हिसार जिले में हांसी उपमंडल के गांव कुलाना में कल मेघ गर्जन के साथ बिजली गिरने से करीब 25 घरों में इन्वर्टर-बैटरी, टेलीविजन,फ्रीज़, कूलर सहित इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जलकर फट गए।

हिसार:

 हरियाणा के हिसार जिले में हांसी उपमंडल के गांव कुलाना में कल मेघ गर्जन के साथ बिजली गिरने से करीब 25 घरों में इन्वर्टर-बैटरी, टेलीविजन,फ्रीज़, कूलर सहित इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जलकर फट गए। 

आज यहां प्राप्त जानकारी के अनुसार इस दौरान बिजली भी फिटिंग भी जल गई। बिजली के जोरदार धमाके से कई मकानों को भी नुकसान पहुंचा है। राजकुमार के घर में तो इन्वर्टर-बैटरी, टेलीविजन व कूलर के अलावा घर की पूरी बिजली की फिटिंग जल गई। वहीं पास में ही स्थित रामचंद्र के घर का ऊपरी भाग उखड़ गया। बिजली से गांव के करीब 50 घर प्रभावित हुए जिनमें से 25 घरों में अधिक नुकसान हुआ है। 

For Sale

विडंबना यह है कि पहले से ही गरीबी का दंश झेल रहे लोगों के घरों को ही इस प्राकृतिक आपदा से अपना शिकार बनाया। इन लोगों को यदि प्रशासनिक सहायता न मिली तो दोबारा से बिजली के उपकरण जुटाने में बड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है। ग्रामीणों ने तुरंत प्रभाव से जिला प्रशासन से नुकसान का सर्वे करवाकर मुआवजा देने की मांग की है। 

इस गांव के सरपंच मांगेराम सरसवा ने कहा है कि गांव में बिजली गिरने से इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जलने के साथ साथ काफी नुकसान हुआ है। मुआवजे के लिए प्रशासन से गुहार लगाई जाएगी।

पंचकुला : बंधन लाइफस्टाइल एवं होम डेकोर प्रदर्शनी के साथ तीज त्यौहार को भी मनाया

पंचकुला :

पंचकुला सेक्टर 5 स्थित बेलाविस्टा होटल में तीज के अवसर पर दुसरे दिन “ बंधन लाइफस्टाइल एवं  होम डेकोर ” प्रदर्शनी के साथ तीज त्यौहार को भी मनाया । प्रदर्शनी में तीज त्यौहार और रक्षा बंधन की ख़ुशी को नाच गा कर ज़ाहिर किया ।

For Sale

प्रदर्शनी का मुख्य आकर्षण फुलकारी दुपट्टे, जुत्ती और रक्षा बंधन की राखी रहा । प्रदर्शनी के आयोजक अंजलि राकेश मकीं ने आगे बताया की प्रदर्शनी में कुल 40 स्टाल लगाये गये है ।

इस प्रदर्शनी का उद्घाटन  सुधा भरद्वाज सिनिअर वाईस प्रेसिडेंट एचपीएमसी ने किया । प्रदर्शनी में महिलाओं की पसंद को लेकर पंजाबी सूट, सजावटी सामान, ब्रास के बने ज़ेवरात, अम्बाला केंट का चटनी – आचार, क्रोसिया वर्क और हाथ से बने डिज़ाइनर कुर्ती रहे । 

Watch This Video Till End….

Ms. Simranpreet Kaur Bhalla topped Anthropology Examination

Chandigarh 4TH August 2019


 Ms. Simranpreet  Kaur Bhalla stood first in the MSc (Hons. School) Anthropology 2019 examination conducted by Panjab University. She has got 1799 marks out of 2000 in the examination. She will be awarded “Dewan Bahadur Wali Ram Taneja Gold Medal for standing first in this examination. According to Dr. Kewal Krishan, Chairperson of the Department, Ms Bhalla had also topped in the BSc (Hons. School) in the year 2017 and was awarded SRK Chopra Gold Medal in the recently held University convocation.  She has been one of the most promising students and always performed every academic and extracurricular activities of the department.

For Sale

The second and the third positions were achieved by Ms. Muskan and Ms. Shweta Malhotra respectively. Dr Krishan wishes them all the best for their future endeavours.

Watch This Video Till End….

