशाल को लेकर एयर फोर्स स्टेशन पहुंचे, यहां से विजय मशाल को शहर से गुजारते हुए सैनिक बोर्ड भवन परिसर में लाया गया। यहां पर 1971 की लड़ाई में शहीद हुए सैनिकों व देश पर कुर्बान हुए अन्य अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। कार्यक्रम में अमर शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया गया।


सैनिक बोर्ड भवन परिसर में आयोजित कार्यक्रम में वर्ष 1971 की भारत-पाक लड़ाई में शहीद हुए बलिदानियों के परिजन भी शामिल हुए। उन्होनें भी सेनाधिकारियों के साथ शहीदों को नमन किया। सेनाधिकारियों ने शहीद परिवारों के लोगों से बात कर उनका हौंसला बढ़ाया और अपनी ओर से शहीदों को श्रद्धांजलि दी। सेना के अधिकारियों व उपायुक्त प्रदीप कुमार ने संयुक्त रूप से शहीदों के परिजनों एवं उनकी वीरांगनाओं को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस दौरान अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह, जिला सैनिक भवन कल्याण अधिकारी कर्नल दीप डागर, एसडीएम जयवीर यादव भी मौजूद रहे।


उल्लखेनीय है कि पूरे भारतवर्ष में स्वर्णिम विजय वर्ष जो कि सन 1971 में भारतीय सेना की पाकिस्तान पर जीत के 50वीं वर्षगांठ के रूप में मनाया जा रहा है। अदम्य साहस का परिचय देकर अपना बलिदान देने वाले अमर जवानों की याद में व उनको नमन स्वरूप प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 16 दिसंबर 2020 को नई दिल्ली में भारतीय सेना को विजय मशाल सौंपी थी। यह मशाल हिसार मिलट्री स्टेशन कार्यालय 33 डिवीजन द्वारा शनिवार को सिरसा लाई गई। शहर से गुजरने के दौरान नागरिकोंं ने विजय मशाल को शैल्यूट कर अमर शहीदों को नमन किया। सेना की गाडिय़ों में सवार सेना अधिकारी मशाल के साथ सैनिक बोर्ड भवन पर पहुंचे और मशाल को शहीद स्मारक पर स्थापित किया। सबसे पहले सेनाधिकारियों ने अमर शहीदों को नमन किया।


16 दिसंबर 1971 को भारतीय सशस्त्र बलों ने पाकिस्तान सेना पर एक तारकीय और ऐतिहासिक जीत हासिल की जिसके कारण बांग्लादेश के नए राष्ट्र का निर्माण हुआ और द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद पारंपरिक युद्ध में सबसे बड़ा सैन्य आत्मसमर्पण हुआ । 16 दिसंबर 2020 से राष्ट्र 1971 युद्ध की जीत के 50 साल मना रहा है, जिसका उद्देश्य 1971 युद्ध के नायकों को पहचानना और याद करना है । भारतीय सशस्त्र बलों की इस जीत को प्रदर्शित करने के लिए वर्ष 2021 को स्वर्णिम विजय वर्ष के रूप में मनाने की योजना बनाई गई है जिसमें राष्ट्रव्यापी वर्षभर का जश्न मनाया जा रहा है। इन आयोजनों के माध्यम से 1971 युद्ध के भारतीय सशस्त्र बलों के वीर सैनिकों द्वारा किए गए शौर्य, बहादुरी और बलिदानों को पहचानने और सम्मानित करने और पूरे देश में इस अवसर को मनाने के लिए एक प्रयास किया जा रहा है। इन समारोहों के भाग के रूप में देश के चारों कोनों में विजय की ज्वाला ली जा रही हैं। इन विजय की ज्वाला को माननीय प्रधानमंत्री ने 16 दिसंबरए 2020 को नई दिल्ली में सशस्त्र बलों को सौंप दिया था ।


विजय ज्वाला 15 जनवरी को हिसार मिलिट्री स्टेशन पहुंची थीं, जहां डॉट डिवीजन द्वारा इसका भव्य स्वागत किया गया ।  अगले 10 दिनों तक ज्वाला हरियाणा के विभिन्न जिलों में जाकर अधिक से अधिक आबादी खासकर पूर्व सैनिकों को एक झलक पकड़कर इस ऐतिहासिक जीत का हिस्सा बनाया जा रहा है।  हर भारतीय इन शहीदों द्वारा किए गए सर्वोच्च बलिदान और उनके परिवारों द्वारा संघर्ष का ऋणी है । यह उनके श्रेय के लिए है कि ऐतिहासिक जीत संभव था।

DLIS organized Alumni meet

रबी की फसल एमएसपी पर बेचने के लिए किसान कराएं पंजीकरण : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 23 जनवरी।

For Detailed News-

मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल शुरू, परिवार पहचान पत्र अनिवार्य


             हरियाणा सरकार ने किसानों के लिए मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर रबी की फसलों का पंजीकरण शनिवार से शुरू कर दिया है। इस पोर्टल पर पंजीकृत किसानों की रबी की फसल सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी जाएगी।


              उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर जिला के सभी किसान जल्द से जल्द अपना पंजीकरण करवा दें। इस पोर्टल पर पंजीकृत किसानों की फसलों को ही एमएसपी पर खरीदा जाएगा। मंडियों में अपनी फसल को बेचने के लिए फसलों का पंजीकरण इस पोर्टल पर करवाना जरूरी है। उन्होंने बताया कि इस बार फसलों के पंजीकरण के लिए परिवार पहचान पत्र अनिवार्य किया गया है इसलिए सभी किसान पहले अपना परिवार पहचान पत्र को अपडेट करवा लें।

https://propertyliquid.com


              उप निदेशक कृषि डा. बाबूलाल ने बताया कि जो भी किसान मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर अपनी फसलों का पंजीकरण करवाना चाहता है वे फसल डॉट हरियाणा डॉट जीओवी डॉट इन (fasal.haryana.gov.in) पर लॉगिन करके खुद भी अपने कम्प्यूटर या मोबाइल के माध्यम से पंजीकृत करवा सकता है। इसके अलावा किसान अपनी फसल का पंजीकरण कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से भी करवा सकते हैं। उन्होंने बताया कि इस संबंध में किसानों को अगर किसी भी प्रकार की परेशानी आती है तो वह कृषि तथा किसान कल्याण विभाग द्वारा जारी टोल फ्री नंबर 1800-180-2117 और 1800-180-2060 पर संपर्क कर सकते हैं।

DLIS organized Alumni meet

बच्चों ने बड़े उत्साह से की जिलास्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह की फुल डे्रस रिहर्सल

सिरसा, 23 जनवरी।

For Detailed News-

– अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह ने किया ध्वजारोहण व परेड का किया निरीक्षण व मार्च पास्ट की ली सलामी


– गणतंत्र दिवस समारोह को सफल बनाने व अनुशासन की पालना में सहयोग करें नागरिक : एडीसी उत्तम सिंह


            जिला में 72वां गणतंत्र दिवस समारोह धूमधाम हर्षाेल्लास के साथ मनाने के उद्देश्य से शनिवार को स्थानीय पुलिस लाइन में फुल ड्रेस रिहर्सल का आयोजन किया गया। अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह ने ध्वजारोहण कर परेड का निरीक्षण किया तथा मार्च पास्ट की सलामी ली। जिलास्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह की फाइनल रिहर्सल में विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं ने पीटी परेड व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह ने बच्चों द्वारा प्रस्तुत किए गए कार्यक्रमों की प्रशंसा करते हुए उनका हौसला बढ़ाया।  इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक भूपेंद्र सिंह, एसडीएम जयवीर यादव, नगराधीश गौरव गुप्ता, उप पुलिस अधीक्षक संजय बिश्रोई, आर्यन चौधरी, जिला शिक्षा अधिकारी संत कुमार, एपीसी शशी सचदेवा, भारत स्काउट एवं गाइड के जिला सचिव सुखदेव सिंह ढिल्लो, डीपी सुभाष सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, स्कूलों के अध्यापक, अध्यापिकाएं व बच्चें उपस्थित थे।


            अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह ने बताया कि जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर मुख्य अतिथि उपायुक्त प्रदीप कुमार ध्वजारोहण करेंगे व परेड़ की सलामी लेंगे। मुख्य अतिथि 26 जनवरी को प्रात: 9.45 बजे शहीदी स्थल पर शहीदों को तथा 9.50 बजे स्वतंत्रता सैनानी स्मारक स्थल पर स्वतंत्रता सैनानियों को पुष्प अर्पित कर नमन करेंगे। मुख्य अतिथि प्रात: 9.58 बजे ध्वजारोहण कर परेड का निरीक्षण व मार्च पास्ट की सलामी लेंगे। उन्होंने बताया कि गणतंत्र दिवस समारोह में शानदार परेड, मार्च पास्ट के अलावा देशभक्ति से ओत प्रोत सांस्कृतिक प्रस्तुतियां आकर्षण का केंद्र होंगी। समारोह में मुख्यअतिथि द्वारा शहीदों तथा स्वतंत्रता सैनानियों व उनके परिजनों, उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्तियों व अधिकारियों / कर्मचारियों को सम्मानित किया जाएगा। समारोह में बच्चों द्वारा एक से बढकर एक शानदार प्रस्तुतियों के साथ-साथ सतीश कुमार के कुशल मंच संचालन ने सबका मन मौहा।

https://propertyliquid.com


बच्चे रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से करेंगे धमाल


            शनिवार को फाइनल रिहर्सल में प्रयास स्कूल, दिशा स्कूल, श्रवणवाणी दिव्यांग विद्यालय के बच्चों ने एक्शन सांग ‘हम सब भारतीय हैÓ प्रस्तुत किया। इसके अलावा शाह सतनाम जी कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय सिरसा के विद्यार्थियों ने टेबल डांस ‘जय होÓ, महाराजा अग्रसैन कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय सिरसा के बच्चों ने देशभक्ति एक्शन सांग ‘मेरी मां-प्यारी मांÓ, राजकीय वरिष्ठï माध्यमिक विद्यायल चत्तरगढ़पट्टïी के बच्चों ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ पर कॉरियोग्राफी, डीएवी स्कूल सिरसा के बच्चों ने राजस्थानी नृत्य ‘पधारो म्हारे देसÓ, विवेकानंद स्कूल सिरसा के बच्चों ने हरियाणवी नृत्य ‘कुटंब कबीलाÓ, राजकीय कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय सिरसा के बच्चों ने गिद्दा ‘लोहड़ी तीयां दीÓ, राजकीय नैशनल कॉलेज सिरसा के बच्चों ने भंगड़ा ‘मैं गबरु देश पंजाब दाÓ, राजकीय वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय नेजाडेलाकलां के विद्यार्थियों ने ‘ये देश है वीर जवानों काÓ तथा न्यू सतलुज वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय के बच्चों ने राष्टï्रीय गान की रिहर्सल की।

परेड में इन टुकडिय़ों ने लिया भाग :


            फाइनल रिहर्सल में महिला पुलिस बल, पुलिस बल, गृह रक्षी बल, राजकीय नैशनल कॉलेज, राजकीय कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय, जीआरजी कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय, राजकीय मॉडल संस्कृतिक वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय की एनसीसी, राजकीय कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय सिरसा की गल्र्स गाइड, राजकीय मॉडल संस्कृतिक वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय सिरसा की स्काउट (प्रजातंत्र के प्रहरी), राजकीय वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय खैरपुर की स्काउट (नैशनल ग्रीन कॉर्पस), भारत सैनिक वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय की स्काउट की टुकडिय़ों तथा महाराजा अग्रसैन स्कूल सिरसा की बैंड की टीम ने भाग लिया।