A special interactive session of Post-Doctoral Fellows (PDFs) of Panjab University, Chandigarh

 Chandigarh 4TH August 2019


 A special interactive session of Post-Doctoral Fellows (PDFs) of Panjab University, Chandigarh was held today with Sh. Ajay Gupta, Director (Research), ICSSR, New Delhi. He discussed and highlighted various schemes of ICSSR where several grants worth lacs are available to faculty members and research scholars of universities.

            A presentation given by Sh. Gupta revealed that the rejection rate of Post-Doctoral Fellowships, Doctoral Fellowships and other national Fellowships offered by ICSSR is very high because the emphasis is on approving high quality research work by the body.

For Sale

  “Our aim is that more and more researchers and teaching faculty can make use of the grants and schemes offered by ICSSR. There are new schemes and projects that can be applied for and our website is extremely friendly,” said Sh. Gupta.

The Dean of University Instructions (DUI) and officiating Vice Chancellor, Prof. Shankarji Jha, Dean of Student Welfare (DSW) Prof Emanual Nahar were present at the occasion.

“I am immensely happy to see that the PDF forum in PU is doing great work and organising constructive activities for welfare of all researchers,” said Prof. Emanuel.

 Seminar Convenor Dr. Pulakes Purkait, Department of Anthropology thanked the PDFs and University officials for supporting the activities of forum.

Other Professors present at the seminar included Prof. Devinder Singh, Prof. Sanjay Kaushik, Prof. Sanjeev Sharma and Dr. Prabhdip Brar.

The session was attended by PDFs, PhDs and other students of PU campus and was organised by PDF Academic Forum and UIFT.

Watch This Video Till End….

550वां प्रकाश उत्सव राज्य स्तरीय समारोह

सिरसा, 4 अगस्त।

दिन भर सिरसा में गूंजे जो बोले सो निहाल-सत श्री अकाल और वाहे गुरू जी का खालसा-वाहे गुरू की फतह 

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नगाड़ा बजाकर बढ़ाया श्रद्घालुओं का उत्साह, पंगत में बैठ श्रद्घालुओं संग चखा लंगर


 गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव पर अनाज मंडी में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह को लेकर प्रदेशवासियों में काफी उत्साह दिखाई दिया, जिसका प्रमाण समारोह में उमड़ी श्रद्घालुओं की भीड़ दे रही थी। प्रशासन की ओर से की गई सुविधाजनक विभिन्न्न व्यवस्थाओंं के चलते प्रदेश केसभी जिलोंं से श्रद्घालुओंं ने समारोह का हिस्सा बनकर गुरू नानक वाणी का रसपान कर अपने आपको निहाल किया। समारोह के भव्य व सफल आयोजन मेंं सभी समुदायोंं व संस्थाओं के सहयोग के साथ आयोजन को भाईचारे व समरसता का प्रतीक बना दिया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वयं भी साध संगत के साथ लंगर चखने के साथ-साथ प्रदर्शनी में नगाड़ा बजाते हुए आयोजन को लेकर श्रद्घालुओं के उत्साह व जोश को बढ़ाया।


रबाब से नगाड़ा प्रदर्शनी को लेकर श्रद्घालुओं में दिखा भारी उत्साह :

गुरू नानक देव जी के प्रकाश उत्सव पर गुरू घर की तरह सजा सिरसा, हजारों की संख्या में उमड़े श्रद्घालु


 अनाज में आयोजित प्रकाशोत्सव समारोह में गुरू नानक देव जी की जीवन पर आधारित प्रदर्शनी रबाब से नगाड़ा आकर्षण का केंद्र रही। रबाब से नगाड़ा नाम से प्रदर्शित प्रदर्शनी में गुरू नानक देव जी की उदासियों के चित्रण को दर्शाया गया था। जहां गुरू नानक देव जी ने रबाब(वाद्य यंत्र) बजाकर अपनी वाणी से लोगों को भाईचारे व मानवता का संदेश दिया, वहीं गुरू गोबिंद सिंह ने नगाड़ा बजाकर लोगों में जागृति लाने का काम किया। इसलिए इस प्रदर्शनी को रबाब से नगाड़ा नाम से प्रदर्शित किया गया था। प्रदर्शनी को लेकर लोगों में इतना उत्साह था कि लोग समारोह के शुभारंभ से पहले ही 3 अगस्त को सायं को प्रदर्शनी को देखने के लिए आने लगे थे। मुख्यमंत्री ने मनोहर लाल ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। मुख्यमंत्री ने जब नगाड़ा बजाया तो उनके चेहरे पर उत्साह व जोश देखते ही बन रहा था। प्रदर्शनी में लोगों को किसी प्रकार की असुविधा ना हो इसलिए प्रदर्शनी हाल को पूरी तरह से वातानुकूलित बनाया गया था। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पंजाब स्टडीज के निदेशक एवं सिख विद्वान डा. महेंद्र सिंह की रिसर्च पर आधारित प्रदर्शनी को नई दिल्ली स्थित भाई वीर सिंह साहित्य सदन ने तैयार किया था। 

For Sale


श्रद्घालुओं के लिए तीन हजार बसों की गई थी सुविधा : 
 प्रकाशोत्सव में न केवल प्रदेश से बल्कि अन्य राज्यों से भी श्रद्घालु यहां पहुंचे थे। प्रदेश सरकार ने श्रद्घालुओं को प्रकाशोत्सव समारोह मेंं पहुंचने के लिए बसोंं का इंतजाम किया हुआ था। इस कार्य के लिए तीन हजार बसें लगाई गई थी। न केवल प्रशासन द्वारा श्रद्घालुओं के लिए यातायात सुविधा की गई थी, बहुत से श्रद्घालु व सामाजिक संस्थाएं भी नि:शुल्क वाहन सेवा देती नजर आई। इस प्रकार से श्रद्घालुओं को समारोह स्थल पर पहुंचने में किसी प्रकार की असुविधा नहींं हुई। हरियाणा के सभी जिलों के वासी इस आयोजन में भागीदार बने। 

विभिन्न्न धार्मिक व सामाजिक संस्थाओंं ने लगाए लंगर :
 समारोह में विभिन्न्न धार्मिक व सामाजिक संस्थाओंं द्वारा लगाए गए लंगर भी लोगोंं के लिए आकर्षण का केंद्र रहे, जोकि भाईचारे व सेवाभाव को प्रदर्शित कर रहे थे। समारोह में बाबा कश्मीरा सिंह दनौदा वाले, गुरू द्वारा साहिब तिलोके वाला व श्री चिल्ला साहिब गुरू द्वारा ने लंगर लगाया। लोगोंं ने लंगर चख अपने आपको निहाल किया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी श्रद्घालु संतों के साथ लंगर चखा। जिस सेवाभाव से श्रद्घालु लंगर चख रहे थे, उससे पूरा माहौल मानवता संदेश प्रेरक बना हुआ था। 

मन मोहने वाली रही पंडाल की सजावट  :
 समारोह स्थल व पंडाल की साज-सज्जा में प्रशासन द्वारा तैयारियों के लिए गई कड़ी मेहनत खूब दिखाई दी। पंडाल को लडिय़ोंं, झूमर व फूलों से सजाया गया था। श्रद्घालुओंं का पंडाल को निहारते हुए देखना देखते ही बन रहा था। पंडाल में सजावट के साथ-साथ हजारों की संख्या में उमडऩे वाले श्रद्घालुओं की सुविधाओं का भी पूरी तरह ध्यान रखा गया। मुख्य मंच पर चलने वाले कार्यक्रम का सीधा प्रसारण आयोजन स्थल पर लगी बड़ी-बड़ी एलईडी स्क्रीन पर दिन भर जारी रहा। 


 अनाज मंडी में आयोजित गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में मुख्य मंच के पीछे अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त मीडिया सेंटर की स्थापना की गई जिसमें मीडियाकर्मियों के लिए सभी सुविधाएं जुटाई गई थीं।


 प्रकाश पर्व की मीडिया कवरेज करने के लिए स्थानीय पत्रकारों के अलावा चंडीगढ़ व दिल्ली से भी कई पत्रकार सिरसा पहुंचे। इनके लिए पूरी तरह से वातानुकूलित मीडिया सेंटर बनाया गया। मीडिया सेंटर में पत्रकारों की सुविधा के लिए तेज गति की इंटरनेट सुविधा सहित 50 कंप्यूटर स्थापित करवाए गए थे। मीडिया कर्मियों के लिए जलपान व भोजन के अलावा बैठने की भी उचित व्यवस्था की गई थी। मीडिया सेंटर में विशाल एलईडी स्क्रीन भी लगवाई गई थीं जिनके माध्यम से मीडियाकर्मी मुख्य कार्यक्रम का लाइव प्रसारण यहीं बैठकर देख सके।