महिलाओं व पुरुषों के लिए बैठने की होगी अलग व्यवस्था


           अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह ने निर्देश दिए कि जिलास्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में अधिकारी और कर्मचारी गंभीरता से अपनी ड्यूटी का निर्वहन करें। समारोह में कोविड-19 के नियमों की पालना की जाए तथा सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क का प्रयोग करें। इसके अलावा स्कूल इंचार्ज व नागरिक भी समारोह को सफल बनाने व समारोह के दौरान अनुशासन बनाए रखने में जिला प्रशासन का सहयोग करें। मंच पर स्वतंत्रता सैनारियों, विशिष्ठï अतिथियों व पत्रकारों के लिए अलग से व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि समारोह स्थल पर पुरुषों व महिलाओं के बैठने के लिए अलग-अलग व्यवस्था की जाए। इसके अलावा पीने के पानी की भी समुचित व्यवस्था की जाए। समारोह स्थल पर दमकल व एम्बुलेंस को तैनात किया जाए और मोबाइल शौचालयों की भी व्यवस्था की जाए। 

DLIS organized Alumni meet

Annual Global Alumni Meet in Dept of Guru Nanak Sikh Studies PU

Chandigarh January 22, 2021

Today a web based Global Annual Alumni Meet was organized in the department of Guru Nanak Sikh Studies PU Chandigarh in collaboration with Panjab University Alumni Association on the occasion of its 50th Golden Jubilee Celebration. Program was started with the recitation of Shabad Gayan “Deh Shiva bar mohe ihai shubh karman te kabhun na taron” by students of Gurmat College Patiala.

For Detailed News-

In her welcome-cum-introductory address Prof. Jaspal Kaur Kaang, Professor & Academic Incharge of the Department gave a brief account of achievements of the department during 50 years as well as of it’s alumni. Department was established in the year of 1970 by Government of India on the occasion of 500th Birth centennial of Guru Nanak Dev ji. Two digital projects Documentation of History and Achievements of the department during the last 50 years, and Vichar Prabandh of Guru Tegh Bahadur Bani were launched on this occasion.

In his inaugural address, Dr. V R Sinha, Dean Research of university said that Alumni are real Brand Ambassadors of any institution. Alumni always gives a fine exposure and glimpse of their institution. The worth of any institution is determined by the contributions and positions of it’s students.

https://propertyliquid.com

The Eminent Speaker was Dr. Gurinder Singh Mann, Director, Global Institute of Sikh Studies California (USA). In his address he said that Guru Nanak established a path full of spiritual and practical knowledge. He said that we should be futuristic in our belief, actions and spirit based upon the valuable knowledge that consists in the Shri Guru Granth Sahib.

Dr. Jaspal Singh, Former VC PU Patiala & Member of Minority Commission, GoI and Dr. Jasbir Kaur, Former Dean, PU Patiala & Principal, Gurmat College, Patiala were hounoured for their valuable contributions in their respective fields.

Chief guest was Dr. R K Singla, DUI of PU Chandigarh. The president of the session was Dr. Jaspal Singh, Former VC PU Patiala & Member of Minority Commission, GoI. In his presidential address he said that Guru Granth Sahib is not only a spiritual Granth but also a storehouse of political, social and economic thoughts. He also said that Guru Nanak was a global teacher, educator and mentor and Sikh Studies is a comprehensive approach which works for all-rounded development and growth of the whole society.

Guest of Honour were Dr. Satish Kumar Verma, Professor Emeritus, Desh Bhagat University, Mandi Gobindgarh; Dr. S.S Bhatti, Former Dean, Design & Fine Arts Faculty, Panjab University Chandigarh; Dr. Ronki Ram, Shaheed Bhagat Singh Professor, Department of Political Science, Panjab University; Dr. Jasbir Kaur, Former Dean, Punjabi University Patiala & Principal, Gurmat College, Patiala; Dr. Opinderjit Kaur, Director of Centre for Sikh and Punjab studies, University of Wolves, Hampton, UK; Dr. Asma Qadrii, Associate Professor, Department of Punjabi, University of the Punjab, Lahore and Charanjit Singh, Educational Researcher, Centennial College, Toronto, Canada.

People from all over the world participated in the webinar including PU Chandigarh, PU Patiala, PU Lahore, UK, Australia, US, England etc. and made the program successful. All the alumni remembered their old days and shared their memories. Stage was conducted by Dr. Sukhwinder Singh. In the end of Meet, Prof. Gurpreet Kaur of dept of Evening Studies-MDRC, PU gave a vote of thanks to all the participants and dignatries from across the Globe; specially of Dr. Raj Kumar, vice—chancellor of the University for their cooperation and inspiration.