सिरसा की नई अनाज मंडी में श्री गुरू नानक देव जी के 550 साला प्रकाशोत्सव के अवसर पर प्रदेश के कोने-कोने से आई संगत को संबोधित कर रहे थे। – मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल

सिरसा, 04 अगस्त।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा है कि संस्कारों के बिना सभी प्रकार की शिक्षाएं व्यर्थ हैं और जब तक हम महापुरुषों के संपर्क या उनके बताए हुए उपदेशों व शिक्षाओं पर नहीं चलते तब तक हमारी शिक्षा व्यर्थ है। इन्हीं महापुरूषों का संदेश देने के लिए हरियाणा सरकार ने पिछले पांच वर्षों में महापुरुषों की जयंतियां सरकारी तौर पर मनाने का निर्णय लिया है। श्री मनोहर लाल रविवार को सिरसा की नई अनाज मंडी में श्री गुरू नानक देव जी के 550 साला प्रकाशोत्सव के अवसर पर प्रदेश के कोने-कोने से आई संगत को संबोधित कर रहे थे। 


         मुख्यमंत्री ने कहा कि सिरसा धर्मगुरूओं की एक ऐतिहासिक नगरी रही है जहां सिखों के सभी दस गुरुओं ने यहां पर चालिसा अर्थात 40 दिन यहां बिताए हैं। श्री गुरु नानक देव जी महाराज ने यहां के गुरुद्वारा चिल्ला साहिब में चार महीने 13 दिन बिताए थे। उन्होंने गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी की मांग पर गुरुद्वारा चिल्ला साहिब की लगभग 77 कनाल लजूर भूमि जो सरकार के नाम है को सरकार की नीति के अनुसार गुरुद्वारा के नाम करने की घोषणा की। इसके अलावा जितनी भूमि का उपयोग गुरुद्वारा गुरु घर के लिए करेगा उसको छोडकऱ शेष जमीन पर लोक भलाई के लिए चलाई जाने वाली संस्थानों के लिए सरकार की ओर से आवश्यक अनुदान देने की घोषणा भी की। 


मुख्यमंत्री ने सिरसा व उसके आस-पास के पंजाबी बाहुल्य जिलों में पंजाबी अध्यापकों के रिक्त पदों को शीघ्र भरने की घोषणा की। इसके लिए लगभग 400 पदों का विज्ञापन आज या कल में जारी कर दिया जाएगा। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कुरुक्षेत्र में सिख गुरुओं के नाम से एक संग्रहालय बनवाने की घोषणा की। संग्रहालय में सिख गुरुओं के बलिदान व इतिहासकारों द्वारा लिखे गए लेखों की जानकारी उपलब्ध होगी ताकि युवा पीढ़ी को महापुरुषों से प्रेरणा मिल सके। 


मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने सिरसा में सिख समाज के लिए लगभग एक एकड़ जमीन धर्मशाला बनवाने के लिए सिरसा के उपायुक्त को जमीन तलाशने के निर्देश भी दिए। उन्होंने हरियाणा से होकर पंजाब व राजस्थान सीमा तक जा रहे श्री गुरु गोबिंद सिंह के नाम पर घोषित राष्ट्रीय राजमार्ग पर उनके नाम के साईन बोर्ड लगवाने की घोषणा की। इसके अलावा समारोह में रखी गई सभी मांगों पर सहानुभूतिपुवर्क विचार करने का आश्वासन दिया। 


मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का खजाना केवल सिख समाज के लिए ही नहीं खुला है बल्कि समाज के हर वर्ग के लिए खुला है। सरकार का काम जनता के मौलिक कामों को ठीक करना है। पिछले पांच वर्षों में हमने अधिकारियों के द्वारा सरकारी फंड पर लगाए जाने वाले टांके के वहम को खत्म किया है। मुख्यमंत्री ने कैथल में स्थापित की गई संत चूड़ामणि भाई संतोख सिंह की प्रतिमा का अनावरण रिमोट से किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरु नानक देव जी महाराज ने अपनी शिक्षाओं के माध्यम से समाज को एकता में जोडऩे व भाईचारा बनाए रखने का उस समय संदेश दिया था जब देश में गुलामी का दौर था और विदेशी आक्रांता भारतीय समाज को कमजोर करने में लगे हुए थे। उन्होंने कहा कि बाद में इसी प्रथा को आगे बढ़ाते हुए सिख गुरु गोबिंद सिंह दरा उत्तर भारत के राज्यों में मुगलों से लड़ाई के लिए बीर बंदा बहादुर को सेनापति बनाकर सेना का गठन किया था और बीर बंदा बहादुर सिंह के नेतृत्व में यमुनानगर के निकट लोहगढ़ को अपनी राजधानी बनाया और मुगलों से डटकर लड़े। सरकार ने बीर बंदा बहादुर की स्मृति में लोहगढ़ को पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करने की घोषणा की है और वहां पर मार्शल आर्ट स्कूल खोला जा रहा है और बाबा बंदा सिंह बहादुर व उसकी सेना से जुड़ी शस्त्र व अन्य चीजों को सहेजने के लिए एक संग्रहालय का निर्माण किया जा रहा है और इसके लिए एक ट्रस्ट का गठन भी किया जाएगा। इस अवसर पर सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक समीर पाल सरों की अगुवाई में श्री गुरु नानक देव जी महाराज पर विशेष रूप से तैयार की गई दो वृत चित्र भी प्रदर्शित किए गए जिसकी उपस्थित साध-संगत ने भूरी-भूरी प्रशंसा की और मंच संचालक जत्थेदारों ने भी श्री सरों का इसके लिए विशेष आभार व्यक्त किया। 


 इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने गुरू नानक देव जी के जीवन पर दिल्ली प्राकृतिक विज्ञान संस्थान द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। इस अवसर पर लगाए गए रक्तदान शिविर में भी मुख्यमंत्री स्वेच्छा से रक्तदान दे रहे युवाओं से भी मिले। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर लगाए गए गुरु के लंगर का छका। 


मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे महापुरुषों ने सदैव हमें सच के लिए झूठ के खिलाफ लडऩे तथा न्याय के लिए अन्याय के खिलाफ लडऩे का संदेश दिया था। उन्होंने कहा कि भगवान राम व रावण के बीच का युद्ध भी बुराई के खिलाफ न्याय का युद्ध था। उन्होंने कहा कि हम हर वर्ष रामलीला के बाद रावण का बुराई के प्रतीक के तौर पर दहन करते हैं और जो हमें न्याय के साथ खड़ा होने व अन्याय के खिलाफ लडऩे का संदेश देता है। 

For Sale


श्री मनोहर लाल ने कहा कि इसी प्रकार महाभारत के युद्ध में भगवान श्रीकृष्ण ने पांडवों का साथ भी इसीलिए दिया था क्योंकि कौरवों को अन्याय का प्रतीक माना जाता है। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने कहा था कि जब-जब समाज में न्याय के लिए अन्याय के खिलाफ लडऩे की जरूरत होगी वे तब-तब इस सृष्टि में किसी न किसी अवतार के रूप में जन्म लेते रहेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार का काम अच्छाई करने का है बुराई का नहीं। लोकतंत्र में जनता का काम अच्छाई का साथ देने का होता है और यह अवसर उन्हें हर पांच वर्ष बाद प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि पिछले 20 से 25 वर्षों के दौरान प्रदेश में स्वार्थ की राजनीति होती रही और जनता की भलाई से उनका कोई लेना-देना नहीं था। अपना घर, अपना स्वार्थ, अपना परिवार ,अपना क्षेत्र व अपनी जाति उनके लिए सर्वोपरि रही है। विकास के नाते सडक़, स्कूल या अन्य आधारभूत संरचना विकसित करना सरकार के लिए कोई बड़ी बात नहीं है। जनता का पैसा ही सरकार को इस काम में लगाना होता है। केवल निष्ठा व पारदर्शी तरीके से काम करने की इच्छाशक्ति सरकार के पास होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में वे शिक्षा, स्वास्थ्य व सुरक्षा को अपना प्रमुख एजेंडे में रखेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने सबका साथ-सबका विकास का नारा देकर जातिवाद से उपर उठकर भाईचारा प्रेम व एकता के साथ करने का संदेश हमें दिया था। उन्होंने कहा कि वे पूरे हरियाणा को अपना परिवार मानते हैं। गरीब की मदद करना पहले हमारा फर्ज होना चाहिए। उन्होंने कहा कि गुरु नानक देव जी ने कहा था कि नानक नाम चढ़ती कलां, जननी जामा सबका भला। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में वह महापुरुषों की जयंतियां सरकारी तौर पर मनाना जारी रखेंगे। 
उन्होंने कहा कि गुरु गोबिंद सिंह जी के 350 साला पर करनाल में आयोजित राज्यस्तरीय समारोह में की गई घोषणाओं को लगभग पूरा कर दिया है जिनमें मानव चौक से जाने वाली सडक़ का नाम माता गुजरी कौर के नाम करने, अंबाला में माता गुजरी कौर के नाम से वीएलडीए महाविद्यालय खोलना प्रमुख है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा पटना साहिब तक दो विशेष ट्रेनें सिरसा व अंबाला से चलाई गई थी जिसकी घोषणा भी उसी समय की गई थी। उन्होंने कहा कि बनारस, अमृतसर व अन्य तीर्थ स्थलों पर जाने वाले बुजुर्ग श्रद्धालुओं के लिए रेलवे की द्वितीय श्रेणी में आरक्षित टिकट का आधा खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाएगा जिसकी घोषणा पिछले दिनों की गई है। बड़ी संख्या में उपस्थित भीड़ से गद्गद् मुख्यमंत्री ने लोगों की उपस्थिति की जानकारी आयोजकों से मांगी तो जिला उपायुक्त ने जानकारी दी कि तीन हजार बसें प्रदेश हर कोने से सिरसा आई हैं। इसके अलावा सैकड़ों लोग अपने निजी वाहनों से आए हैं। इस हिसाब से यह उपस्थिति लगभग दो लाख के करीब बनती है। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में सहयोग देने वाले सभी संस्थानों, गुरुद्वारों व समाज के अन्य प्रबुद्ध व्यक्तियों तथा जिला प्रशासन के अधिकारियों का विशेष रूप से आभार व्यक्त किया और उपस्थित लोगों को श्री गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाशोत्सव की बधाई व शुभकामनाएं दी। 


भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने पंजाबी भाषा में दिए गए अपने संबोधन में सभी उपस्थित साध संगत को बधाई व शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज का दिन एकता को बनाए रखने के लिए एक यादगार का दिन है। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने महापुरुषों की जयंतियां सरकारी स्तर पर मनाने की एक निराली शुरूआत की है। विधायक बख्शीश सिंह विर्क ने भी मुख्यमंत्री का विशेष आभार व्यक्त किया जिन्होंने इससे पूर्व भी गुरु गोविंद सिंह के 350 साला को सरकारी तौर पर करनाल से मनाने की शुरूआत की थी और इसका समापन यमुनानगर में करवाया था। उन्होंने कहा कि 1947 के बाद किसी भी प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री ने पाकिस्तान में करतारपुर दरबार साहिब कॉरिडोर खोलने का मुद्दा नहीं उठाया लेकिन अब प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से यह कार्य आगे बढ़ा है।  समारोह को विभिन्न गुरुद्वारों से आए सिख संतों ने भी संबोधित किया। 


 इस अवसर पर खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले राज्यमंत्री कर्ण देव कंबोज, विधायक सुभाष सुधा, डा. कमल गुप्ता व श्याम सिंह राणा, हरियाणा पर्यटन निगम के चेयरमैन जगदीश चोपड़़ा, हरियाणा बीज विकास निगम के चेयरमैन पवन बेनिवाल, हैफेड के चेयरमैन सुभाष कत्याल, जिलाध्यक्ष भाजपा यतिंद्र सिंह एडवोकेट, चेयरमैन आदित्य देवीलाल, सीडीएलयू सिरसा के कुलपति डा. विजय कायत, हरियाणा पंजाबी साहित्य अकादमी के निदेशक गुरविंद्र सिंह धमीजा, उपायुक्त अशोक कुमार गर्ग, पुलिस अधीक्षक डा. अरुण सिंह, अतिरिक्त उपायुक्त मनदीप कौर, संयुक्त निदेशक पंकज सेतिया, पूर्व चेयरमैन रेणू शर्मा, गुरदेव सिंह राही, डा. वेद बेनिवाल, मार्केट कमेटी रानियां के चेयरमैन शीशपाल कंबोज, मार्केट कमेटी डबवाली के चेयरमैन बलदेव सिंह मांगेआना, मार्केट कमेटी ऐलनाबाद के चेयरमैन अमीर चंद मेहता, युवा भाजपा नेता अमन चोपड़ा, मुनीष सिंगला सहित, भाजपा नेत्री सुनीता सेतिया सहित, श्याम बजाज भारी संख्या में श्रद्घालु व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे। साथ ही इस अवसर पर संत बाबा सेवानंद, संत बाबा प्रीतम सिंह मलड़ी, संत बाबा छोटा सिंह गंगा मस्ताना, संत बाबा मेजर सिंह कुंदन, संत बाबा दर्शन सिंह दादू, संत बाबा मान सिंह, संत बाबा गुरमीत सिंह तिलोकेवाला, संत बाबा सुखदेव सिंह, संत बाबा चरणजीत सिंह, संत बाबा रागी अवतार सिंह, संत बाबा गुरपाल सिंह भी मौजूद थे। 

Tree plantation camp organised at Boys Hostel no. 2

Chandigarh 4TH August 2019

Tree plantation camp organised at Boys Hostel no. 2. Chief guest of the  event : Mr J. Sanjeev  Kaushik: Chairman CAT CHD. Guests of honor : Mr Rakesh Kumar Popli: PCS, Additional Excise and Taxation Commissioner, Chd. Prof Emanual Nahar, Dean Student Welfare and Dr. Sanjeev Gautam.

For Sale

Watch This Video Till End….

PU

Chandigarh 4TH August 2019

 Panjab University Alumni Association in collaboration with Social Substance organized a counselors meeting and counseling session for the girls on Aug 3, 2019. The meet was attended by Ms. Neelam Dhamija, Ms. Y.K. Sharma, Ms. Kamal Malhi, Ms. Shubha Nehra, Ms. Anaya Poonam, Ms. Iti Sarin,  Ms. Shikha Bansal, Mr. Susihl Hindustani and
Dr. Arun Bansal.

            Ms. Dhamija and Ms. Sharma are both experienced and veteran counselors visiting various government schools of Chandigarh. Ms. Malhi is trained counselor who heals by holistic methods including meditation. Ms. Shubha Nehra is expert of food and wellness programs. Ms. Anaya Poonam works with drug addicts at National Level. Ms. Iti works with sports’ persons for their counseling needs. Ms. Shikha Bansal is an educator and self-motivated volunteer. Mr. Sushi Hindustani running his own channel project talents of individuals using youtube channel. Dr. Arun Bansal who coordinated the event is an educator, trained & experienced guide.

            Watch This Video Till End….

The event was quite successful and met entirely with objectives. It was decided unanimously that society by large need counseling sessions at various stages. Panjab University being house of thousands of people including students and resident is an ideal place to start with current line of action. It was consented that this initiative should reach to various girls’ hostels of PU and Alumni House should remain hub for counselor’s meet and specialized one to
one counseling. It was expected that every week counseling sessions would be organized at Panjab University, especially for girls.

            Dr. Arun Bansal proposed the vote of thanks and expressed gratitude toward Prof. Deepti Gupta, Dean Alumni Relations, PU for providing extensive support to such an important and much needed activity.

Watch This Video Till End….

कैथल में लगाई गई संत चूड़ामणि भाई संतोख सिंह की प्रतिमा का अनावरण भी किया

सिरसा, 04 अगस्त। 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा उर्दू अकादमी की पांच पुस्तकों व हुक्मनामा कलेंडर का किया विमोचन 

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने रविवार को सिरसा में आयोजित गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाश उत्सव के दौरान लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। अवलोकन करने के पश्चात उन्होंने प्रदर्शनी पंडाल में ही हरियाणा उर्दू अकादमी द्वारा प्रकाशित पांच पुस्तकों का विमोचन भी किया। वहीं उन्होंने गुरू नानक देव जी के हुक्मनामा क्लेंडर का विमोचन भी किया। 


                          मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने जिन पुस्तकों का विमोचन किया उनमें डा. चंद्र त्रिखा द्वारा लिखी गई पुस्तक भाई मरदाना और रबाब, शायर महदी नज्मी द्वारा लिखित नज्रे नानक, उर्दू शायरी में गुरु नानक देव जी का तसव्वुर और त्रैमासिक पत्रिका जमनातट में गुरु नानक देव जी को समर्पित दो अंकों का विमोचन भी किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने हुक्मनामा कलेंडर का विमोचन भी किया।

Watch This Video Till End….


                          इस दौरान श्री मनोहर लाल ने सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग एवं भाई वीर सिंह सदन द्वारा संयुक्त रूप से गुरू नानक देव जी के जीवन दर्शन पर लगाई गई इस प्रदर्शनी की सराहना करते हुए कहा कि हमें गुरु नानक देव जी के जीवन से प्रेरणा लेते हुए समाज को आगे बढ़ाना होगा। प्रदर्शनी का थीम रबाब से नगाड़ा तक था जिसका तात्पर्य यह है कि गुरू नानक देव जी रबाब बजाकर समाज में अपना संदेश देते थे और सिखों के दसवें गुरू गुरु गोबिंद सिंह नगाड़े के माध्यम से अपना संदेश देते थे। प्रदर्शनी हाल में रबाब और नगाड़ा दोनों का प्रबंध था और इन दोनों वाद्य यंत्रों को बजाकर मु यमंत्री का स्वागत भी किया गया। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल भी इससे इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने पूरे जोश के साथ नगाड़ा भी बजाया।   


                          इस दौरान उन्होंने कैथल में लगाई गई संत चूड़ामणि भाई संतोख सिंह की प्रतिमा का रिमोट के जरिए अनावरण भी किया और वीडियो कांफ्रेस के जरिए कैथलवासियों को इसकी बधाई भी दी। उन्होंने कहा कि भाई संतोख सिंह का नाम विलक्षण प्रतिभाओं की उस सूची में शुमार है जिन्होंने वेदांत, सिख दर्शन, दार्शनिक चिंतन, शोध व अध्यात्म के जरिए क्षेत्र में अपनी छाप छोड़ी।


                        इस अवसर पर प्रदेशाध्यक्ष भाजपा सुभाष बराला, हरियाणा के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री कर्ण देव कंबोज, विधायक सुभाष सुधा, जिलाध्यक्ष भाजपा यतिंद्र सिंह एडवोकेट, हरियाणा पर्यटन निगम के चेयरमैन जगदीश चोपड़़ा, हरियाणा पंजाबी साहित्य अकादमी के निदेशक गुरविंद्र सिंह धमीजा, सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक समीर पाल सरों, उपायुक्त अशोक कुमार गर्ग, पुलिस अधीक्षक डा. अरुण सिंह, अतिरिक्त उपायुक्त मनदीप कौर, संयुक्त निदेशक पंकज सेतिया, डा. कुलदीप सैनी सहित भारी संख्या में श्रद्घालु व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

Watch This Video Till End….

महिला पतंजलि योग समिति मोहाली (साउथ) के सौजन्य से जड़ी-बूटी दिवस का आयोजन फेस 3बी2 के पब्लिक पार्क में किया गया।

मोहाली :

महिला पतंजलि योग समिति मोहाली (साउथ) के सौजन्य से जड़ी-बूटी दिवस का आयोजन फेस 3बी2 के पब्लिक पार्क में किया गया।

Watch This Video Till End….

इस उपलक्ष्य पर मुंसिपल काउंसलर सरदार कुलजीत सिंह बेदी, पतंजलि योग समिति के राज्य प्रभारी विनोद भारद्वाज जी, मीडिया राज्य प्रभारी तेजपाल जी, बसवा मान के जिला प्रभारी सरदार हरभजन जी, महिला पतंजलि योग समिति की जिला प्रभारी बहन अंजना सोनी जी एवं विशेष रूप से आमंत्रित बहन सुनीता सिंगल तथा नीरज ठाकुर, राजेंद्र कोर आदि बहने उपलब्ध रही।

Watch This Video Till End….